लाइव टीवी

किम जोंग उन के उत्‍तर कोरिया में नहीं फैला कोरोना वायरस! समुद्र में दागी 2 मिसाइलें

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 3:59 PM IST
किम जोंग उन के उत्‍तर कोरिया में नहीं फैला कोरोना वायरस! समुद्र में दागी 2 मिसाइलें
उत्‍तर कोरिया से एक भी खबर नहीं.

दुनियाभर के विशेषज्ञ चिंता जता रहे हैं कि कहीं उत्‍तर कोरिया (North Korea) अपने यहां कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों को छिपा तो नहीं रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 3:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के कारण लॉकडाउन (Lockdown) की स्थिति में है. चीन, इटली समेत दुनिया में अब तक इस जानलेवा संक्रमण (covid 19) से 3.82 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं. वहीं इससे अब तक 16 हजार से अधिक मौतें भी हो चुकी हैं. लेकिन तानाशाह किम जोंग उन (Kim jong un) के देश उत्‍तर कोरिया (North Korea) से अब तक इसका एक भी मामला सामने नहीं आया है.

अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) उत्‍तर कोरिया को मदद के लिए आधिकारिक पत्र भी लिख चुके हैं. ऐसे में दुनियाभर के विशेषज्ञ चिंता जता रहे हैं कि कहीं उत्‍तर कोरिया अपने यहां इन मामलों को छिपा तो नहीं रहा. दूसरी ओर कोरोना वायरस के खतरे के बीच उत्‍तर कोरिया ने 21 मार्च को समुद्र में दो मिसाइलें दागकर परीक्षण भी किया है.

बता दें कि उत्‍तर कोरिया चीन के पड़ोस में स्थित है. ऐसे में दुनिया भर के स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ वहां भी भयावह स्थिति की चिंता जाहिर कर रहे हैं. वहीं उत्‍तर कोरिया की ओर से अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों की एक भी पुष्टि नहीं की गई है. अंतरराष्‍ट्रीय मीडिया के अनुसार उत्‍तर कोरिया में लोगों पर इतनी पाबंदियां हैं कि वे खुद अपने देश में कोरोना वायरस के खतरे की जानकारी नहीं ले पा रहे होंगे.

ट्रंप ने किम को पत्र भेजकर मदद की पेशकश की



अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन को निजी रूप से एक पत्र भेजकर अच्छे संबंध बनाए रखने की अपील की और वैश्विक महामारी के खिलाफ लड़ाई में सहयोग की पेशकश दी. किम की बहन ने मीडिया को यह जानकारी दी है.

‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ ने किम की बहन और सत्तारूढ़ पार्टी की वरिष्ठ अधिकारी किम यो जोंग के हवाले से एक बयान में ऐसे समय में पत्र भेजने के लिए ट्रंप की तारीफ की जब देशों के बीच संबंध बनाने के रास्ते में बड़ी मुश्किलें और चुनौतियां आ रही हैं।

पत्र में उन्होंने कहा कि ट्रंप ने दोनों देशों के बीच संबंधों को बढ़ाने की अपनी योजना बताई और कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के खिलाफ सहयोग देने की मंशा जताई. इस पत्र की व्‍हाइट हाउस की ओर से भी पुष्टि की गई है.

समुद्र में दागी दो बैलिस्टिक मिसाइल
उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट के निकट समुद्र में शनिवार को दो मिसाइलें दागी हैं. ऐसा माना जा रहा है कि ये मिसाइलें कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल हैं. दक्षिण कोरिया के ‘ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ’ ने एक बयान में बताया कि मिसाइलें उत्तर प्योंगान प्रांत से जापान सागर में दागी गईं.

उत्‍तर कोरिया के अनुसार परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने इस महीने की शुरुआत में भी दो मौकों पर इसी प्रकार के प्रक्षेपण किए थे. उसने कहा कि उत्तर कोरिया ने उस समय 'लंबी दूरी तक मार करने वाली तोपों' का अभ्यास किया था लेकिन जापान ने कहा कि ये प्रक्षेपास्त्र बैलिस्टिक मिसाइल प्रतीत होते हैं. ताजा प्रक्षेपण ऐसे समय में किए गए हैं जब अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच निरस्त्रीकरण वार्ता लंबे समय से रुकी हुई है.

दक्षिण कोरिया कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित हुआ है लेकिन उत्तर कोरिया इस संक्रमण को काबू करने में अभी तक कामयाब रहा है.
(इनपुट एजेंसी से भी)

यह भी पढ़ें: Coronavirus: इन 90,000 लोगों ने बढ़ा दी पंजाब सरकार की टेंशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 3:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर