लाइव टीवी

COVID-19: दिल्ली हाईकोर्ट का निर्देश, कजाकिस्तान में फंसे 300 छात्रों की सुरक्षा करे विदेश मंत्रालय

भाषा
Updated: March 25, 2020, 8:40 PM IST
COVID-19: दिल्ली हाईकोर्ट का निर्देश, कजाकिस्तान में फंसे 300 छात्रों की सुरक्षा करे विदेश मंत्रालय
कजाकिस्तान के अल्माटी हवाईअड्डे पर करीब 300 भारतीय स्टूडेंट फंसे हुए हैं (फोटो- Twitter)

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिये मामले की सुनवाई करते हुए न्यायधीशों (Judges) ने विदेश मंत्रालय (MEA) के अधिकारियों से जल्द से जल्द छात्रों को बुनियादी सुविधाएं और भोजन, चिकित्सीय देखभाल, ठहरने और परिवहन के संबंध में मानवीय सहायता उपलब्ध कराने को कहा.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने बुधवार को विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) को निर्देश दिया है कि वह कजाकिस्तान (Kazakhstan) के अल्माटी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (Almaty International Airport) पर फंसे करीब 300 छात्रों की सुरक्षा सुनिश्ति करें. ये छात्र पिछले दो-तीन दिन से बिना भोजन और चिकित्सीय सहायता के फंसे हैं.

न्यायमूर्ति सिद्धार्थ मृदुल और न्यायमूर्ति तलवंत सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video conferencing) के जरिये मामले की सुनवाई करते हुए विदेश मंत्रालय के अधिकारियों से जल्द से जल्द छात्रों को बुनियादी सुविधाएं (Basic facilities) और भोजन, चिकित्सीय देखभाल (Medical Care), ठहरने और परिवहन के संबंध में मानवीय सहायता उपलब्ध कराने को कहा.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई सुनवाई के बाद जजों ने सुनाया यह फैसला
यह सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video conferencing) के जरिए हुई. दो न्यायाधीश अपने घर से ऑनलाइन थे जबकि वकील फौजिया रहमान और केंद्र सरकार (Central Government) के स्थायी वकील जसमीत सिंह अपने कार्यालय से मौजूद थे. सिंह विदेश मंत्रालय का प्रतिनिधित्व कर रहे थे.



रहमान ने वकील को बताया कि 300 भारतीय छात्र अल्माटी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Almaty International Airport) पर बिना भोजन, पानी, संपर्क और चिकित्सीय सहायता के फंसे हैं. ये छात्र एमबीबीएस और अन्य उच्च शिक्षा (MBBS and other higher education) हासिल करने के लिए यहां गए हुए थे.

कजाकिस्तान हवाई अड्डे पर फंसे एक छात्र की मां ने दाखिल की थी याचिका
यह याचिका सेहल सायरा ने दायर की है. वह कजाकिस्तान (Kazakhstan) के अल्माटी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (Almaty International Airport) पर फंसे छात्रों (Students) में से एक छात्र की मां हैं.

पीठ ने इस पर विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) के जरिए केंद्र को नोटिस जारी किया है और याचिका पर 28 मार्च तक जवाब मांगा है और इस पर उसी दिन सुनवाई होगी.

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट: ब्रिटिश गृह मंत्री ने फंसे विदेशियों के लिए वीजा अवधि बढ़ाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 8:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर