ट्रंप की बेटी टिफनी ने प्रदर्शनकारियों का किया समर्थन, इंस्टा पर पोस्ट की ब्लैक स्क्रीन

ट्रंप की बेटी टिफनी ने प्रदर्शनकारियों का किया समर्थन, इंस्टा पर पोस्ट की ब्लैक स्क्रीन
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी टिफनी

अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की बेटी टिफनी ने अश्वेत फ्लॉयड की मौत पर प्रदर्शनकारियों का समर्थन किया.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
वॉशिंगटन. अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की बेटी टिफनी ने अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की मौत के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन का समर्थन किया. टिफनी ने सोशल मीडिया पर ब्लैक स्क्रीन पोस्ट कर प्रदर्शन को सही ठहराया. उन्होंने इंस्टाग्राम पर पोस्ट के साथ #BlackoutTuesday #justiceforgeorgefloyd हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए लिखा, ''अकेले हम कम हासिल कर सकते हैं, एक साथ हम बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं.''

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क शहर के नेताओं को फटकार लगाते हुए कहा है कि वह न्यूयॉर्क की सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे लोगों को जल्द से जल्द हटाए वर्ना अंजाम बुरा हो सकता है. उन्होंने सोमवार को भी प्रदर्शनकारियों पर विद्रोह ​अधिनियम लागू करने की धमकी दी थी.

टिफनी की मां ने भी किया समर्थन
टिफनी डोनाल्ड ट्रंप की दूसरी पत्नी मार्ला मैपल्स की बेटी हैं. मैपल्स ने भी प्रदर्शनकारियों का समर्थन करते हुए ब्लैक स्क्रीन की तस्वीर पोस्ट की है.








 




View this post on Instagram




 

”Alone we can achieve so little; together we can achieve so much.”- Helen Keller #blackoutTuesday #justiceforgeorgefloyd


A post shared by Tiffany Ariana Trump (@tiffanytrump) on






बता दें कि व्हाइट हाउस के रोज गार्डन से देश को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर कोई शहर या फिर राज्य वहां के लोगों की जिंदगी और संपत्ति की रक्षा के लिए आवश्यक कार्रवाई करने से इनकार करता है तो मैं अमेरिकी सेना को तैनात करूंगा और उनकी समस्या का जल्द समाधान निकालूंगा.

40 राज्यों के 150 शहरों में चल रहा है प्रदर्शन
अमेरिका के 40 राज्यों और 150 से ज्यादा शहरों में अश्वेत अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस कार्रवाई में हुई मौत के खिलाफ प्रदर्शन चल रहे हैं. बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी वाशिंगटन डीसी की सड़कों पर आ गए और व्हाइट हाउस के पास प्रदर्शन करने लगे. स्थिति बिगड़ती देख राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वाशिंगटन की सुरक्षा व्यवस्था सेना और नेशनल गार्ड्स को सौंप दी है.

उधर जॉर्ज फ्लॉयड के परिवार के कहने पर किए गए पोस्टमार्टम में पाया गया है कि उनकी मौत गले और पीठ पर दबाव के कारण सांस नहीं ले पाने के कारण ही हुई थी. अमेरिका में जारी प्रदर्शन में 4000 से ज्यादा गिरफ्तार हुए हैं जबकि झड़प में 5 लोगों की मौत हो गई है.

ये भी पढ़ें :- अश्वेत की मौत पर प्रदर्शन के दौरान अमेरिका में बापू की प्रतिमा का किया अपमान
First published: June 4, 2020, 12:10 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading