• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • कोविड के चलते HIV और TB के इलाज पर पड़ा गंभीर असर, दुनिया भर में कम हो गए फंड्स : रिपोर्ट

कोविड के चलते HIV और TB के इलाज पर पड़ा गंभीर असर, दुनिया भर में कम हो गए फंड्स : रिपोर्ट

 कोरोना की वजह से अन्य बीमारियों के इलाज पर पड़ा असर (News18 Creative)

कोरोना की वजह से अन्य बीमारियों के इलाज पर पड़ा असर (News18 Creative)

कोविड-19 महामारी (covid-19 pandemic) के चलते एचआईवी (HIV), टीबी (क्षय रोग- Tuberculosis) और मलेरिया (Malaria) के खिलाफ लड़ाई पर 'विनाशकारी' असर पड़ा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    लंदन. कोविड-19 महामारी (covid-19 pandemic) के चलते एचआईवी (HIV), टीबी (क्षय रोग- Tuberculosis) और मलेरिया (Malaria) के खिलाफ लड़ाई पर ‘विनाशकारी’ असर पड़ा है. यह दावा एक रिपोर्ट में किया गया है. ग्लोबल फंड के कार्यकारी निदेशक पीटर सैंड्स ने कहा, ‘हमारी 20वीं सालगिरह मनाने के लिए हमने इस साल की रिपोर्ट को साहस और असाधारण कहानियों पर केंद्रित किया जिनकी मदद से एचआईवी, टीबी और मलेरिया के खिलाफ जंग में काफी मदद मिली.’ सैंड्स ने कहा लेकिन साल 2020 के आंकड़े हमें दूसरी ओर ध्यान देने की ओर संकेत दे रहे हैं. इनसे इस बात की पुष्टि होती है कि हम कोविड से भयग्रस्त थे.’ उन्होंने कहा, ‘एचआईवी, टीबी और मलेरिया के खिलाफ लड़ाई  पर कोविड-19 का ‘विनाशकारी प्रभाव’ रहा. वैश्विक कोष के इतिहास में पहली बार प्रमुख कार्यक्रम के परिणाम पीछे हैं.’

    समाचार एजेंसी AFP के अनुसार फंड ने कहा कि एचआईवी परीक्षण और रोकथाम सेवाओं में गिरावट आई है. साल 2019 की तुलना में एचआईवी की रोकथाम और उपचार के साथ पहुंचने वाले लोगों की संख्या में पिछले साल 11 प्रतिशत की गिरावट आई है जबकि एचआईवी टेस्टिंग में 22 प्रतिशत की गिरावट आई है. ज्यादातर देशों में नए उपचार को रोक दिया गया है.

    टीबी के खिलाफ लड़ाई पर पड़ा असर
    साल 2020 में कोविड संक्रमण के बावजूद एचआईवी के लिए जीवन रक्षक एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी कराने वालों की संख्या 8.8 प्रतिशत बढ़कर 21.9 मिलियन हो गई. रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर में टीबी के खिलाफ लड़ाई पर कोरोनावायरस महामारी का प्रभाव ‘गंभीर’ प़ड़ा.

    रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन देशों में ग्लोबल फंड ने निवेश किया है वहां टीबी के इलाज के लिए लोगों की संख्या में 19% की गिरावट आई है वही टीबी का गहन इलाज करा रहे लोगों की संख्या में 37 प्रतिशत की बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. फंड के अनुसार साल 2020 में लगभग 47 करोड़ लोगों का टीबी का इलाज किया गया. साल 2019 में इलाज कराने वालों लोगों की संख्या यह लगभग 10 लाख कम है. रिपोर्ट में पाया गया है कि मलेरिया के खिलाफ जारी जंग कोविड -19 के असर से कम प्रभावित हुई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज