कोरोना: WHO की दुनिया को चेतावनी- इससे भी बुरा वक्त अभी आने वाला है...

WHO के प्रमुख ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बारे में विश्व के सभी देशों के लिए चेतावनी देते हुए कहा है कि इससे भी बुरा वक्त अभी आने वाला है. WHO ने शक जाहिर किया है कि एशिया (Asia) और अफ्रीका (Africa) में कोरोना संक्रमण (Covid19) अब शुरू हुआ है और यहां स्वास्थ्य सुविधाएं यूरोप और अमेरिका के मुकाबले काफी ख़राब हैं.
WHO के प्रमुख ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बारे में विश्व के सभी देशों के लिए चेतावनी देते हुए कहा है कि इससे भी बुरा वक्त अभी आने वाला है. WHO ने शक जाहिर किया है कि एशिया (Asia) और अफ्रीका (Africa) में कोरोना संक्रमण (Covid19) अब शुरू हुआ है और यहां स्वास्थ्य सुविधाएं यूरोप और अमेरिका के मुकाबले काफी ख़राब हैं.

WHO के प्रमुख ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बारे में विश्व के सभी देशों के लिए चेतावनी देते हुए कहा है कि 'इससे भी बुरा वक्त अभी आने वाला है.' WHO ने शक जाहिर किया है कि एशिया (Asia) और अफ्रीका (Africa) में कोरोना संक्रमण (Covid19) अब शुरू हुआ है और यहां स्वास्थ्य सुविधाएं यूरोप और अमेरिका के मुकाबले काफी ख़राब हैं.

  • Share this:
जिनेवा. चीन (China) की तरफदारी के आरोपों से घिरे विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बारे में विश्व के सभी देशों के लिए चेतावनी देते हुए कहा है कि 'इससे भी बुरा वक्त अभी आने वाला है.' WHO ने शक जाहिर किया है कि एशिया (Asia) और अफ्रीका (Africa) में कोरोना संक्रमण (Covid19) अब शुरू हुआ है और यहां स्वास्थ्य सुविधाएं यूरोप (Europe) और अमेरिका (USA) के मुकाबले काफी ख़राब हैं.

WHO के चीफ टेड्रोस एडेहनम ग्रेब्रेयेसुस ने कहा कि कई सारी वजह हैं जिससे आने वाले समय के और ख़राब होने की आशंका है. हालांकि टेड्रोस ने ये नहीं बताया कि बदतर हालातों के लिए कौन-कौन से कारक जिम्मेदार होंगे. टेड्रोस ने बस इतना ही कहा कि कोरोना के मामले आने के बाद कुछ देशों ने अब पाबंदियां लगाना शुरू किया है जबकि हमने काफी पहले से सभी देशों से एहतियात बरतने के लिए कहा हुआ था. बता दें कि दुनिया भर में इस वायरस की चपेट में 25 लाख लोग आ चुके जबकि 1लाख 70 हज़ार से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो चुकी है.

एशियाई और अफ्रीकी देशों में बड़ा खतरा
बता दें कि अफ्रीका ही अभी तक कोरोना संक्रमण से सबसे कम प्रभावित हुआ है. यहां संक्रमण के 24,171 केस सामने आ चुके हैं जबकि 1,164 लोगों की इससे मौत हुई है. हालांकि मिस्र, अल्जीरिया, मोरक्को, साउथ अफ्रीका और घाना इसके नए हॉट स्पॉट बनकर सामने आए हैं. अल्जीरिया तो उन देशों में शामिल हैं जहां कोरोना से मृत्यु डर सामान्य से काफी ज्यादा है. एशिया में भारत में लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं और यहां 18,539 केस सामने आ चुके हैं जबकि 592 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. एशिया में तुर्की सबसे बुरी तरह प्रभावित है और संक्रमण के केसों में 90,980 के साथ उसने ईरान को भी पीछे छोड़ दिया है. तुर्की ने इस संक्रमण से 2000 से ज्यादा मौतें हुईं हैं.
स्पेनिश फ्लू से की कोरोना की तुलना


जिनेवा में मीडिया से बातचीत में टेड्रोस ने कोरोना वायरस संक्रमण की तुलना 1918 की स्पैनिश फ्लू से की है. उन्होंने कहा, 'यह बहुत खतरनाक स्थिति है और यह हो रहा है... 1918 फ्लू की तरह, जिसमें एक करोड़ के करीब लोगों की मौत हुई थी.' उन्होंने कहा, 'लेकिन अब हमारे पास प्रौद्योगिकी है, हम इस आपदा से बच सकते हैं, हम उस तरह का संकट पैदा होने से बच सकते हैं. टेड्रोस ने आगे कहा, 'हम पर विश्वास करें. सबसे बुरा वक्त अभी आने वाला है. आएं, इस आपदा को रोका जाए. यह ऐसा वायरस है जिसे अभी भी लोग समझ नहीं पा रहे हैं.'

टेड्रोस ने यह भी कहा कि डब्ल्यूएचओ शुरुआत से ही कोरोना वायरस के खतरे को लेकर चेतावनी देता आ रहा है. उन्होंने कहा, 'हम पहले दिन से चेतावनी दे रहे हैं कि यह ऐसा शैतान है जिससे हम सभी को मिलकर लड़ना है.' वहीं, अमेरिका के संदर्भ में टेड्रोस ने कहा कि कोरोना वायरस के संबंध में पहले दिन से ही अमेरिका से कुछ भी छुपा हुआ नहीं है. अमेरिकी अधिकारियों की उपस्थिति में उन्होंने कहा, 'पहले दिन से, अमेरिका से कुछ भी छुपा हुआ नहीं है.'

 

ये भी पढ़ें:

कोरोना संक्रमित ये इलाके अब हैं कोरोना-फ्री, जानिए वजह
क्या था चीन से लौटे उन 12 जहाजों में, जिसके कारण यूरोप की एक तिहाई आबादी खत्म हो गई
ये हैं दुनिया के 10 सबसे घातक वायरस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज