लाइव टीवी

UN की चेतावनी- अब अफ्रीका से भारत में तबाही मचाने आ रही हैं करोड़ों टिड्डियां

News18Hindi
Updated: May 22, 2020, 1:58 PM IST
UN की चेतावनी- अब अफ्रीका से भारत में तबाही मचाने आ रही हैं करोड़ों टिड्डियां
एफएओ डेजर्ट लोकस्‍ट कमीशन का गठन 1964 में किया गया. तब से कमीशन हर साल सत्र का आयोजन करता है.

भारत (India) के लिए मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की खाद्य एवं कृषि एजेंसी के एक शीर्ष अधिकारी ने चेतावनी दी है कि करोड़ों की संख्या में टिड्डियां (Desert locust) जल्द ही भारत पर हमला बोल सकती हैं.

  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से जूझ रहे भारत (India) के लिए मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की खाद्य एवं कृषि एजेंसी के एक शीर्ष अधिकारी ने चेतावनी दी है कि करोड़ों की संख्या में टिड्डियां जल्द ही भारत पर हमला बोल सकती हैं. ये आम टिड्डियां नहीं हैं बल्कि मरुस्थलीय टिड्डियों (Desert locust) के दल हैं जो कि फसलों के लिए विनाशकारी साबित हो सकते हैं. UN ने ये चेतावनी भारत, पाकिस्तान और पूर्वी अफ्रीका के देशों के लिए जारी की है.

UN के मुताबिक ये टिड्डी दल खाद्य सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं और अगले महीने पूर्वी अफ्रीका से भारत और पाकिस्तान की ओर बढ़ सकता है और उनके साथ अन्य कीड़ों के झुंड भी आ सकते है. बता दें कि मरुस्थलीय टिड्डी को दुनिया में सबसे विनाशकारी प्रवासी कीट माना जाता है और एक वर्ग किलोमीटर में फैले एक झुंड में आठ करोड़ तक टिड्डी हो सकती हैं. खाद्य एवं कृषि संगठन (एफएओ) के सीनियर लोकस्ट फॉरकास्टिंग ऑफिसर कीथ क्रेसमैन ने कहा, 'हर कोई जानता है कि हम दशकों में अब तक के सबसे खराब मरुस्थलीय टिड्डी हमले की स्थिति का सामना कर रहे हैं.'

पूर्वी अफ्रीका में मचाई हुई है भारी तबाही
कीथ क्रेसमैन ने कहा,' फिलहाल ये पूर्वी अफ्रीका में हैं जहां उन्होंने आजीविका तथा खाद्य सुरक्षा को दुष्कर बना दिया है लेकिन अब अगले महीने या उसके बाद ये अन्य इलाकों तक फैलेंगी और पश्चिम अफ्रीका की ओर बढ़ेंगी.' उन्होंने गुरूवार को एक ऑनलाइन सम्मेलन में कहा, ' अगर ये हिंद महासागर पार करके भारत तथा पाकिस्तान जाएंगी, तो बड़ी तबाही होना तय मानिये.' मौजूदा वक्त में टिड्डियों का हमला केन्या, सोमालिया, इथियोपिया, दक्षिण ईरान और पाकिस्तान के कई हिस्सों में सबसे अधिक गंभीर है तथा जून में ये केन्या से इथियोपिया के साथ ही सूडान तथा संभवत: पश्चिम अफ्रीका तक फैलेंगी.



 



ये भी देखें:

जानें क्‍या है कोविड-19 का इलाज बताई जा रही साइटोकाइन थेरैपी? कर्नाटक में हो रहा है ट्रायल

क्या होता है सोनिक बूम, जिसकी वजह से घबरा गए बेंगलुरु के लोग

कुछ लोग अधिक, तो कुछ फैलाते ही नहीं हैं कोरोना संक्रमण, क्या कहता है इस पर शोध

Antiviral Mask हो रहा है तैयार, कोरोना लगते ही बदलेगा रंग और खत्म कर देगा उसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 1:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading