दुनिया में कोरोना: अब लार से पता चलेगा वायरस का, ऑस्ट्रेलिया में पहली बार किया गया परीक्षण

दुनिया में कोरोना: अब लार से पता चलेगा वायरस का, ऑस्ट्रेलिया में पहली बार किया गया परीक्षण
24 घंटे में दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के 1 लाख 65 हज़ार से ज्यादा नए केस मिले

दुनिया भर में संक्रमण (Coronavirus) के कुल मामलों की संख्या 1 करोड़ से भी ज्यादा हो गया है. रविवार को भी दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 1 लाख 65 हज़ार नए केस सामने आए. बीते 24 घंटे में संक्रमण से 3400 लोगों की मौत भी हो गयी और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब 5 लाख से भी ज्यादा हो गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 29, 2020, 11:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिका (US), ब्राजील (Brazil), भारत (India) में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की गंभीर स्थिति के बीच दुनिया भर में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 1 करोड़ से भी ज्यादा हो गया है. रविवार को भी दुनिया भर में संक्रमण (Covid-19) के 1 लाख 65 हज़ार नए केस सामने आए. बीते 24 घंटे में संक्रमण से 3400 लोगों की मौत भी हो गयी और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब 5 लाख से भी ज्यादा हो गया है. रूस, साउथ अफ्रीका,पाकिस्तान, मेक्सिको और चिली अभी भी कोरोना संक्रमण के हॉटस्पॉट बने हुए हैं.

# ऑस्ट्रेलिया में पहली बार कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए लार का परीक्षण
ऑस्ट्रेलिया में स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए लार का परीक्षण शुरू किया है. अधिकारियों को कहना है कि दुनिया में पहली बार कोरोना वायरस के लिए लार का परीक्षण हुआ है. अभी तक कोरोना वायरस का पता लगाने के लिए गले या नाक के नमूने की जांच की जाती है. ऑस्ट्रेलिया के उप मुख्य चिकित्साधिकारी निक कोस्टवर्थ ने सोमवार को ऑस्ट्रेलिया ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन से बातचीत में कहा कि विक्टोरिया प्रांत में लार की जांच शुरू की गई है. यह जांच कितना प्रभावी है अभी इसका परीक्षण भी किया जाना है.

# कैलिफोर्निया में बार बंद करने के आदेश
कैलिफोर्निया के गवर्नर गैविन न्यूसॉम ने रविवार को लॉस एंजिल्स समेत सात शहरों में सभी बार बंद करने के आदेश दिए हैं. एक महीने पहले ही राज्यों को दोबारा खोलना शुरू किया गया था. टेक्सास और फ्लोरिडा में भी बार और रेस्टोरेंट बंद कर दिए गए हैं. गवर्नर ने कहा कि लोगों को वायरस को लेकर सतर्क रहना चाहिए. यह अभी भी राज्य में फैल रहा है. कुछ हिस्सों में मामलों में इजाफा हुआ है.



# ईरान में वायरस से 162 लोगों की मौत
ईरान में कोरोना वायरस के कारण सोमवार को 162 लोगों की मौत हो गई. यह ईरान में कोरोना की वजह से होने वाली सबसे अधिक मौत है. इससे पहले अप्रैल में यहां एक दिन में 158 लोग मारे गए थे. ईरान में कुल मिलाकर 2,25,205 केस हैं. यहां कोविड-19 की वजह से 10,670 लोगों की मौत हो चुकी है. सबसे अधिक केस और मौत के मामले में ईरान एशिया में दूसरे नंबर पर है. पहले नंबर पर भारत है.

#न्यूयॉर्क में कोरोना वायरस संक्रमण से एक दिन में पांच लोगों की मौत
अमेरिका में कोरोना वायरस से कभी सबसे अधिक प्रभावित रहे न्यूयॉर्क राज्य में शनिवार को इस घातक वायरस से महज पांच लोगों की मौत हुई. राज्य में 15 मार्च के बाद से एक दिन में मरने वाले लोगों की यह सबसे कम संख्या है. शनिवार से एक दिन पहले 13 लोगों की मौत हुई थी. अप्रैल में वैश्विक महामारी के चरम पर पहुंचने के दौरान, कोरोना वायरस से एक दिन में करीब 800 लोगों की मौत हो रही थी. गवर्नर एंड्रियू क्यूमो ने एनबीसी के 'मीट द प्रेस' के साथ एक साक्षात्कार में कहा, 'हम अब ठीक दूसरी तरफ हैं.'

राज्य के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 से हुई मौत के मामले में न्यूयॉर्क अब भी देश में सबसे ऊपर है जहां अब तक कुल 25,000 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है. इन आंकड़ों में वे लोग शामिल नहीं हैं जिनके इस बीमारी से मारे जाने की आशंका है. इस बीच, 900 से कम मरीजों को कोविड-19 के चलते शनिवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था जबकि अप्रैल में यह संख्या 18,000 से अधिक थी. गवर्नर ने आगाह किया कि अगर न्यूयॉर्कवासी लापरवाही बरतेंगे और सामाजिक दूरी एवं मास्क पहनने संबंधी नियमों का पालन नहीं करेंगे तो यह संख्या फिर से बढ़ सकती है.

#अमेरिका में 25 लाख से ज्यादा केस
अमेरिका में पुष्ट मामलों की संख्या 25 लाख के पार हो गई है. देश के स्वास्थ्य सचिव एलेक्स अज़ार ने चेतावनी दी है कि देश के सामने कोरोना वायरस को प्रभावी ढंग से रोकने के लिए कार्रवाई करने के मौक़े ख़त्म होते जा रहे हैं. हेल्थ और ह्यूमन सर्विस सचिव ने ख़ास तौर पर हाल में दक्षिण में बढ़े मामलों की तरफ़ ध्यान दिलाते हुए कहा है कि लोगों को "ख़ासकर इन हॉट ज़ोन में" सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनकर ज़िम्मेदारी से काम लेना होगा. दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या एक करोड़ से ज़्यादा हो गई है. इसके साथ ही मरने वालों की तादाद पांच लाख पार कर चुकी है. जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक़ संक्रमितों की कुल संख्या 10,070,339 है. वहीं दुनिया भर में मरने वालों की संख्या 500,306 है.

#वैक्सीन के लिए जुटाए गए 453 अरब रुपये
कोरोना वायरस की वैक्सीन को इज़ाद करने के लिए यूरोपीय संघ समेत दुनिया के कई संगठनों और देशों ने मिलकर 6 अरब डॉलर यानी 453 अरब रुपये जुटाए हैं.

 



#अमेरिकी स्वास्थ्य सचिव की चेतावनी ‘मोहलत खत्म हो रही है’
अमेरिका के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स अजार ने चेतावनी दी कि कोरोना वायरस पर प्रभावी लगाम लगाने के लिये अमेरिका के पास उपलब्ध मोहलत खत्म होती जा रही है. अजार ने संक्रमण के मामलों में हाल में आई तेजी का उल्लेख किया खासतौर पर दक्षिण में. उन्होंने कहा कि लोगों को खास तौर पर 'हॉट जोन में' सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना और मास्क पहनने जैसा 'जिम्मेदाराना व्यवहार करना होगा.'

अजार ने दलील दी कि दो महीने पहले के मुकाबले अमेरिका कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने के लिये अब बेहतर स्थिति में है क्योंकि वह ज्यादा जांच कर रहा है और कोविड-19 के निदान के लिये व्यवस्थाएं हैं. उन्होंने लेकिन यह माना कि अगले कुछ हफ्तों में अस्पताल में भर्ती होने वालों और मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है क्योंकि यह एक धीमा संकेतक है. टेक्सास और फ्लोरिडा ने शुक्रवार को बार को फिर से बंद करने का फैसला लिया क्योंकि अमेरिका में एक दिन में संक्रमण के सबसे ज्यादा 40,000 मामले सामने आए.

#सिंगापुर में कोविड-19 के 213 नए मामले सामने आए
सिंगापुर में रविवार को कोविड-19 के 213 नए मामले सामने आने के बाद अधिकारियों ने लोगों को शारीरिक दूरी और कोरोना वायरस रोकथाम से संबंधित अन्य नियमों का पालन करने को कहा है. नए मामलों में शयन गृहों में रहे रहे 202 विदेशी कामगार शामिल हैं. सिंगापुर में अधिकतर ऐसे ही लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए हैं. सरकार ने इन इलाकों में जांच तेज कर दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अन्य 11 लोगों में पांच सिंगापुर के नागरिक या स्थायी निवासी हैं और छह विदेशी नागरिक हैं जो कामकाजी वीजा पर रह रहे हैं. इसके साथ ही सिंगापुर में कोविड-19 के मामलों की संख्या बढ़कर 43,459 हो गई है.

#श्रीलंका ने कोरोना वायरस के कारण लगाया गया कर्फ्यू हटाया
श्रीलंका सरकार ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए कर्फ्यू को रविवार को पूरी तरह से हटा दिया. देश में करीब दो महीने से सामुदायिक संक्रमण का कोई नया मामला दर्ज नहीं किया गया है. श्रीलंका में 20 मार्च से लगातार लॉकडाउन था. पहला स्थानीय मामला आने के बाद देश में ल़ॉकडाउन लागू किया गया था. शुरूआत में समूचे देश में कर्फ्यू लगाया गया था, लेकिन बाद में इसमें ढील दी गई और इसे देश के दो-तिहाई हिस्से में ही लागू रखा गया. यह अधिकतर रात के समय लागू रहता था.

सरकार ने मई के मध्य में दफ्तरों और दुकानों को आंशिक रूप से खोलने की अनुमति दी थी. जून के शुरू में पाबंदियों में और ढील दी गई थी तथा सरकारी परिवहन को चलाने की इजाजत दी गई थी. राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के कार्यालय ने एक बयान में बताया, 'आज, 28 जून से कर्फ्यू पूरी से हटाया जा रहा है.' स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक, 30 अप्रैल से सामुदायिक संक्रमण का कोई मामला नहीं आया है और एक जून से किसी की मौत भी नहीं हुई है. श्रीलंका में अबतक कोरोना वायरस के 2,033 मामलों की पुष्टि हुई है और 11 मरीजों की मौत हुई है. राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है कि संसदीय चुनाव कराने के लिए कर्फ्यू हटाना जरूरी था.

#कोविड-19 : स्विट्जरलैंड प्रशासन ने 300 लोगों को पृथकवास में भेजा
स्विट्जरलैंड प्रशासन ने ज्यूरिख के एक नाइट क्लब में कोरोना वायरस के 'सुपर स्प्रेडर' का पता लगने के बाद 300 लोगों को पृथकवास में रहने का आदेश दिया है. ज्यूरिख के अधिकारियों ने आधिकारिक बयान में कहा कि फ्लेमिंगो क्लब में एक सप्ताह पहले आए व्यक्ति के बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई. इसके बाद उसके साथ रहने वाले पांच लोगों की भी जांच की गई और प्रशासन को उनके भी कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिली है. बयान में कहा गया कि नाइट क्लब द्वारा मेहमानों की मुहैया कराई गई सूची के आधार पर अधिकारी उनसे संपर्क करने में कामयाब हुए और शनिवार से अगले 10 दिनों तक पृथकवास में रहने का आदेश दिया ताकि संक्रमण को और फैलने से रोका जा सके.

स्विस अधिकारियों ने कहा कि यह घटना दिखाती है कि लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से हटाने के बावजदू साफ-सफाई और सामाजिक दूरी के नियम का अनुपालन करना कितना महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि अगर क्लब में इसी तरह के सुपरस्प्रेडर (सामान्यत : बिना लक्षण वाला संक्रमित व्यक्ति जो बड़ी संख्या में लोगों को संक्रमित कर सकता है) की घटनाएं सामने आती हैं तो उन्हें इन सुविधाओं को दोबारा बंद करना होगा. उल्लेखनीय है कि कई यूरोपीय देशों की तरह स्विट्जरलैंड में भी संक्रमण के नये मामलों में कमी आई है और अब दोबारा अर्थव्यवस्था को खोलने का प्रयास किया जा रहा है.

