• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • अमेरिका ने चीनी अधिकारियों के वीज़ा पर लगाया बैन, भड़के बीजिंग ने कहा- पहले अपनी गलती सुधारो

अमेरिका ने चीनी अधिकारियों के वीज़ा पर लगाया बैन, भड़के बीजिंग ने कहा- पहले अपनी गलती सुधारो

अमेरिका की ओर से चीन के अधिकारियों पर वीजा संबंधी प्रतिबंध लगाए जाने से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है.

अमेरिका की ओर से चीन के अधिकारियों पर वीजा संबंधी प्रतिबंध लगाए जाने से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है.

चीनी दूतावास ने मंगलवार को वीज़ा प्रतिबंधों (Visa Restrictions) को लेकर कई ट्वीट किए. एक ट्वीट में लिखा गया- 'अमेरिका का ये फैसला अंतरराष्ट्रीय संबंधों के नियमों का उल्लंघन है. अमेरिका ने न सिर्फ चीन के आंतरिक मामलों में दखल दिया है, बल्कि उसके हितों की भी अनदेखी की है. चीन अमेरिका के इस कदम की कड़े शब्दों में आलोचना करता है.'

  • Share this:
    वॉशिंगटन. उइगुर (Uighur) और अन्य मुसलमानों के दमन को लेकर अमेरिका के चीनी अधिकारियों के वीज़ा पर प्रतिबंध (Visa Restrictions) लगाने का चीन ने कड़ा विरोध किया है. वॉशिंगटन स्थित चीनी दूतावास ने इस फैसले पर ऐतराज जताते हुए ट्रंप प्रशासन को पहले अपनी गलती सुधारने की नसीहत भी दी है. चीनी दूतावास ने अमेरिकी सरकार के इस फैसले को चीन के आंतरिक मामले में दखल बताया.

    चीनी दूतावास ने मंगलवार को वीज़ा प्रतिबंधों को लेकर कई ट्वीट किए. एक ट्वीट में लिखा गया- 'अमेरिका का ये फैसला अंतरराष्ट्रीय संबंधों के नियमों का उल्लंघन है. अमेरिका ने न सिर्फ चीन के आंतरिक मामलों में दखल दिया है, बल्कि उसके हितों की भी अनदेखी की है. चीन अमेरिका के इस कदम की कड़े शब्दों में आलोचना करता है.'

    एक अन्य ट्वीट में चीनी दूतावास के प्रवक्ता ने लिखा- 'शिनजियांग (Xinjiang) प्रांत में उइगुर ) और अन्य मुसलमानों के मानव अधिकार के हनन जैसा कुछ भी नहीं हो रहा. अमेरिका के दावे सरासर गलत और झूठे हैं.'

    CHINA
    चीनी दूतावास का ट्वीट


    अमेरिका ने क्या किया है?
    दरअसल, अमेरिका ने चीन के शिनजियांग प्रांत में 10 लाख से अधिक मुसलमानों के साथ क्रूर और अमानवीय व्यवहार करने और उन्हें बलपूर्वक हिरासत में रखने का आरोप लगाया है. अमेरिका ने इसके बाद चीन सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों के खिलाफ वीजा संबंधी प्रतिबंध लगाने की घोषणा की. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने मंगलवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी.

    पोम्पियो ने ट्वीट किया, 'आज मैं चीनी सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के उन अधिकारियों पर वीजा प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर रहा हूं, जो शिनजियांग प्रांत में उइगरों, कज़ाकों और अन्य मुसलमान अल्पसंख्यक समूहों को कैद कर उनके साथ क्रूर और अमानवीय व्यवहार करने के जिम्मेदार हैं.'

    दोनों देशों में बढ़ा तनाव
    अमेरिका की ओर से चीन के अधिकारियों पर वीजा संबंधी प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा से दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है. बता दें कि अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक मुद्दों पर चर्चा के लिए दो दिन बाद वॉशिंगटन में एक उच्चस्तरीय वार्ता शुरू होने वाली है. ऐसे में साफ है कि इस मीटिंग में वीज़ा प्रतिबंध का मुद्दा जरूर उठेगा.

    ये भी पढ़ें: 

    उइगर मुसलमानों के दमन को लेकर US ने चीनी अधिकारियों के वीजा पर लगाई रोक
    जिनपिंग से मुलाकात से पहले इमरान को बड़ा झटका, चीन ने कश्मीर पर स्टैंड बदला

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज