जब प्रेस काफ्रेंस के बीच से ट्रंप को ले गया बंदूकधारी, व्हाइट हाउस के बाहर चली गोली

व्हाइट हाउस के बाहर हुई फायरिंग

डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की प्रेस कांफ्रेंस में तब अफरा-तफरी मच गयी जब बदूकों से लैस एक शख्स दौड़ता हुआ आया और ट्रंप को अपने साथ ले गया. ये शख्स दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात सीक्रेट सर्विस का एजेंट (Secret service agent) था. ट्रंप व्हाइट हाउस (White House) के लॉन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

  • Share this:
    वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की प्रेस कांफ्रेंस में सोमवार को तब अफरा-तफरी मच गयी जब बदूकों से लैस एक शख्स दौड़ता हुआ आया और ट्रंप को अपने साथ ले गया. ये शख्स दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति की सुरक्षा में तैनात सीक्रेट सर्विस का एजेंट (Secret service agent) था. ट्रंप व्हाइट हाउस (White House) के लॉन में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे जब ये पूरा वाकया पेश आया. हालांकि थोड़ी ही देर बाद ट्रंप वापस आए और उन्होंने बताया कि व्हाइट हाउस के बाहर कोई शूटआउट हुआ है, जिसके चलते सुरक्षा के मद्देनज़र ऐसा किया गया था.

    व्हाइट हाउस ने बताया कि सोमवार को राष्ट्रपति भवन के बाहर एक बंदूकधारी शख्स ने गोलियां बरसानी शुरू कर दी थीं, जिसके बाद उसे मार गिराया गया. सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत इस दौरान ट्रंप को प्रेस कांफ्रेंस के बीच से ले जाना पड़ा. सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में स्पष्ट नज़र आ रहा है कि सीक्रेट सर्विस एजेंट ने तुरंत ट्रंप से अन्दर जाने को कहा, जिससे वहां मौजूद बाकी लोगों में अफरातफरी मच गयी. हालांकि करीब 10 मिनट बाद ट्रंप वापस आए और उन्होंने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है.





    ट्रंप ने कहा- मुझे सीक्रेट सर्विस पर पूरा भरोसा
    ट्रंप ने लौटकर बताया कि सुरक्षाकर्मियों ने व्हाइट हाउस के बाहर किसी बंदूकधारी शख्स को मार गिराया है, इसलिए ही ऐसा किया गया था. उन्होंने बताया कि अभी तक ये नहीं पता चला है कि बंदूकधारी शख्स व्हाइट हाउस में किस इरादे से घुसने की कोशिश कर रहा था. ट्रंप ने कहा कि हो सकता है इस पूरी घटना का मुझसे कुछ लेना-देना भी न हो लेकिन सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत ऐसा करना पड़ता है. अगर सुरक्षा में कोई चूक भी हुई है तो वो मुझसे काफी दूर रहते ही सुधार ली गयी थी. AFP की रिपोर्ट के मुताबिक व्हाइट हाउस के बाहर सोमवार को इस घटना के बाद सुरक्षा के भारी इंतजाम देखे गए.

    व्हाइट हाउस की तरफ जाने वाली हर सड़क को बंद कर दिया गया था और हर एक गाड़ी की तलाशी ली जा रही थी. प्रत्यदर्शियों के मुताबिक उन्होंने फायरिंग की आवाज अमेरिकी समय के मुताबिक सुबह 10 बजे के आस-पास सुनी थी. इसके बाद AR-15 रायफल्स के लैस एक सुरक्षा टीम आई और उन्होंने गोलियां चला रहे शख्स को ढेर कर दिया. ये शख्स गोलियां क्यों चला रहा था ये स्पष्ट नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.