श्रीलंका के राष्ट्रपति बोले किसी ‘मुस्लिम प्रभाकरन’ को सिर नहीं उठाने देंगे

कभी लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के गढ़ रहे मुल्लैतिवु में बोल रहे सिरिसेना ने माना कि देश अब विभाजित हो गया है. उन्होंने कहा कि आज देश के धार्मिक नेता और नेता विभाजित हो गए हैं.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 8:18 PM IST
श्रीलंका के राष्ट्रपति बोले किसी ‘मुस्लिम प्रभाकरन’ को सिर नहीं उठाने देंगे
कभी लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के गढ़ रहे मुल्लैतिवु में बोल रहे सिरिसेना ने माना कि देश अब विभाजित हो गया है. उन्होंने कहा कि आज देश के धार्मिक नेता और नेता विभाजित हो गए हैं.
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 8:18 PM IST
श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने 'मुस्लिम प्रभाकरन' के सिर उठाने को लेकर चेतावनी दी है. साथ ही उन्होंने  देश में सभी समुदायों के बीच एकता का आह्वान किया. देश में ईस्टर के दिन आतंकवादी हमला हुआ था जिसके बाद से ही श्रीलंका में सामुदायिक तनाव बना हुआ है..

कभी लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के गढ़ रहे मुल्लैतिवु में बोल रहे सिरिसेना ने माना कि देश अब विभाजित हो गया है. उन्होंने शनिवार को कहा कि आज देश के धार्मिक नेता और नेता विभाजित हो गए हैं.



कोलंबो गजट की खबर के अनुसार, राष्ट्रपति ने जनता से मुस्लिम प्रभाकरण के सिर उठाने के लिए कोई भी गुंजाइश ना छोड़ने का अनुरोध किया है.

उन्होंने आगाह किया, अगर हम विभाजित और अलग हो जाते हैं तो पूरा देश हार जाएगा. एक और युद्ध शुरू हो जाएगा.

ईस्टर धमाके में मारे गए 250 से ज्यादा लोग

श्रीलंका में ईस्टर के दिन स्थानीय इस्लामिक स्टेट के सिलेसिलेवार धमाकों में 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे. इन आत्मघाती हमलों में तीन चर्चों और तीन लग्जरी होटलों को निशाना बनाया गया था इसके बाद से ही श्रीलंका में तनाव बना हुआ है साथ ही वहां मुस्लिम समुदाय पर हमले भी हो रहे हैं.

इस संबोधन में सिरिसेना कई नेताओं पर भी बरसे. उन्होंने कहा कि कुछ नेताओं का ध्यान इस साल होने वाले चुनावों पर है ना कि देश पर.
Loading...

बता दें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी रविवार को श्रीलंका पहुंचे जहां उन्होंने ईस्टर धमाके में मारे गए लोगों को कोलंबो के एंथनी चर्च में श्रद्धांजलि दी. इस दौरान श्रीलंका के राष्ट्रपति सिरीसेना मैत्रीपाला मौजूद रहे. मोदी ईस्टर के मौके पर हुए विस्फोटों के बाद श्रीलंका की यात्रा करने वाले किसी भी देश के पहले नेता हैं. इस हमले में 250 लोगों की मौत हो गई थी जिनमें 11 भारतीय थे.

ये भी पढ़ें: श्रीलंका पहुंचे PM मोदी, ईस्टर धमाके में मारे गए लोगों को दी श्रद्धांजलि

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...