डोनाल्ड ट्रंप इराकी प्रधानमंत्री का 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में करेंगे वेलकम

डोनाल्ड ट्रंप इराकी प्रधानमंत्री का 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में करेंगे वेलकम
डोनाल्ड ट्रंप करेंगे इराकी प्रधानमंत्री का स्वागत

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ((US President Donald Trump) 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में इराकी प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी (Iraq Prime Minister ) की मेजबानी करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 8:55 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ((US President Donald Trump) 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में इराकी प्रधानमंत्री (Iraq Prime Minister) की मेजबानी करेंगे. इराकी प्रधानमंत्री शुक्रवार को वाइट हाउस द्वारा दिए एक बयान में बताया गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प 20 अगस्त को व्हाइट हाउस में इराकी प्रधान मंत्री मुस्तफा अल-कदीमी की मेजबानी (Welcome party ar White House) करेंगे. इस मुलाक़ात में कोरोनो वायरस महामारी के साथ-साथ सुरक्षा, ऊर्जा और आर्थिक मुद्दों से पैदा हुई चुनौतियों पर चर्चा की जाएंगी.

पत्रकार रह चुके हैं अल कदीमी

अल-कदीमी ख़ुफ़िया प्रमुख रहे हैं और एक पत्रकार भी रहे जो ईरान और अमेरिका में अपने निर्वासन काल में पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन के खिलाफ लिखते रहे थे. अलकदीमी के प्रधानमंत्री बनने पर अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र संघ ने स्वागत करते हुए उन पर अपना भरोसा दिखाया था.



मई में ली थी प्रधानमंत्री पद की शपथ
इराक में मई की शुरूआत में खुफिया एजेंसी के पूर्व प्रमुख मुस्तफा अल-कदीमी ने देश के प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी. संसद सत्र में 255 सांसदों ने भाग लिया और उन्होंने इराक के प्रधानमंत्री के तौर पर मुस्तफा अल-कदीमी के नाम के प्रस्ताव को मंजूरी दी. इराक में पिछले पांच महीनों से नेतृत्व का संकट चल रहा था, जो कदीमी के प्रधानमंत्री बनते ही खत्म हो गया.

तेल राजस्व में ​गिरावट के बीच बने थे पीएम

कदीमी को जब प्रधानमंत्री पद के लिए मनोनीत किया गया था, तो उन्होंने खुफिया प्रमुख के पद से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने ऐसे समय में प्रधानमंत्री पद का कार्यभार संभाला है, जब तेल राजस्व में गिरावट के बीच इराक अभूतपूर्व संकट का सामना कर रहा है.

ये भी पढ़ें: लेबनान के राष्ट्रपति ने कहा-बेरूत विस्फोट में बाहरी हाथ, यूएन ने स्वतंत्र जांच की मांग की

भोपाल गैस त्रासदी के लिए आजतक किसी को नहीं ठहराया जिम्मेदार: पूर्व ब्रिटिश उच्चायुक्त


कदीमी ने मई में आयोजित सत्र के दौरान सांसदों को संबोधित करते हुए कहा कि यह सरकार हमारे देश के सामने आ रहे सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक संकट से निपटने के लिए आई है. यह सरकार समस्याओं का समाधान देगी, न कि संकट बढ़ाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज