डोनाल्ड ट्रंप के करीबी अटॉर्नी जनरल विलियम को अमेरिकी लोकतंत्र के लिए मानते हैं खतरा!

डोनाल्ड ट्रंप के करीबी अटॉर्नी जनरल विलियम को अमेरिकी लोकतंत्र के लिए मानते हैं खतरा!
अमेरिका के अटॉर्नी जनरल विलियम पेलहम बार्र पर राष्ट्रपति ट्रंप का पक्षपात करते हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के करीबी अटॉर्नी जनरल विलियम पेलहम बार्र (William Pelham Barr) को लोग देश के लोकतंत्र के लिए खतरा (Danger to Democracy) बता रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 2:16 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के आगामी राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (US President Donald Trump) की हर गतिविधियों पर विशेषज्ञों की कड़ी नज़र है. ट्रम्प के करीबियों की भूमिका को भी अमेरिका के लोगों और मीडिया द्वारा परखा जा रहा है. ट्रम्प के करीबियों में विलियम बार्र (William Pelhem Barr) ऐसा ही एक नाम है जो आजकल विवादों में हैं. विलियम बार्र एक गर्वित, जुझारू, स्थिर, ढीठ और एक पक्षपाती योद्धा हैं. विलियम पेलहम बार्र 77 वें और 85 वें संयुक्त राज्य अमेरिका के अटॉर्नी जनरल रहे हैं.

पेलहम बार्र का यह दूसरा कार्यकाल है

फरवरी 2019 में डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन के दौरान बार्र का दूसरा कार्यकाल शुरू हुआ. उससे पहले उन्होंने जॉर्ज एच. डब्ल्यू. बुश प्रशासन के दौरान 1991 से 1993 तक 77 वें अटॉर्नी जनरल के रूप में कार्य किया था. इस सप्ताह वाशिंगटन में कैपिटल हिल पर पांच घंटे के सत्र के दौरान बार्र ने साफ़ कर दिया कि क्यों उन्हें डोनाल्ड ट्रम्प के वफादार संरक्षक और निजी सेवक करार दिया गया है. विलियम ने अमेरिकी शहरों में संघीय बलों का उपयोग करने के ट्रम्प के निर्णय का बचाव किया, तरुम के सहयोगियों को फायदेमंद ट्रीटमेंट देने से इंकार किया और कई मुद्दों जैसे चुनावों में विदेशी हस्तक्षेप या नवंबर में राष्ट्रपति चुनावों को स्थगित कराने के विचार का विरोध किया.



'विलियम ने अपने पद से ज्यादा ट्रंप के प्रति निष्ठा दिखाई है'
आलोचकों के अनुसार विलियम की राष्ट्रपति के प्रति अटूट निष्ठा ने उस दीवार को तोड़ दिया है, जो व्हाइट हाउस और न्याय विभाग को अलग करती है और यह सुनिश्चित करती है कि कानून और राजनीति दो अलग अलग चीजें हैं. विलियम ने राष्ट्रपति के प्रति निष्ठा दिखाने के चक्कर में अपने पद की गरिमा को धूमिल कर दिया है. कुछ आलोचक तो यह भी कह रहे हैं कि वे अब लोकतंत्र के लिए एक खतरा बन गए हैं.

'बार्र अटॉर्नी जनरल की ताकत पाकर खतरानक हो गए हैं'

कैपिटल हिल पर एक पूर्व रिपब्लिकन संचार निदेशक तारा सेटमेयर ने कहा कि अटार्नी जनरल के रूप में उनके पास असीमित शक्ति है जिसके कारण वे बहुत खतरनाक हो गए हैं क्योंकि वे एक ऐसे राष्ट्रपति के साथ काम कर रहे हैं जिसे कानून या शासन की कोई चिंता नहीं है. विलियम बार्र के बारे में ट्रम्प के चुनावी प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रेट जो बिडेन ने गुरुवार को व्यंग्यात्मक लहजे में एक ट्वीट किया कि विलियम बार्र अमेरिका के अटॉर्नी जनरल हैं राष्ट्रपति के निजी वकील नहीं."

ये भी पढ़ें: राष्ट्रपति बोलसोनारो कोरोना से उबरे तो अब हुआ फेफड़ों का संक्रमण, पत्नी भी हुई संक्रमित

अफगानिस्तान: आईएस ने जेल तोड़कर 75 कैदियों को छुड़ाया, 5 की हत्या और 40 घायल

बर्र की राष्ट्रपति के प्रति निष्ठावान निष्ठा ने उस दीवार को तोड़ दिया, जो व्हाइट हाउस और न्याय विभाग को अलग करती है और यह सुनिश्चित करती है कि कानून प्रवर्तन राजनीति से स्वतंत्र है. कुछ का मानना ​​है कि वह अब लोकतंत्र के लिए एक अस्तित्व के लिए खतरा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज