कोविड-19 : अप्रैल में हर दिन सामने आए 80,000 मामले, भारत और बांग्लादेश में बढ़ रही संख्‍या

कोविड-19 : अप्रैल में हर दिन सामने आए 80,000 मामले, भारत और बांग्लादेश में बढ़ रही संख्‍या
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जारी की चेतावनी

डब्ल्यूएचओ महानिदेशक ने कहा कि 'पश्चिमी यूरोप में संक्रमित हो रहे लोगों की संख्या में कमी आ रही है, लेकिन पूर्वी यूरोप, अफ्रीका, दक्षिण-पूर्वी एशिया, पूर्वी भूमध्यसागर और उत्तर अमेरिका और दक्षिण अमेरिका में मामले बढ़ रहे है.'

  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने दुनिया में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए कहा है कि अप्रैल महीने में कोविड-19 (COVID-19) संक्रमण के रोजाना औसतन 80,000 मामले सामने आए. वहीं भारत (India) और बांग्लादेश (Bangladesh) जैसे दक्षिण एशियाई देशों में संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, कि पश्चिमी यूरोप जैसे क्षेत्रों में इनकी संख्या कम हो रही है. डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस अधनोम (Tedros Adhanom) ने बुधवार को कहा कि देशों को उनके क्षेत्रों में बाहर से आने वाली बीमारी के हर प्रकार के खतरे से निपटने में सक्षम होना चाहिए और समुदायों को इस बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए कि उन्हें हालात में आए इन बदलाव के अनुकूल कैसे ढलना है.

'संक्रमण का हर मामला केवल एक संख्या नहीं'
उन्होंने जिनेवा में बुधवार को बताया कि डब्ल्यूएचओ के अनुसार कोविड-19 से 35 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और दो लाख 50 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है. अप्रैल की शुरुआत से रोजाना करीब 80,000 नए मामले सामने आ रहे थे. डब्ल्यूएचओ महानिदेशक ने कहा कि 'संक्रमण का हर मामला केवल एक संख्या नहीं है. संक्रमित हुआ हर व्यक्ति एक मां, एक पिता, एक बेटा, एक बेटी, एक भाई, एक बहन या एक मित्र भी है.' उन्होंने कहा कि 'पश्चिमी यूरोप में संक्रमित हो रहे लोगों की संख्या में कमी आ रही है, लेकिन पूर्वी यूरोप, अफ्रीका, दक्षिण-पूर्वी एशिया, पूर्वी भूमध्यसागर और उत्तर अमेरिका और दक्षिण अमेरिका में मामले बढ़ रहे है. जांच की संख्या बढ़ने से भी संक्रमण के सामने आ रहे हैं और मामलों की संख्या बढ़ रही है. दक्षिण पूर्व, पश्चिमी प्रशांत क्षेत्रों में संख्या गिरती दिख रही है लेकिन दक्षिण एशिया में भारत और बांग्लादेश में यह बढ़ती प्रतीत हो रही है.

भारत में कोरोना वायरस से 52,952 लोग संक्रमित हुए है जिनमें से 1,783 लोगों की मौत हो चुकी है. साथ ही देश में कोविड-19 से मरने वालों की संख्‍या बढ़कर 1783 हो गई है. देश-दुनिया में इस संक्रमण की वैक्‍सीन विकसित करने के प्रयास युद्धस्‍तर पर जारी हैं. इस बीच दिल्‍ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान के डायरेक्‍टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने देश में इसके और बढ़ने की आशंका जताई है. उनके अनुसार कोविड-19 अभी खत्‍म होने वाला नहीं है. जून और जुलाई में यह देश में चरम पर होगा. इन दो महीनों में इसके सर्वाधिक मामले सामने आएंगे.



ये भी पढ़ें - पाकिस्‍तान में धार्मिक विद्वानों को धमकियां देने वाला इंजीनियर गिरफ्तार



               कोरोना : इस साल नहीं मिलेगी नए नोटों की ईदी, एसबीपी नहीं छापेगा नए नोट

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading