अमेरिका की टीका पेंटेंट योजना पर यूरोपीय संघ करेगा चर्चा, शिखर सम्मेलन में उठाया जाएगा मुद्दा

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के तहत बौद्धिक संपदा सुरक्षा छूट के मुद्दे पर अमेरिका के रुख में नाटकीय रूप से बदलाव आया है.

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के तहत बौद्धिक संपदा सुरक्षा छूट के मुद्दे पर अमेरिका के रुख में नाटकीय रूप से बदलाव आया है.

America vaccine paint scheme: विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के तहत बौद्धिक संपदा सुरक्षा छूट के मुद्दे पर अमेरिका के रुख में नाटकीय रूप से बदलाव आया है जो पूर्व में अन्य विकसित देशों के साथ भारत और दक्षिण अफ्रीका द्वारा लाए गए विचार का विरोध कर रहा था.

  • Share this:

ब्रसेल्स. यूरोपीय संघ के नेताओं ने कहा कि कोविड-19 टीका प्रौद्योगिकी पेटेंट छूट को अमेरिका के समर्थन के मद्देनजर 27 देशों का समूह तत्काल इस मुद्दे पर चर्चा करेगा कि उन्हें इसमें शामिल होना चाहिए या नहीं. मुद्दे पर यूरोपीय संघ के नेता पुर्तगाल में शुक्रवार से शुरू हो रहे दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में चर्चा करेंगे.

फ्रांस के राष्ट्रपति एमेन्युएल मैक्रों ने कहा कि वह वैश्विक रूप से लोगों की भलाई के वास्ते कोविड-19 टीकों के लिए बौद्धिक संपदा सुरक्षा छूट का ‘‘पूर्ण रूप से’’ समर्थन करते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि संपन्न देशों की तात्कालिक प्राथमिकता पहले गरीब देशों को अधिक टीके दान करने की होनी चाहिए.

यूरोपीय संघ ने अमेरिका की हां में मिलाई हां

विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) के तहत बौद्धिक संपदा सुरक्षा छूट के मुद्दे पर अमेरिका के रुख में नाटकीय रूप से बदलाव आया है जो पूर्व में अन्य विकसित देशों के साथ भारत और दक्षिण अफ्रीका द्वारा लाए गए विचार का विरोध कर रहा था. यूरोपीय संघ ने हालांकि अमेरिका की ‘हां में हां’ नहीं मिलाई है और राष्ट्रपति जो. बाइडन के कदम का सामान्य रूप से स्वागत किया है.
जानिए क्या है पूरा मामला?

उल्लेखनीय है कि बाइडन प्रशासन ने कोविड-19 रोधी टीके की आपूर्ति बढ़ाने के लिए बौद्धिक संपदा अधिकार (आईपीआर) के कुछ प्रावधानों से अस्थायी तौर पर छूट देने के भारत और दक्षिण अफ्रीका द्वारा विश्व स्वास्थ्य संगठन को दिए प्रस्ताव के समर्थन की घोषणा की है. अमेरिका की व्यापार प्रतिनिधि कैथरीन ताए ने बुधवार को कहा कि यह वैश्विक स्वास्थ्य संकट है और कोविड-19 महामारी की असाधारण परिस्थितियों में असाधारण कदम उठाने की आवश्यकता है.

ये भी पढ़ेंः- हवा में उड़ते ही एयर एंबुलेंस का पहिया गिरा, यूं बची 5 लोगों की जान...देखें VIDEO




ताइ ने कहा, ‘‘बाइडन प्रशासन बौद्धिक संपदा संरक्षण का कड़ा समर्थन करता है लेकिन इस महामारी के दौर में वह कोविड-19 टीकों के लिए संबंधित अधिकारों में छूट देने का समर्थन करता है.’’ बाइडन प्रशासन के फैसले से डब्ल्यूटीओ की महापरिषद को इस प्रस्ताव को पारित करने में आसानी होगी. डब्ल्यूटीओ की महापरिषद की बैठक इस समय जिनेवा में चल रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज