Home /News /world /

विपक्ष का दावा- ट्रंप ने यूक्रेन को 'रिश्वत' देकर प्रतिद्वंदी के खिलाफ की जांच की साजिश

विपक्ष का दावा- ट्रंप ने यूक्रेन को 'रिश्वत' देकर प्रतिद्वंदी के खिलाफ की जांच की साजिश

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही आगे बढ़ गई है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही आगे बढ़ गई है.

अमेरिकी इतिहास की इस चौथी औपचारिक महाभियोग कार्यवाही के पहले दिन की सार्वजनिक सुनवाई से राजनीतिक खींचतान उजागर हुई.

    वाशिंगटन. अमेरिका (America) में राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई चल रही है. इस बीच, डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) और रिपब्लिकन पार्टी (Republican Party) ने डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के निर्णयों को लेकर अपना रुख कड़ा कर लिया है.

    डेमोक्रेटिक पार्टी ने कहा कि बुधवार को सदन में हुई असाधारण सार्वजनिक सुनवाई में खुलासा हुआ है कि ट्रंप के कार्यालय ने नवनिर्वाचित यूक्रेन (Ukraine) के राष्ट्रपति पर सैन्य मदद का ‘घूस’ देने के बदले प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रेट के खिलाफ राजनीतिक जांच के लिए दबाव बनाया जो एक तरह से ‘फिरौती’ है. हालांकि, रिपाब्लिकन सदस्यों ने इसका प्रतिवाद किया.

    उन्होंने कहा कि गवाही देने के लिए आए दो राजनयिकों, जिन्हें महाभियोग जांच के केंद्र में 25 जुलाई की ट्रंप की बातचीत की जानकारी थी, ने साफ किया है कि यूक्रेन के युवा नेता पर कोई दवाब नहीं था. उन्होंने तर्क दिया कांग्रेस के हस्तक्षेप के बाद यूक्रेप को मदद दी गई.

    अमेरिका के इतिहास में चौथी बार हो रही है कार्यवाही
    अमेरिकी इतिहास की इस चौथी औपचारिक महाभियोग कार्यवाही के पहले दिन की सार्वजनिक सुनवाई से राजनीतिक खींचतान उजागर हुई. तस्वीरें, ध्वनि संदेश टेलीविजन एवं सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. महाभियोग मामले की जांच कर रही खुफिया मामलों की समिति के अध्यक्ष डेमोक्रेटिक पार्टी के एडम स्किफ ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय सुरक्षा की कीमत पर अपने व्यक्तिगत और राजनीति हितों को साधा.’’

    इस बीच, तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन की व्हाइट हाउस में मेजबानी कर रहे ट्रंप ने महाभियोग सुनवाई को तवज्जो नहीं दी और कहा कि वह टेलीविजन पर सीधा प्रसारण देखने के लिए खाली नहीं है. फोन कॉल पर एक गवाह की गवाही के बारे में ट्रंप ने पत्रकार सम्मेलन में कहा कि वह सुनने के बाद प्रतिक्रिया देंगे.

    यूक्रेन के राष्ट्रपति ने जांच को किया और तीखा
    यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादीमीर जेलेंस्की के साथ ट्रंप की 25 जुलाई को फोन पर बातचीत ने महाभियोग की जांच को और तीखा कर दिया है. इस बातचीत को कई सरकारी अफसरों ने सुना और कुछ हफ्तों पहले इसकी (बातचीत की) ट्रांसक्रिप्ट भी सार्वजनिक की गई. इसी में वह मुख्य क्षण है जब ट्रंप नवनिर्वाचित नेता से एक 'अहसान' के लिए कहते हैं.

    अल्पमत के नेता और रिपब्लिकन सांसद केविन मैक्कार्थी ने बुधवार को कहा कि डेमोक्रेट का पहला गवाह फोन कॉल पर नहीं था, उसने कभी भी राष्ट्रपति से मुलाकात नहीं की थी, कभी भी चीफ ऑफ स्टाफ से बात नहीं की और वह उनका अहम गवाह है.

    राजनयिकों ने दी मामले पर गवाही
    महाभियोग पर हुई सुनवाई के दौरान बुधवार को दो राजनयिकों ने नाटकीय तरीके से पूरे दिन इस जटिल मामले पर गवाही दी. उन्होंने बताया कि कैसे उन्हें हटाया गया और यूक्रेन की नई सरकार भ्रमित थी और उन्होंने पाया कि ट्रंप के व्यक्तिगत वकील रुडी गियूलियन अवैध माध्यम में अमेरिकी विदेश मंत्री की भूमिका निभाई जिससे राजनयिक और राष्ट्रीय सुरक्षा के क्षेत्र में चिंता बढ़ी.

    वहीं महाभियोग को लेकर ट्रंप का आक्रमक रुख जारी है. उन्होंने कई ट्वीट करते हुए कहा कि डेमोक्रेट नीत हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स में उनके खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया एक ढकोसला है और इसे नहीं होने देना चाहिए.

    ये भी पढ़ें-
    इस देश में अचानक बहने लगी लाल नदी, चौंक गए लोग, वजह जान आप भी होंगे हैरान

    ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो होंगे गणतंत्र दिवस 2020 के चीफ गेस्ट

    Tags: America, Donald Trump, Donald Trump administration, Ukraine

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर