अपना शहर चुनें

States

अमेरिका: आज से बदल जाएगा डोनाल्ड ट्रंप का एड्रेस, जानें क्या होगा नया पता

डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस छोड़कर फ्लोरिडा चले जाएंगे. (File Pic)
डोनाल्ड ट्रंप व्हाइट हाउस छोड़कर फ्लोरिडा चले जाएंगे. (File Pic)

US President: लंबे समय तक न्यूयॉर्क में रहे 74 वर्षीय डोनाल्ड ट्रंप ने 1985 में एक करोड़ डॉलर में यह घर खरीदा था और इसे एक निजी क्लब में बदल दिया था जो बीते चार सालों के दौरान उनका शीतकालीन घर रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 5:54 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) फ्लोरिडा में पाम बीच तट के पास स्थित अपने मार-ए-लागो (Mar-a-Lago) एस्टेट को व्हाइट हाउस छोड़ने के बाद अपना स्थायी आवास बनाएंगे. मीडिया में आई खबरों में यह जानकारी दी गई है. न्यूयॉर्क पोस्ट की खबर के मुताबिक व्हाइट हाउस में ट्रंप के आखिरी दिन निकले ट्रकों को पाम बीच में उनके मार-ए-लागो आवास पर जाते देखा गया.

ट्रंप ने कथित तौर पर बुधवार सुबह नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण से कुछ घंटों पहले मार-ए-लागो जाने की योजना बनाई है. राष्ट्रपति के तौर पर अपने चार सालों के कार्यकाल के दौरान ट्रंप ने मार-ए-लागो में अच्छा खासा समय व्यतीत किया है जिसे 'विंटर व्हाइट हाउस' भी कहा गया. राष्ट्रपति ने सितंबर 2019 में अपने कानूनी निवास को न्यूयॉर्क शहर के ट्रंप टावर से बदलकर मार-ए-लागो कर लिया था.





लंबे समय तक न्यूयॉर्क में रहे 74 वर्षीय ट्रंप ने 1985 में एक करोड़ डॉलर में यह घर खरीदा था और इसे एक निजी क्लब में बदल दिया था जो बीते चार सालों के दौरान उनका शीतकालीन घर रहा. करीब 20 एकड़ में फैले इस स्टेट में 128 कमरे हैं .स एस्टेट के सामने अटलांटिक महासागर का शानदार नजारा दिखता है और क्लब की सदस्यता खरीदने वालों के लिये यह खुला है.
यह भी पढ़ें: Farewell Speech: डोनाल्ड ट्रंप ने अपने विदाई भाषण में कहा- मेरे आंदोलन की यह बस शुरुआत

नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) आज शपथ लेने जा रहे हैं. वहीं, अपने विदाई भाषण में ट्रंप को उनके प्रशासन के लिए शुभकामनाएं दी हैं. उन्होंने कहा 'इस हफ्ते हम नए प्रशासन की शुरुआत करेंगे और अमेरिका को सुरक्षित और समृद्ध रखने की प्रार्थना करेंगे.' खास बात है कि नवंबर में पूरे हो चुके राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सियासी ड्रामा लंबे समय तक जारी रहा था. हालांकि, मीडिया ने नवंबर में ही बाइडेन को विजेता घोषित कर दिया था.

चुनाव में हार से आहत ट्रंप ने कभी भी हार को स्वीकार नहीं किया और लगातार देश की चुनावी व्यवस्थाओं पर आरोप लगाते रहे. उन्होंने दावा किया था कि चुनाव में धांधली हुई. हालांकि, यहां तक हालात सामान्य ही थे, लेकिन बीते हफ्ते अमेरिका के संसद भवन पर हुए हमले ने विश्व स्तर पर अमेरिका को सुर्खियों में ला दिया था. कई बड़े राजनेताओं ने ट्रंप की निंदा की. इस हमले में एक पुलिसकर्मी समेत 5 लोगों की मौत हो गई थी.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज