ट्रंप बोले- चीन से कोई बातचीत नहीं, मेरिट आधारित आव्रजन कानून जल्द बनेगा

ट्रंप बोले- चीन से कोई बातचीत नहीं, मेरिट आधारित आव्रजन कानून जल्द बनेगा
अमेरिका में जल्द वीजा के लिए बनेंगे कड़े नियम

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने मंगलवार को कहा कि वह जल्द ही एक मेरिट आधारित नए आव्रजन कानून (Merit based Immigration Law) पर हस्ताक्षर करेंगे. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में 'रोज़ गार्डन' में कहा, 'हम एक आव्रजन कानून पर जल्द हस्ताक्षर करने वाले हैं. यह योग्यता (मेरिट) आधारित होगा

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (US) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने मंगलवार को कहा कि वह जल्द ही एक मेरिट आधारित नए आव्रजन कानून (Merit based Immigration Law) पर हस्ताक्षर करेंगे. ट्रंप ने व्हाइट हाउस में 'रोज़ गार्डन' में कहा, 'हम एक आव्रजन कानून पर जल्द हस्ताक्षर करने वाले हैं. यह योग्यता (मेरिट) आधारित होगा, यह काफी सशक्त होगा.' चीन (China) से जुड़े एक सवाल के जवाब में ट्रंप ने साफ़ कहा कि फिलहाल राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) से किसी भी तरह की बातचीत या वार्ता का उनका कोई इरादा नहीं है.

ट्रंप कहा, 'हम डीएसीए (डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल्स) पर काम करने वाले हैं क्योंकि हम लोगों को खुश करना चाहते हैं और मैं आपको बताना चाहूंगा कि यहां तक कि रूढ़िवादी रिपब्लिकन भी डीएसीए के साथ कुछ होते देखना चाहते हैं.' ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेट के पास डीएसीए के साथ कुछ करने का तीन साल का समय था लेकिन उसने हमेशा निराश किया. राष्ट्रपति ने एक सवाल के जवाब में कहा, 'उन्होंने हमेशा निराश किया. उन्होंने इसका राजनीतिक इस्तेमाल किया. मैं इसका इस्तेमाल कुछ करने के लिए कर रहा हूं... हम एक बेहद शक्तिशाली आव्रजन कानून पर हस्ताक्षर करेंगे. वह बेहतरीन होगा, वह योग्यता पर आधारित होगा. देश जिसे 25-30 साल से पाने की कोशिश कर रहा है.' वहीं ट्रंप नवम्बर चुनाव में अपनी जीत को लेकर पूरी तरह आश्वस्त दिखे.






जो हारे हुए लोग हैं, उन्हें होगी परेशानी
ट्रंप ने एक सवाल के जवाब में कहा, 'क्या आप दौड़ में खुद को पराजित देखतें हैं? क्या आप खुद को हारता हुआ देखते हैं?' राष्ट्रपति ने कहा, 'मैं नहीं देखता, मुझे लगता है कि हमारे पास अच्छे चुनावी नंबर हैं. यह दमनकारी चुनाव नहीं. यह वास्तविक चुनाव है.' इस बीच, पुलिसकर्मियों द्वारा अफ्रीकी अमेरिकियों की हत्या किए जाने के सवाल पर ट्रम्प एक रिपोर्टर पर भड़क पड़े और श्वेत लोगों को भी प्रताड़ित किए जाने की बात करने लगे. ट्रंप ने सीबीएस की रिपोर्ट कैथरीन हेरिज से कहा, 'श्वेत लोग भी हैं. श्वेत लोग भी हैं. क्या बकवास सवाल है.'

चीनी राष्ट्रपति से बात करने की कोई योजना नहीं
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से बात नहीं की है और न ही उनकी ऐसा करने की कोई योजना है. ट्रंप ने मंगलवार को व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'नहीं, मैंने उनसे बात नहीं की है. मेरी उनसे बात करने की कोई योजना नहीं है.' उन्होंने कोरोना वायरस को चीन से बाहर फैलने से रोकने में उसकी नाकामी पर आक्रोश जताया. उन्होंने कहा, 'इसमें कोई दोराय नहीं है कि हम संक्रमण को छिपाने और इसे दुनियाभर में फैलाने के लिए चीन को पूरी तरह जिम्मेदार ठहराते हैं. इसे रोका जा सकता था. उन्हें इसे रोकना चाहिए था.'

वह इस मुद्दे पर चीन का पक्ष लेने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) पर भी बरसे. ट्रंप ने कहा, 'वे वास्तव में चीन की कठपुतली थे.' ट्रंप ने चीन पर 'नरम' रुख अपनाने के लिए अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति एवं नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उनके प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन की भी आलोचना की. उन्होंने कहा, 'मेरे प्रशासन ने चीन एवं यूरोप से आने वाले लोगों के प्रवेश पर बहुत जल्द प्रतिबंध लगाकर लोगों की जिंदगियां बचाई. मैं चाहता हूं कि हर कोई यह जान ले कि हम चीनी वायरस से लड़ने और अपने लोगों को सुरक्षित रखने के लिए संघीय सरकार की सभी शक्तियों का इस्तेमाल कर रहे हैं. ‘ऑपरेशन वार्प स्पीड’ के जरिए हम रिकॉर्ड वक्त में टीका बना देंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading