ट्रंप का दावा- चीन से पहले अक्टूबर में ही अमेरिकी जनता को मिलेगी कोरोना वैक्सीन

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप.

Covid-19 vaccine update: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि आम नागरिकों को अक्टूबर महीने से कोरोना वैक्सीन मिलने लगेगी. इससे पहले चीन ने कहा था कि वह नवंबर के पहले सप्ताह तक वैक्सीन का वितरण शुरू कर देगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2020, 10:51 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने दावा किया है कि देश के नागरिकों को अक्टूबर में ही कोरोना वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) मिलने लगेगी. चीन (China) ने एक दिन पहले ऐलान किया था कि नवंबर के पहले हफ्ते से आम लोगों को कोरोना वैक्सीन (Coronavirus vaccine) उपलब्ध करा दी जाएगी. अब ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका में अक्टूबर में कोरोना वैक्सीन का वितरण शुरू हो सकता है.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका में COVID-19 वैक्सीन अक्टूबर से वितरित की जा सकती है और 2020 के अंत तक वैक्सीन की करीब सौ करोड़ (1 अरब) खुराक वितरित की जा सकती हैं. ट्रंप ने यहां संवाददाताओं से कहा कि हम बहुत सुरक्षित और प्रभावी तरीके से वैक्सीन को वितरित करने और वितरित करने के लिए ट्रैक पर हैं. हमें लगता है कि हम अक्टूबर में कभी भी शुरू कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि हम अक्टूबर के मध्य में वितरण शुरू कर पाएंगे इसमें शायद थोड़ी देर हो लेकिन ये इसी महीने में होगा. उन्होंने कहा कि कुछ ही महीनों में कोरोना पर काबू पा लिया जाएगा.

मास्क नहीं वैक्सीन ज़रूरी
उधर अमेरिकी रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के निदेशक रॉबर्ट रेडफ़ील्ड के यह कहने के बावजूद कि कोरोना वायरस के समय टीके की तुलना में मास्क पहनना अधिक प्रभावी होगा. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी राय रखते हुए कह दिया कि मास्क वैक्सीन से अधिक प्रभावी नहीं है. बता दें कि रेडफील्ड ने एक सार्वजनिक बातचीत में कहा था, 'मैं यहां तक कह सकता हूं कि जब मैं COVID वैक्सीन लूंगा तो 70 से अधिक प्रतिशत की तुलना में यह फेस मास्क COVID से मुझे सुरक्षा प्रदान करने की अधिक गारंटी देता है. और अगर मुझे प्रतिरक्षा नहीं मिलती है, तो टीका मेरी रक्षा करने वाला नहीं है. यह फेस मास्क करेगा.'
इस पर ट्रंप ने कहा, 'यह वैक्सीन की तुलना में किसी भी तरह से अधिक प्रभावी नहीं है. यदि आप उनसे पूछेंगे, तो वह कहेंगे कि वह इस सवाल को नहीं समझा. मास्क की भी समस्याएं हैं - उसको सावधानी से रखने की जरूरत है.' ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा कि वैक्सीन एक मास्क की तुलना में बहुत अधिक प्रभावी हैं. मास्क वैक्सीन जितना महत्वपूर्ण नहीं है. मास्क शायद मदद करता है. बहुत से लोगों को मास्क पहनना का कॉन्सेप्ट पसंद नहीं आया. ट्रंप ने आगे कहा कि वैक्सीन में जबरदस्त शक्ति है. यह बेहद मजबूत है, जो सफलता की ओर बढ़ रहा है. हमें कोई दिक्कत नहीं होने वाली है. मुखौटा मदद कर सकता है, लेकिन मुखौटा एक मिश्रित बैग है.



बिडेन पर साधा निशाना
ट्रंप ने आगे के चुनावों में अपने डेमोक्रेटिक समकक्ष को पटकनी दी और कहा कि उन्हें 'एंटी-वैक्सीन' सिद्धांतों को बढ़ावा देना बंद करना चाहिए. ट्रंप ने कहा कि मैं बिडेन से अपने एंटी-वैक्सीन सिद्धांतों को बढ़ावा देने से रोकने के लिए कहता हूं क्योंकि वे जो कुछ भी कर रहे हैं, हम जो कर रहे हैं उसके महत्व को चोट पहुंचा रहे हैं और मुझे पता है कि यदि वे इस स्थिति में थे, तो वे यह कहते हुए खुश होंगे कि यह कितना शानदार है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगे कहा कि डेमोक्रेट "लापरवाह" जीवन को खतरे में डाल रहे हैं और "नकारात्मक रूप से बात कर रहे हैं" क्योंकि उनके पास यह (टीका) है. ट्रंप ने कहा, 'वे लापरवाही से जीवन को खतरे में डाल रहे हैं - आप ऐसा नहीं कर सकते. यह वास्तव में ऐसा मामला है कि वे केवल नकारात्मक बात कर रहे हैं और ऐसा इसलिए है क्योंकि वे जानते हैं कि हमारे पास यह है या हम जल्द ही यह करेंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज