अलर्ट! कोरोना वायरस में हो रहा घातक बदलाव, डेनमार्क में 1.7 करोड़ चूहे मारे जाएंगे

डेनमार्क में 1.7 करोड़ चूहों को मारा जाएगा.
डेनमार्क में 1.7 करोड़ चूहों को मारा जाएगा.

Coronavirus Update: कोरोना वायरस में हो रहे बदलाव के चलते डेनमार्क में 1 करोड़ 70 लाख चूहों को मारने का फैसला लिया गया है. इन चूहों में कोरोना वायरस के कुछ लक्षणों को पाया है जिसके बाद WHO ने भी एक जांच टीम भेजी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 8:06 AM IST
  • Share this:
कोपेनहेगन. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण हर दिन अपना रूप बदल रहा है और वायरस में हो रहा ये म्यूटेशन वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) प्रोग्राम के लिए एक बड़ा चैलेंज भी बना हुआ है. जानवरों में पाए जाने वाले कोरोना वायरस संकमण में हुए बदलावों को लेकर डेनमार्क (Denmark) 17 मिलियन चूहों (एक करोड़ सत्तर लाख) को मारने की योजना बना रहा ह. मनुष्यों में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद वहां की सरकार अब चूहों (Mink) को खत्म करेगी.

रॉयटर्स के मुताबिक प्रधानमंत्री मेटे फ्रेडरिकसेन ने गुरुवार को कहा कि स्वास्थ्य अधिकारियों ने मनुष्यों और चूहों में कोरोना वायरस के कुछ लक्षणों को पाया है, जो एंटीबॉडी के प्रति संवेदनशीलता में कमी को दर्शाता है. फ्रेडरिकसेन ने कहा कि हमारी अपनी आबादी के प्रति एक बड़ी जिम्मेदारी है, लेकिन अब जो कोरोना वायरस पर बदलाव पाया गया है, उसके साथ हमारी बाकी दुनिया के लिए भी बड़ी जिम्मेदारी है. कोरोना पर हुए शोध के बाद निष्कर्ष और जिसे विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूरोपीय सेंटर फॉर डिजीज प्रिवेंशन एंड कंट्रोल के साथ साझा किया गया है. राज्य सीरम संस्थान, संक्रामक रोगों से निपटने वाले डेनिश अथॉरिटी द्वारा प्रयोगशाला परीक्षणों पर आधारित थे.

WHO ने भी जांच शुरू की
डब्ल्यूएचओ से जुड़े माइक रयान ने कहा कि मनुष्यों की पूर्ण पैमाने पर वैज्ञानिक जांच के लिए बुलाया गया. चीन में कोरोना से संक्रमित चूहों से यह वायरस मनुष्यों में भेज दिया गया. वहीं, डब्ल्यूएचओ के एक अधिकारी ने जेनेवा में एक बयान में कहा कि हमें चूहों से कोरोनो वायरस से संक्रमित कई लोगों के डेनमार्क में पाए जाने की सूचना दी गई है, जिसमें कोरोना वायरस में कुछ आनुवंशिक बदलाव हुए हैं. बता दें कि डेनिश अधिकारी इन निष्कर्षों की महामारी विज्ञान और वायरोलॉजिकल महत्व की जांच कर रहे हैं.



डेनमार्क के अधिकारियों ने कहा कि नए वायरस के पांच मामले मिंक फार्म और मनुष्यों में 12 मामलों में दर्ज किए गए थे, और देश में 15 से 17 मिलियन चूहे हैं. आरहस यूनिवर्सिटी में वेटरनरी एंड वाइल्डलाइफ मेडिसिन के प्रोफेसर क्रिश्चियन सोन ने एक ईमेल में कहा कि उनका मानना है कि एहतियात के तौर पर अब चूहों के झुंड को खत्म करना एक अच्छा फैसला है और इससे भविष्य में होने वाले प्रकोप को रोका जा सकता है, वरना इसे नियंत्रित करना ज्यादा मुश्किल हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज