दाऊद के धंधे को मिली चुनौती, अपने ही साथी ने डुबोया गुटका कारोबार

News18India
Updated: February 27, 2017, 11:54 PM IST
दाऊद के धंधे को मिली चुनौती, अपने ही साथी ने डुबोया गुटका कारोबार
दाऊद अपने काले धंधों के गढ़ यानी दुबई में कई दशकों से गुटका किंग बना हुआ था. लेकिन, अब उसे उसके ही गढ़ में चुनौती मिल रही है.
News18India
Updated: February 27, 2017, 11:54 PM IST
दाऊद अपने काले धंधों के गढ़ यानी दुबई में कई दशकों से गुटका किंग बना हुआ था. लेकिन, अब उसे उसके ही गढ़ में चुनौती मिल रही है. इसके चलते वो इस कदर परेशान हो चुका है कि अपने दुश्मनों को फोन पर धमकियां दे रहा है.

दाऊद के लोग इस समय जिस शख्स को धमकी दे रहे हैं वो एक गुटका व्यापारी सफदर है. दरअसल, एक समय पर दाऊद के भाई अनीस इब्राहिम के खास दोस्त हसन के साथ मिलकर सफदर गुटके का कारोबार करता था. लेकिन अब वो अकेले ही इस धंधे में जुट गया है. इस वजह से दाऊद का गुटके का धंधा दुबई में खत्म होने की कगार पर पहुंच गया है.

सफदर गुटके का धंधा करता है और दुबई में ही रहता है. वो भले ही दुबई में बैठकर गुटके का कारोबार कर रहा हो, लेकिन उसकी जड़ें गुजरात के जामनगर में है. वो यहीं से गुटका बनाकर दुबई में सप्लाई करता है.

सफदर का गुटका दुबई में इस कदर मशहूर हो चुका है कि अब दाऊद की कंपनी से बना गुटका लोग नहीं खरीद रहे हैं. इस बात से परेशान होकर दाऊद ने सफदर को वापस अपने गुटके के धंधे में शामिल होने को कहा. दाऊद के भाई अनीस ने उसे धमकी दी कि वो हसन के साथ दोबारा काम शुरु करे, लेकिन सफदर इसके लिए राजी नहीं हुआ.

डॉन की बात न मानने पर सफदर को डी कंपनी के लोग लगातार फोन पर धमकी देने लगे. गुटके के धंधे को लेकर दाऊद और सफदर की खुलकर दुश्मनी हो गई. दाऊद ने सफदर को सबक सिखाने के लिए अनीस इब्राहिम को जिम्मेदारी सौंपी क्योंकि दुबई में दाऊद के गुटके का कारोबार संभालने वाला हसन, अनीस इब्राहिम का भी दोस्त है. इसलिए सफदर को अनीस का नाम लेकर धमकियां आने लगीं.

हालांकि, डी कंपनी की धमकियों का सफदर पर कोई असर नहीं हुआ. उसने गुटके के अलावा दुबई में कई और धंधे शुरू कर दिए. इससे दाऊद का नुकसान और बढ़ने लगा, जिसकी बौखलाहठ में अनीस इब्राहिम ने सफदर को जान से मारने की धमकी दे दी.

इस धमकी के बाद सफदर ने दुबई में ही बैठकर सीबीआई को एक ईमेल किया. इस ईमेल में उसने बताया कि उसे अनीस इब्राहिम के नंबर से लगातार धमकियां आ रही हैं. इसके साथ ही सफदर ने गुहार लगाई कि भारतीय एजेंसियां नंबर की ट्रैकिंग करें.

डी कंपनी कोई ऐसा काम नहीं करना चाहती है जिससे दुबई पुलिस उसके पीछे पड़े इसलिए उसने सफदर को सबक सिखाने के लिए एक बड़ी साजिश रची. ये साजिश थी सफदर के चाचा अशफाक की हत्या करने की. अनीस इब्राहिम ने जामनगर में अशफाक को खत्म करने के लिए शार्प शूटर्स को भेज दिए.
First published: February 27, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर