डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय-अमेरिकी एडवोकेट विजय शंकर को एसोसिएट जज नामित किया

डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय—अमेरिकी एडवोकेट शंकर को एसोसिएट जज नामित किया है. (AP)

डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय—अमेरिकी एडवोकेट शंकर को एसोसिएट जज नामित किया है. (AP)

Trump Nominated Vijay Shanker: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Americas Donald Trump) ने भारतीय-अमेरिकी एडवोकेट विजय शंकर (Indian-American Vijay Shanker) को कोलंबिया कोर्ट ऑफ अपील के एसोसिएट जज (Associate Judge) के पद के लिए नामित किया है. 3 जनवरी को सीनेट को सौंपे गए एक आधिकारिक विज्ञप्ति में ट्रंप ने कहा कि शंकर का नामांकन 15 वर्षों की अवधि के लिए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 2:14 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Americas Donald Trump) ने भारतीय-अमेरिकी एडवोकेट विजय शंकर (Indian-American Vijay Shanker) को कोलंबिया कोर्ट ऑफ अपील के एसोसिएट जज (Associate Judge)  के पद के लिए नामित किया है. 3 जनवरी को सीनेट को सौंपे गए एक आधिकारिक विज्ञप्ति में ट्रंप ने कहा कि शंकर का नामांकन 15 वर्षों की अवधि के लिए है. इसका अर्थ यह है कि सीनेट द्वारा शंकर के नाम पर मुहर लगने के बाद उनका कार्यकाल 15 वर्ष तक बना रहेगा. अगर शंकर का चुनाव हो जाता है तो वे जॉन आर फिशर की जगह लेंगे. फिशर अब रिटायर हो चुके हैं. 'दि डिस्ट्रिक्ट ऑफ़ कोलंबिया कोर्ट ऑफ़ अपील' वाशिंगटन डीसी की सर्वोच्च अदालत है.

पहले भी ट्रम्प ने शंकर के नाम का दिया था प्रस्ताव

ट्रम्प ने पहली बार पिछले जून में शकर के नामांकन की घोषणा की थी. वर्तमान में शंकर न्याय विभाग के आपराधिक डिविजन में वरिष्ठ अभियोग वकील के रूप में और अपीलीय अनुभाग के डिप्टी चीफ के पद पर कार्य कर रहे हैं.

शंकर पहले वकालत की करते थे प्रैक्टिस
2012 में न्याय विभाग में शामिल होने से पहले शंकर वाशिंगटन, डीसी, मेयर ब्राउन, एलएलसी और कोविंगटन और बर्लिंग, एलएलपी के कार्यालयों के साथ निजी प्रैक्टिस कर रहे थे. लॉ स्कूल से स्नातक होने पर सेकंड सर्किट के यूनाइटेड स्टेट कोर्ट ऑफ़ अपील के जज चेस्टर जे स्ट्राब के क़ानूनी क्लर्क के रूप में काम करते थे.

ये भी पढ़ें: आंतकी सेल चलाने के आरोप में 10 चीनी जासूस पकड़ाए, अफगानिस्तान ने चुपके से दी रिहाई

VIRAL VIDEO: दुबई के प्रिंस ने साइकिल से शुतुरमुर्ग के साथ लगाई रेस 



PHOTOS: नॉर्वे में भूस्खलन से तबाह हुआ गांव, अबतक 7 लोगों की हो चुकी है

शंकर ने ड्यूक यूनिवर्सिटी से अपना ग्रेजुएशन किया इसके बाद शंकर ने वर्जीनिया विश्वविद्यालय के लॉ स्कूल से अपने ज्यूरिस डॉक्टर की पढ़ाई पूरी की, जहाँ उन्होंने वर्जीनिया लॉ रिव्यू के लिए नोट्स एडिटर के रूप में कार्य किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज