चुनावों में हार स्वीकारने के लिए तैयार नहीं ट्रंप, कहा- ये नकली सर्वे हैं, मुझे सोचना पड़ेगा

चुनावों में हार स्वीकारने के लिए तैयार नहीं ट्रंप, कहा- ये नकली सर्वे हैं, मुझे सोचना पड़ेगा
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चुनावों (US Elections 2020) में हार की होने की स्थिति पर एक बड़ा बयान देकर सभी को चौंका दिया है. ट्रंप ने स्पष्ट कहा कि पहली बात तो वे हार नहीं रहे हैं और अगर ऐसी कोई स्थिति आती भी है तो वे इस परिणाम को स्वीकार करने के बार में तभी सोचेंगे.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चुनावों (US Elections 2020) में हार की होने की स्थिति पर एक बड़ा बयान देकर सभी को चौंका दिया है. ट्रंप ने स्पष्ट कहा कि पहली बात तो वे हार नहीं रहे हैं और अगर ऐसी कोई स्थिति आती भी है तो वे इस परिणाम को स्वीकार करने के बार में तभी सोचेंगे. जानकारों के मुताबिक ट्रंप ने इस बयान के जरिए आगामी राष्ट्रपति चुनाव के परिणामों को स्वीकार करने की प्रतिबद्धता जताने से इनकार कर दिया है. उनका कहना है कि इस तरह की गारंटी देना जल्दबाजी होगा.

ट्रंप ने फॉक्स को दिए एक इंटरव्यू में उन सर्वेक्षणों का उपहास उड़ाया जिनमें वह डेमोक्रेट नेता जो बिडेन से पिछड़ते दिख रहे हैं. ट्रंप ने हार से जुड़े एक सवाल के जवाब में कहा, 'मुझे देखना है. देखिए... मुझे देखना है.' उन्होंने कहा, 'नहीं, मैं सिर्फ हां नहीं कहने जा रहा हूं. मैं नहीं कहने भी नहीं जा रहा हूं, और मैंने पिछली बार भी नहीं किया था.' ट्रंप ने कहा कि चुनाव पूर्व कई सर्वेक्षणों में दिखाया जा रहा है कि उनकी लोकप्रियता कम हो रही है और बिडेन बढ़त बना रहे हैं. लेकिन ऐसे सर्वेक्षण गलत हैं. उनका मानना है कि ऐसे सर्वेक्षणों में रिपब्लिकन मतदाताओं को पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं मिल रहा है. उन्होंने कहा, 'सबसे पहले, मैं हार नहीं रहा हूं, क्योंकि वे नकली सर्वेक्षण हैं.' यह उल्लेखनीय है कि कोई मौजूदा राष्ट्रपति अमेरिकी लोकतंत्र की चुनावी प्रक्रिया में पूर्ण विश्वास व्यक्त नहीं कर रहे. ट्रंप ने चार साल पहले भी ऐसा ही बयान दिया था जब उनका मुकाबला हिलेरी क्लिंटन से हो रहा था.


कोरोना के मामले में भी ट्रंप का अड़ियल रुख बरक़रारकोरोना संक्रमण से सबसे बुरी तरह प्रभावित अमेरिका में दैनिक नए केसों का आंकड़ा हर रोज़ बढ़ रहा है लेकिन ट्रंप ये मानने के लिए तैयार ही नहीं हैं. जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, अमरीका में कोविड-19 के कारण मरने वालों का आंकड़ा 1.40 लाख से ऊपर जा चुका है लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति ने देश में मृत्यु दर के आंकड़ों को ख़ारिज कर दिया है.



जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, दुनिया में 6,00,000 से अधिक मौतें हो चुकी हैं जिसमें सबसे अधिक मौतें अमरीका में हुई हैं. विश्वविद्यालय के अनुसार, अमेरिका इस बीमारी की मृत्यु दर के मामले में दुनिया के सातवें पायदान पर है. फ़ॉक्स न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने ज़ोर देते हुए कहा कि उनके देश में सबसे कम मृत्यु दर है. उन्होंने कहा कि हाल में देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले इसलिए बढ़े हैं क्योंकि टेस्ट अधिक हो रहे हैं. अमेरिका में दक्षिणी राज्यों में हाल में संक्रमण के मामलों में बहुत तेज़ी दर्ज की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading