अपना शहर चुनें

States

कोरोना से जूझ रहे ईरान की मदद के लिए यूरोप ने भेजे मास्क, दवाएं और प्रोटेक्टिव सूट

वुहान से वापस आने वाले लोग अपने लौटने के फैसले पर अब अफसोस जाहिर कर रहे हैं.
वुहान से वापस आने वाले लोग अपने लौटने के फैसले पर अब अफसोस जाहिर कर रहे हैं.

यूरोप और ईरान (Iran) के बीच इस समझौते को इंस्टेक्स ट्रेडिंग मैकेनिज्म (INSTEX trading mechanism) का नाम दिया गया है. ईरान के साथ व्यापार करने वालों पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की अमेरिका की धमकी के बाद यूरोपीय देशों ने ये बीच का रास्ता निकाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 3:38 PM IST
  • Share this:
तेहरान. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की मार झेल रहे ईरान (Iran) की अपील के बाद यूरोपीय देशों ने मदद के तौर पर मास्क, दस्ताने, दवाएं, टेस्ट किट और प्रोटेक्टिव सूट भेजे हैं. अमेरिका (USA) और ईरान के बीच जारी तनाव के बावजूद ईरान की अपील के बाद फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन ने ये मदद भेजी है. ये सामान एक नई ट्रेड डील के तहत भेजा गया है जिसमें जीवन रक्षक सामग्री और खाने-पीने के सामान का बार्टर सिस्टम के तहत आदान-प्रदान किया जाना है.

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक यूरोपीय देशों ने ये मदद अमेरिका के ईरान के साथ 2015 में हुई परमाणु डील के मुकर जाने के बाद की है. जर्मनी के विदेश मंत्री ने बताया कि ईरान की सरकार से इस चिकित्सकीय सामग्री के लेन-देन को लेकर काफी वक़्त से बात चल रही थी और यूरोप ने पहल करते हुए मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. आने वाले समय में दोनों पक्षों की तरफ से इस तरह की चीज़ों का लेन-देन जारी रहेगा.

अमेरिकी प्रतिबंधों से बचने के लिए बनाया नया सिस्टम
यूरोप और ईरान के बीच इस समझौते को इंस्टेक्स ट्रेडिंग मैकेनिज्म (INSTEX trading mechanism) का नाम दिया गया है. ईरान के साथ व्यापार करने वालों पर आर्थिक प्रतिबंध लगाने की अमेरिका की धमकी के बाद यूरोपीय देशों ने ये बीच का रास्ता निकाला है जिससे अमेरिका की शर्तों का भी उल्लंघन नहीं होता है. कोरोना संक्रमण झेल रहा ईरान लगातार यूरोपीय देशों से इस समझौते के तहत मदद की अपील कर रहा था.
ऐसी ख़बरें हैं कि यूरोपीयन यूनियन के सभी देशों ने ईरान के साथ इस समझौते पर सहमति जाहिर की थी. आने वाले दिनों में फिनलैंड, स्वीडन, नॉर्वे, डेनमार्क, बेल्जियम और नीदरलैंड भी इस समझौते के तहत लेन-देन शुरू कर सकते हैं. बता दें कि ईरान में अभी तक 41000 से ज्यादा कोरोना संक्रमित सामने आ चुके हैं जबकि 2700 से ज्यादा लोगों की इस संक्रमण से मौत हो गयी है.



ये भी पढ़ें:-

दुनिया का सबसे अमीर राजा 20 औरतों के हरम में किस शान से कर रहा है आइसोलेशन

क्या ब्रेड, पाव, बन खाने से हो सकता है कोरोना-दावे में कितनी है सच्चाई

ठीक होने के बाद कोविड 19 मरीज़ दोबारा कैसे हो सकता है पॉज़िटिव?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज