कांगो में इबोला का प्रकोप, WHO ने की पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा

डीआरसी के दो प्रांत नॉर्थ किव और इतुरी में साल 2018 में अब तक सबसे ज्यादा लोग प्रभावित हुऐ हैं. यहां इबोला से ग्रस्त करीब 2500 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से करीब 1600 लोगों की मौत हो चुकी है.

News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 8:29 AM IST
कांगो में इबोला का प्रकोप, WHO ने की पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा
डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (डीआरसी) में इबोला की वजह से पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा. (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 18, 2019, 8:29 AM IST
डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (डीआरसी) में इबोला के प्रकोप से करीब 1600 लोग अपनी जान गवां चुके हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)ने अब यहां पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी की घोषणा कर दी है. WHO के अनुसार इस बीमारी से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय समर्थन की जरूरत है.

इबोला का पहला केस इस सप्ताह गोमा शहर में पाया गया था, जहां लाखों लोग रहते हैं. WHO की रिपोर्ट के मुताबिक इससे पहले जानलेवा इबोला की वजह से चार बार इमरजेंसी लागू हो चुकी है. इसमें वेस्ट अफ्रीका की इमरजेंसी भी शामिल है, जिसमें करीब 11,000 लोगों की मौत हुई थी.

इबोला का दूसरा सबसे बड़ा प्रकोप

इबोला के इस प्रकोप को दूसरा सबसे बड़ा कहा जा रहा है. डीआरसी के दो प्रांत नॉर्थ किव और इतुरी में साल 2018 में अब तक सबसे ज्यादा लोग प्रभावित हुऐ हैं. यहां इबोला से ग्रस्त करीब 2500 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से करीब 1600 लोगों की मौत हो चुकी है. इन इलाकों में इबोला के हर रोज करीब 12 मामले सामने आ रहे हैं.

वायरल बीमारी है इबोला

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, फ्रूट बैट यानी चमगादड़ इबोला वायरस का प्राथमिक स्रोत है. इबोला वायरस 2 से 21 दिन में शरीर में पूरी तरह फैल जाता है. इसके संक्रमण से कोशिकाओं से साइटोकाइन प्रोटीन बाहर आने लगता है. कोशिकाएं नसों को छोड़ने लगती हैं और उससे खून आने लगता है. मरीज के संपर्क में आने से इबोला संक्रमण होता है. मरीज के खून, पसीने के संपर्क से और छूने से ये फैलता है. महामारी वाले इलाके के पशुओं के संपर्क से भी ये फैलता है.

ये भी पढ़ें: जानें! क्या है इबोला वायरस, कैसे फैलता है ये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 8:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...