सऊदी को हथियारों की बिक्री पर रोक लगाने वाले संसद के प्रयास पर राष्ट्रपति ट्रंप ने किया वीटो 

राष्ट्रपति ट्रम्प ने वीटो का इस्तेमाल करते हुए कहा - ये प्रस्ताव हमारे सहयोगियों तथा साझेदारों के साथ अहम रिश्तों को नुकसान पहुंचाएगा

भाषा
Updated: July 25, 2019, 7:40 PM IST
सऊदी को हथियारों की बिक्री पर रोक लगाने वाले संसद के प्रयास पर राष्ट्रपति ट्रंप ने किया वीटो 
साऊदी को हथियारों की बिक्री के बैन प्रस्ताव पर ट्रम्प ने किया वीटो, US सांसद ने कहा - शर्मनाक
भाषा
Updated: July 25, 2019, 7:40 PM IST
वॉशिंगटन, 25 जुलाई को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी अरब को अरबों डॉलर के हथियारों की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए संसद में पेश किए गए तीन प्रस्तावों पर वीटो कर दिया. सदन के अध्यक्ष ने सऊदी अरब के विद्रोही पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या करने समेत "भयानक उल्लंघनों" की अनदेखी करने वाले इस कदम की आलोचना की है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने बुधवार के फैसले का बचाव करते हुए कहा, 'ये प्रस्ताव एस जे रेज 36, 37 और 38 अमेरिका की वैश्विक प्रतिस्पर्धा को कमजोर करेगा और हमारे सहयोगियों तथा साझेदारों के साथ अहम रिश्तों को नुकसान पहुंचाएगा'

सदन की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी ने एक बयान में कहा, 'यह आश्चर्यजनक है कि राष्ट्रपति ने ना केवल सऊदी अरब की भयावह करतूतों पर आंखें मूंद लेने का फैसला किया है, बल्कि उससे भी एक कदम आगे जाकर उसे और अधिक हथियारों की बिक्री की अनुमति देने का फैसला किया है, जिसका इस्तेमाल वह अब दुनिया भर में और अधिक मानवाधिकारों का उल्लंघन करने में करेगा'

आगे नैंसी पेलोसी ने कहा कि राष्ट्रपति ने अपने शर्मनाक वीटो से द्विदलीय, द्विसदनीय कांग्रेस की राय को कुचलने का काम किया है, जो यमन में भीषण संघर्ष में उनके प्रशासन की भागीदारी को दर्शाता है, जो दुनिया की अंतरात्मा पर एक धब्बा है. कांग्रेस निगरानी करने की अपनी जिम्मेदारी को निभाना जारी रखेगी.

साथ ही पेलोसी ने कहा, 'हम यमन में संघर्ष के शांतिपूर्ण, स्थायी राजनीतिक समाधान को आगे बढ़ाने और वहां के विनाशकारी मानवीय संकट को समाप्त करने के लिए काम करना जारी रखेंगे’

ये भी पढ़ें-
UAPA बिल: किसी व्यक्ति को भी घोषित किया जा सकेगा आतंकी
First published: July 25, 2019, 7:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...