क्या दुश्मन का लड़ाकू विमान समझ ईरान ने 176 यात्रियों वाले प्लेन पर दागी मिसाइल?

क्या दुश्मन का लड़ाकू विमान समझ ईरान ने 176 यात्रियों वाले प्लेन पर दागी मिसाइल?
बोइंग 737-800 ने तेहरान एयरपोर्ट से सुबह 6 बजकर 13 मिनट पर उड़ान भरी थी

इस हादसे की जो वजह बताई जा जा रही है वो किसी के गले नहीं उतर रही है. आखिर क्यों इस हादसे को संदेह की नजर से देखा जा रहा है. क्या है यूक्रेन प्लेन क्रैश (Ukrainian Plane Crash) की पूरी कहानी...

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2020, 1:38 PM IST
  • Share this:
तेहरान. बुधवार की सुबह तेहरान (Tehran) एयरपोर्ट पर यूक्रेन का एक प्लेन क्रैश (Ukrainian Plane Crash) हो गया. इस हादसे में सभी 176 यात्रियों की मौत हो गई. ईरान की तरफ से कहा गया कि तकनीकी खराबी के चलते उड़ान भरते ही ये विमान क्रैश हो गया. लेकिन इस हादसे को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया जा रहा है कि ईरान ने गलती से इस विमान पर मिसाइल दाग दी. हालांकि ईरान ने ऐसे अफवाहों को सिरे से खारिज कर दिया है. लेकिन इस हादसे की जो वजह बताई जा रही है वो किसी के गले नहीं उतर रही है. आखिर क्यों इस हादसे को संदेह की नजरों से देखा जा रहा है.

क्या हुआ था हादसे के वक्त?
बोइंग 737-800 ने तेहरान एयरपोर्ट से सुबह 6 बजकर 13 मिनट पर उड़ान भरी थी. लेकिन 2-3 मिनट के अंदर ही विमान क्रैश हो गया. हादसे के बाद ईरान की स्टूडेंट्स न्यूज़ एजेंसी ने एक वीडियो ट्वीट किया. इसमें देखा जा सकता है कि हादसे के बाद आग की लपटे नीचे की तरफ आने लगीं. बता दें कि ये हादसा इराक में अमेरिकी एयर बेस पर मिसाइल अटैक के बाद हुआ था. ऐसे में इस हादसे को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं.

क्या फ्लाइट पर हमला किया गया?
हादसा कैसे हुआ इसके बारे में फिलहाल साफ तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है. लेकिन एक एविएशन एक्सपर्ट पीटर गोल्ज़ ने न्यूयॉर्क टाइम्स  में दावा किया है कि हो सकता है कि फ्लाइट पर हमला किया गया हो. उनका कहना है कि जब जांच दल अपना काम शुरू करेगा तो फिर वे हमले की एंगल से शुरुआती जांच करेंगे.



क्या कहा यूक्रेन और ईरान ने?
हादसे के तुरंत बाद दोनों देशों ने अलग-अलग बयान दिए. ईरान के एक मंत्री क़ासिम बिनियाज़ ने कहा कि इंजन में आग लग गई और पायलट ने नियंत्रण खो दिया. उधर तेहरान में यूक्रेन के दूतावास ने किसी भी आतंकी या राकेट हमले से इनकार किया. बाद में कहा गया कि अभी कुछ भी कहना मुश्किल है कि आखिर ये हादसा कैसे हुआ.

ब्लैक बॉक्स देने से इनकार
ब्लैक बॉक्स से हादसे की वजहों का पता लग सकता है. लेकिन ईरान ने फिलहाल ब्लैक बॉक्स देने से इनकार कर दिया है. ईरान ने कहा है कि वो अमेरिका की कंपनी को ब्लैक बॉक्स नहीं भेजेंगे. ऐसे में ईरान के इस बयान को संदेह की नजरों से देखा जा रहा है.

अनुभवी पायलट और फिट प्लेन
जहां तक बोइंग 737-800 विमानों का सवाल है तो इसे बेहद सुरक्षित माना जाता है. सेफ्टी के मामले में इसका काफी अच्छा रिकॉर्ड भी. इस विमान का निर्माण साल 2016 में किया गया था. सोमवार को इसका शेड्यूल मेंटेनेंस भी हुआ था. इस बीच यूक्रेन एयरलाइंस ने दावा किया है कि किसी गलती के चलते ये हादसा नहीं हुआ है. फ्लाइट के दोनों पायलटों को 11 हज़ार घंटे से ज़्यादा का अनुभव था. लिहाजा हादसे को लेकर हमले का भी शक जताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:-

ईरान ने अपने देशवासियों से बोला था झूठ? अमेरिकी एयरबेस से दूर गिराई मिसाइल

निर्भया केस: दोषी विनय शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किया क्यूरेटिव पिटीशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज