वफादारी की मिसाल: जब 200 किलोमीटर चलकर मालिक के पास लौटा कुत्ता

इतनी लंबी यात्रा के बाद वह काफी थका हुआ था. उसका पैर टूट गया था, जगह-जगह चोट के निशान थे और थूथन टूटी हुई थी.

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 9:25 AM IST
वफादारी की मिसाल: जब 200 किलोमीटर चलकर मालिक के पास लौटा कुत्ता
200 किलोमीटर चलकर मालिक के पास वापस पहुंचा कुत्ता.
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 9:25 AM IST
आपने कुत्तों की वफादारी के कई किस्से सुने होंगे, लेकिन रूस में एक कुत्ते ने जो किया वह काफी हैरान करने वाला है. यहां एक कुत्ता 200 किलोमीटर पैदल चलकर अपने मालिक के पास पहुंचा. इस दौरान वह साइबेरिया के जंगलों से होते हुए भालू और भेड़ियों से बचते-बचाते किसी तरह वापस अपने घर पहुंचा.

बुलमास्टिफ नस्ल के इस कुत्ते का नाम मारू है. उसके मालिक ने ये कहकर उसे छोड़ दिया कि उसे उससे एलर्जी है. मारू को एक ट्रेन में रखा गया था, लेकिन उसने खुद को किसी तरह आजाद कर लिया और एक स्टेशन पर बाहर उतर गया. अंधेरा होने की वजह से मारू आसानी से वहां भाग गया. इसके बाद उसे खोजने के लिए सर्च पार्टी बनाई गई और सोशल मीडिया पर भी इस बारे में जानकारी दी गई.

ढाई दिन की तलाश के बाद मारू मिला और दिलचस्प रूप से वह उस जगह के नजदीक था, जहां उसका पुराना मालिक रहता था, जिसने छह महीने पहले उसे छोड़ दिया था.

जिस वक्त मारू को खोजा गया उसकी आंखों में आंसू थे. उसने वापस उसी स्थान पर पहुंचने के लिए जंगल के रास्ते करीब 200 किलोमीटर की दूरी तय की थी. वह काफी भाग्यशाली भी रहा था कि साइबेरियन जंगल में भालूओं और भेड़ियों ने उस पर हमला नहीं किया.



इतनी लंबी यात्रा के बाद वह काफी थका हुआ था. उसका पैर टूट गया था, जगह-जगह चोट के निशान थे और थूथन टूटी हुई थी.

गौरतलब है कि कुत्तों को अपने घर से काफी प्यार होता है, ऐसे में अगर उन्हें रास्ता मालूम हो तो वे अक्सर अपने पुराने घर लौट आते हैं, लेकिन रूस के इस कुत्ते ने रास्ता जाने बिना करीब 200 किलोमीटर की दूरी तय की.
Loading...

ये भी पढ़ें: मां ने नवजात को पॉलीथिन में लपेटकर नाले में फेंका, आवारा कुत्तों ने बचाई जान
First published: July 21, 2019, 8:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...