US ELECTION 2020: अंतिम डिबेट से पहले ट्रंप ने जताई आपत्ति, विषय बदले जाने की मांग की

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (PHOTO:AP)
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (PHOTO:AP)

US ELECTION 2020: ट्रंप के प्रचार प्रबंधक बिल स्टेपियन (Bill Stepian) ने डिबेट कमिशन को एक दो पन्ने का खत लिखा है. इस खत में 22 अक्टूबर को होने वाली डिबेट को लेकर यह आरोप लगाया गया है कि कमिशन उपराष्ट्रपति जो बाइडेन को फायदा पहुंचाने में लगा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 11:29 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव आगामी तीन नवंबर को होना है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के प्रचार खेमे ने डिबेन कमिशन (Presidential Debate Commission) को निशाने पर लिया है. प्रेसिडेंशल ने डिबेट के मुद्दों और नियमों में बदलाव के मुद्दे को उठाया है. ट्रंप के प्रचार प्रबंधक बिल स्टेपियन (Bill Stepian) ने डिबेट कमिशन को एक दो पन्ने का खत लिखा है. इस खत में 22 अक्टूबर को होने वाली डिबेट को लेकर यह आरोप लगाया गया है कि कमिशन उपराष्ट्रपति जो बाइडेन को फायदा पहुंचाने में लगा हुआ है. गौरतलब है​ कि डेमोक्रैटिक कैंडिडेट जो बाइडेन और डोनाल्ड ट्रंप के बीच यह आखिरी डिबेट होनी तय है. इससे पहले होने वाली डिबेट ट्रंप के चलते रद्द कर दी गई थी. दरअसल इससे पहले वाली डिबेट वर्चुअल कराई जानी थी क्योंकि इस डिबेट से पहले ट्रंप कोरोना पॉजिटिव हो गए थे.

कमिशन पर आरोप- बाइडेन को फायदा पहुंचाने की कोशिश

बिल स्टेपियन ने कमिशन पर आरोप लगाते हुए यह कहा कि वह बाइडेन को फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रहा है जिसकी वजह से डिबेट सीजन फेल हो गया है. बिल ने लिखा है, 'कैंपेन की अखंडता और अमेरिका के लोगों की भलाई के लिए, हम आपसे अपील करते हैं कि फिर से सोचें और 22 अक्टूबर को होने वाली डिबेट के लिए, विदेश नीति पर जोर के साथ मुद्दे फिर से तय करें.'



ये भी पढ़ें: लास वेगास में पादरी ने ट्रंप से कहा- आप प्रभु की आंखों के तारे हैं, दोबारा राष्ट्रपति बनेंगे 
कराची रैली के बाद मरियम शरीफ के पति को होटल का कमरा तोड़ पुलिस ने किया गिरफ्तार 

बिल का कहना है कि अभी तक विदेश नीति को आखिरी डिबेट में रखा जाता था लेकिन इस बार कमिशन या मॉडरेटर एनबीसी की क्रिस्टन वॉकर ने इसका ऐलान नहीं किया है. कमिशन ने इस बहस के लिए तय 6 मुद्दों का ऐलान किया था. इन मुद्दों में कोरोना वायरस से लड़ाई, अमेरिका के परिवार, अमेरिका में नस्ल, जलवायु परिवर्तन, नेशनल सिक्यॉरिटी और नेतृत्व शामिल किए गए हैं. डिबेट से जुड़े नियमों में बदलाव नहीं किया गया है लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स में संकेत दिए गए हैं कि नियम तोड़ने पर कैंडिडेट्स के कमिशन माइक्रोफोन को बंद किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज