अपना शहर चुनें

States

PIA के परिचालन पर रोक कायम, यूरोपीय देशों ने प्रतिबंध हटाने से किया इनकार

फोटो सौ. (Reuters)
फोटो सौ. (Reuters)

पाकिस्तान की राष्ट्रीय विमानन सेवा पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स पर मुसीबत अभी भी जारी है. दरअसल, यूरोपीय यूनियन (European Union) के देशों ने PIA के परिचालन पर रोक को कायम रखने का फैसला किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 5:39 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. यूरोपीय यूनियन (European Union) के देशों ने पाकिस्तान की राष्ट्रीय विमानन सेवा पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स (PIA) के परिचालन पर रोक को कायम रखने का फैसला किया है. यूरोपीय यूनियन ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि वह लाइसेंस प्रक्रिया तथा सुरक्षा चिंताओं पर ध्यान देने के लिए पाकिस्तान के नागरिक विमानन प्राधिकरण की कार्रवाई से असंतुष्ट है. जुलाई 2020 में यूरोपीय संघ के सदस्य देशों ने पाकिस्तान में पायलटों के फर्जी लाइसेंस को देखते हुए छह महीने के लिए रोक लगा दी थी.

आयोग ने संसद में पाकिस्तान के नागर विमानन मंत्री के एक भाषण का उल्लेख करते हुए पायलटों को लाइसेंस जारी करने पर चिंता प्रकट की थी। भाषण में कहा गया था कि एक तिहाई पाकिस्तानी पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस हैं. मंत्री के बयान से दो दिन पहले 22 मई को कराची हवाई अड्डे के पास पीआईए का एक यात्री विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें 97 यात्री मारे गये थे. कराची प्लेन एक्सीडेंट के बाद से संसद में जांच रिपोर्ट पेश करने के दौरान नागर विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने कहा था कि पीआईए के 40 फीसदी पायलटों के लाइसेंस फर्जी हैं. पाकिस्तान में कुल 860 कमर्शियल पायलट हैं. मंत्री ने दावा किया था कि जिन पायलटों की जांच की जा रही है, उनकी भर्ती इमरान खान सरकार के कार्यकाल के पहले हुई है.

ये भी पढ़ें: ग्रीस के पत्रकार का दावा- एर्दोगन बना रहे कश्मीर में आतंकियों को भेजने की योजना



अन्य देशों ने भी लगाई है PIA पर रोक
यूरोपीय यूनियन के अलावा दुनियाभर के कई अन्य देशों ने भी पीआईए के उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है. इसमें कुवैत, ईरान, मलेशिया, जॉर्डन और यूएई जैसे मुस्लिम देश भी शामिल हैं. जो पाकिस्तान के पायलटों पर भरोसा नहीं कर रहे हैं. अमेरिका ने भी पाकिस्तान के फर्जी पायलटों को लेकर चिंता जताई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज