लाइव टीवी

7 महीने बाद भारत को मिलेंगे 4 राफेल, राजनाथ ने बताया-इस समय तक मिल पाएंगे सभी 36 विमान

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 5:00 PM IST
7 महीने बाद भारत को मिलेंगे 4 राफेल, राजनाथ ने बताया-इस समय तक मिल पाएंगे सभी 36 विमान
राजनाथ सिंह ने राफेल विमान में करीब 25 मिनट उड़ान भरी.

फ्रांस की ओर से भारत को पहला राफेल (Rafale air craft) सौंपा गया. फ्रांस में इसे रिसीव करने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पहुंचे. उन्होंने राफेल की बाकायदा पूजा की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 5:00 PM IST
  • Share this:
पेरिस. विजयदशमी के मौके पर फ्रांस की ओर से भारत को पहला राफेल (Rafale air craft) सौंपा गया. फ्रांस में इसे रिसीव करने के लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) पहुंचे. उन्होंने राफेल की बाकायदा पूजा की. पूजा करने के बाद राजनाथ ने राफेल लड़ाकू विमान में कुछ देर तक उड़ान भी भरी. रक्षा मंत्री ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि चार लड़ाकू विमानों की प्रथम खेप मई 2020 में आएगी. 36 लड़ाकू विमानों में से 18 विमान फरवरी 2021 तक सौंप दिए जाएंगे, जबकि शेष विमान अप्रैल-मई 2022 तक मिल जाने की उम्मीद है.

बता दें कि भारत ने 59,000 करोड़ रुपये के सौदे के तहत सितंबर 2016 में फ्रांस से 36 लड़ाकू विमान खरीदने का आर्डर दिया था. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार को कहा कि उन्होंने फ्रांसीसी समकक्ष के साथ ‘सार्थक बातचीत’ की और इस दौरान उन्होंने द्विपक्षीय रक्षा संबंधों के सभी मुद्दों की समीक्षा की. राजनाथ सिंह का फ्रांस के रक्षा मंत्रालय के मुख्यालय ‘होटल डे ब्रायन’ में मंगलवार रात सैन्य सलामी गारद से स्वागत किया गया. इससे पहले उनका दिन भर व्यस्त कार्यक्रम रहा और इस दौरान उन्होंने भारतीय वायु सेना की ओर से पहला राफेल लड़ाकू जेट विमान प्राप्त किया.


Loading...

रक्षा मंत्री सिंह ने बैठक के बाद बुधवार को ट्वीट किया, ‘फ्रांस की रक्षा मंत्री के साथ पेरिस में वार्षिक रक्षा वार्ता के दौरान उपयोगी चर्चा हुई.’ उन्होंने कहा, ‘हमने अपने द्विपक्षीय रक्षा संबंधों के सभी मुद्दों का आकलन और समीक्षा की.’ इससे पहले राजनाथ सिंह ने नए विमान का शस्त्र पूजन किया और कहा, ‘यह भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी में एक नया मील का पत्थर है और द्विपक्षीय रक्षा सहयोग एक नए मुकाम पर पहुंच है. ऐसी उपलब्धियां हमें और कार्य करने के लिए प्रेरित करती हैं और जब मैं मंत्री पार्ली से मुलाकात करूंगा तो यह मेरे एजेंडे में होगा.’

राजनाथ सिंह फ्रांस की तीन दिवसीय यात्रा पर हैं और वह फ्रांसीसी बहुराष्ट्रीय कंपनी सफरन का भी दौरा करेंगे, जो राफेल लड़ाकू जेट के लिए इंजन का उत्पादन करती है. उनकी यात्रा फ्रांसीसी व्यापार और उद्योग जगत के प्रमुख लोगों के साथ बैठक के साथ समाप्त होगी. वह उन लोगों को अगले साल पांच से आठ फरवरी तक लखनऊ में आयोजित होने वाले डेफएक्सपो में भाग लेने के लिए औपचारिक निमंत्रण भी देंगे.



सिंह ने अपनी यात्रा की शुरुआत फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों से उनके आधिकारिक आवास एलिसी पैलेस में मुलाकात से की थी. उन्होंने विमान में करीब 25 मिनट उड़ान भरने के बाद कहा था कि यह विमान भारतीय वायुसेना की लड़ाकू क्षमता को बहुत ज्यादा बढ़ाएगा, लेकिन इस क्षमता का मकसद हमला नहीं बल्कि यह आत्मरक्षा के लिए प्रतिरोधी शक्ति है. इस उपलब्धि का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है.

यह भी पढ़ें- 

प्रधानमंत्री मोदी की इच्छाशक्ति ने ऐसे बदला सेना का नजरिया
PM मोदी के लिए तैयार हो रहा नया विशेष विमान, होंगी ये खूबियां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए यूरोप से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 4:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...