#नेपाल के सभी 77 जिलों तक फैला कोरोना वायरस
नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि देश के सभी 77 जिलों में कोरोना वायरस का संक्रमण फैल चुका है और कोविड-19 के नये 463 मामलों का पता चलने के बाद देश में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 12,772 हो गयी. स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता जागेश्वर गौतम ने अपनी दैनिक प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि इस घातक वायरस से नेपाल में अब तक 28 लोगों की जान जा चुकी है. उन्होंने कहा कि पिछले 24 घंटे में देश में कोविड-19 के नये 463 मामलों का पता चलने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 12,772 हो गयी. मंत्रालय ने कहा कि अब कोरोना वायरस देश के सभी 77 जिलों तक फैल गया है. अस्पतालों से 13 महिलाओं समेत 179 रोगियों को छुट्टी दे दी गयी है जिसके बाद स्वस्थ हुए रोगियों की संख्या 3,013 हो गयी है. देश के विभिन्न अस्पतालों में इस समय 9,731 रोगियों का इलाज चल रहा है.

#दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या एक करोड़ से अधिक हुई
दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या एक करोड़ से अधिक हो गई है. जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय ने भारत और रूस में संक्रमण के हजारों नए मामले सामने आने के बाद रविवार को एक तालिका तैयार की, जिसके अनुसार अमेरिका में सर्वाधिक, 25 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. हॉपकिंस की तालिका के अनुसार, दुनियाभर में लगभग 5 लाख लोगों की जान कोविड-19 महामारी के कारण जा चुकी है. इस तालिका में उन्हीं मामलों को जोड़ा गया है, जिनकी पुष्टि की जा चुकी है. विशेषज्ञों के अनुसार, संक्रमितों की वास्तविक संख्या इस आंकड़े से 10 गुणा अधिक हो सकती है क्योंकि बहुत से लोग जांच नहीं करा सके या वे वायरस की चपेट में तो आ गए लेकिन उनमें इसके लक्षण दिखाई नहीं दिये.

#कोरोना वायरस को लेकर हुए कार्यक्रम में विश्व के नेता और कलाकार साथ आए
कोरोना वायरस महामारी को लेकर हुए सम्मेलन में विश्व के नेता और कलाकार साथ आए. इस सम्मलेन में डिजिटल संगीत कार्यक्रम भी हुआ, जिसकी मेजबानी अभिनेता ड्वेन जॉनसन ने की. इसमें दुनिया भर के उन गरीबों की मदद के लिए करीब सात अरब अमेरिकी डॉलर नकद और कर्ज गांरटी जुटाई गई, जिनकी जिंदगियां महामारी के कारण प्रभावित हुई हैं. ग्लोबल सिजिटन ने कहा कि उसके सम्मेलन में विश्व नेताओं ने गरीब देशों में कोविड-19 को रोकने के प्रयासों की मदद करने के लिए 1.5 अमेरिकी डॉलर की रकम जुटाई है. साथ में टीका बनने पर 25 करोड़ डोज़ देने का भी वादा किया है.

समूह ने कहा कि उसने दुनियाभर में कमजोर होती अर्थव्यवस्था की मदद करने के लिए यूरोपीय आयोग और यूरोपीय निवेश बैंक से 5.4 अरब डॉलर की ऋण गारंटी भी जुटाई है. कार्यक्रम में जॉनसन ने एक संगीत कार्यक्रम की मेजबानी की जिसमें अमेरिकी गायिका जेनिफर हडसन, माईली सायरस समेत अन्य ने प्रस्तुति दी. शनिवार को हुए कार्यक्रम में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडू ने कहा कि इस वायरस से निपटने के लिए यह भी जरूरी है कि हम सबसे कमजोर लोगों का ध्यान रखें और उन चुनौतियों का समाधान करें जिनका वे सामना कर रहे हैं.

वक्ताओ में न्यूजीलैंड, अल सल्वाडोर, स्वीडन, दक्षिण अफ्रीका और बारबाडोस के नेता भी शामिल थे. फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने कहा कि वायरस को शिकस्त देने के लिए साझा कार्रवाई की जरूरत है. जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़ों के मुताबिक, दुनिया भर में संक्रमण के मामले करीब एक करोड़ हो गए हैं और तकरीबन पांच लाख लोगों की मौत हो गई है. विशेषज्ञों का मानना है कि असल संख्या काफी ज्यादा हो सकती है क्योंकि सीमित संख्या में जांच की गई है और मामूली लक्षण वाले मामलों की जांच नहीं की गई है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading