लाइव टीवी

कोरोनावायरस से ईरान में 24 घंटों में 141 मौतें, संक्रमण की संख्या पहुंची 45 हज़ार के पास

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 10:53 PM IST
कोरोनावायरस से ईरान में 24 घंटों में 141 मौतें, संक्रमण की संख्या पहुंची 45 हज़ार के पास
ईरान में तेज़ी से फैल रहा है कोरोना वायरस

ईरान (Iran) के स्वास्थ मंत्रालय के मुताबिक अस्पताल में भर्ती कोरोनावायरस (Corona Virus) संक्रमित मरीजों में 3703 लोगों की हालात बेहद गंभीर है जबकि 14656 लोग अब तक संक्रमण से ठीक हो चुके हैं

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 10:53 PM IST
  • Share this:
कोरोनावायरस (Coronavirus) के कहर से ईरान (Iran) के हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटों में ईरान में 141 मौतें दर्ज हुई हैं जबकि 3111 नए मामले सामने आए हैं. ईरान के स्वास्थ मंत्रालय ने बताया कि ईरान में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की तादाद 45 हज़ार के करीब पहुंच गई है. जबकि मरने वालों का आंकड़ा 2898 पहुंच गया है.

सोमवार को ईरान में कोरोनावायरस के संक्रमण के कुल 2901 मामले सामने आए थे. लेकिन मंगलवार को 3 हज़ार से ज्यादा नए मामलों के सामने आने संक्रमित लोगों की तादाद में ईज़ाफ़ा हो गया. ईरान के स्वास्थ मंत्री कियानुश जहांपोर ने बताया कि 3111 नए मामलों के सामने आने के बाद ईरान में कोविड19 से संक्रमित लोगों की कुल तादाद 44606 पहुंच गई है. ईरान के स्वास्थ मंत्रालय के मुताबिक अस्पताल में भर्ती 3703 लोगों की हालात बेहद गंभीर है जबकि 14656 लोग अब तक कोरोनावायरस के संक्रमण से ठीक हो चुके हैं.

ईरान के स्वास्थ मंत्रालय ने कहा है कि कोरोनावायरस के इलाज के लिए ईरान स्टेम-सेल थेरेपी विकसित कर रहा है जिससे संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा सकेगा. हालांकि अब तक कोरोनावायरस के संक्रमण के लिए कोई वैक्सीन या दवाई नहीं बन सकी है लेकिन अलग अलग देश इलाज में अलग अलग प्रयोग कर रहे हैं. चीन ने भी अपने यहां संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए संक्रमण से ठीक हो चुके मरीजों का ब्लड-प्लाज़्मा लेकर इलाज करने का दावा किया था.



19 फरवरी को ईरान में कोरोनावायरस के संक्रमण का पहला मामला सामने आया था. जिसके बाद ईरान में धीरे-धीरे मामलों में तेज़ी आने लगी. ईरानी सरकार ने कई सप्ताह तक लॉकडाउन को लेकर कोई फैसला नहीं लिया जिसकी वजह से संक्रमण एक शहर से दूसरे शहर फैलता चला गया. पिछले बुधवार को ईरान सरकार ने देश में यात्राओं पर बैन लगाया है. इसके अलावा ईरान के शहरों में कोई लॉकडाउन नहीं किया गया है. हालांकि ईरानी सरकार लगातार जनता से घरों के भीतर रहने की अपील कर रही है.



कोरोनावायरस के कहर के दौरान ईरान में फैली एक अफवाह ने भी लोगों की जान लेने का काम किया है. ईरान में सोशल मीडिया पर ये अफवाह फैली थी कि नशीला पदार्थ पीने से कोरोनावायरस का संक्रमण खत्म किया जा सकता है. जिसकी वजह से जहरीली शराब पीने की वजह से 300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. सोशल मीडिया पर फैली अफवाह की वजह से कोरोनोवायरस के इलाज के नाम पर लोग मेथेनॉल पीकर मर रहे हैं.

ईरान प्रशासन ने प्रिंट मीडिया और पब्लिकेशन को 8 अप्रैल तक अखबार प्रकाशित न करने की अपील की है ताकि खबरों के संकलन से लेकर अखबार छपने की प्रक्रिया में कोरोनावायरस का संक्रमण फैल न सके. सरकार ने देश की तमाम मीडिया कंपनियों से ऑनलाइन पब्लिकेशन की अपील की है.

इसी बीच ईरान में फंसे 65 भारतीयों ने भारत सरकार से वापस लाने की गुहार लगाई है. ये भारतीय तेहरान से 300 किमी दूर अर्देश्तान में फंसे हुए हैं और उन्हें खुद के संक्रमित होने का डर सता रहा है. ईरान से अब तक 600 से ज्यादा भारतीयों को वापस लाया जा चुका है. इन्हें राजस्थान में जोधपुर और जैसलमेर में सेना के कैंपों में निगरानी में रखा गया है. 14 दिनों तक इन्हें क्वारनटीन में रखा गया है.

कोरोनावायरस की महामारी से जूझ रहे ईरान पर अमेरिका ने अगले 60 दिनों तक 4 प्रतिबंधों को जारी रखने का फैसला किया है. प्रतिबंध बढ़ाने के फैसले को सही बताते हुए अमेरिका ने कहा कि ये प्रतिबंध ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर आधारित हैं. साल 2018 में अमेरिका और ईरान के बीच न्यूक्लियर डील रद्द होने के बाद अमेरिका ने ईरान पर कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाए थे. अमेरिका लगातार ईरान पर प्रतिबंध के जरिये ये दबाव बढ़ा रहा है कि वह अपने परमाणु कार्यक्रम बंद कर दे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 31, 2020, 9:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading