अपना शहर चुनें

States

रूस: व्लादिमीर पुतिन को भारत से उम्मीदें, कहा- आने वाले साल में बेहतर होंगे रिश्ते

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो)
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (फाइल फोटो)

व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने कहा कि रूस और भारत रणनीतिक साझेदारियों के संबंध से जुड़े थे. ये संबंध कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी समेत इस साल की कई मुश्किलों के बाद भी आत्मविश्वास के साथ विकसित हो रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2020, 12:27 PM IST
  • Share this:
मॉस्को. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर (Vladimir Putin) पुतिन साल 2021 के बेहतरीन होने की उम्मीद कर रहे हैं. उन्होंने भारत (India) को लेकर भी कई बड़ी बातें की हैं. इस दौरान पुतिन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind), प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को बीते क्रिसमस (Christmas) और नए साल (New Year) की बधाई भेजी है. उन्होंने उम्मीज जताई है कि आने वाले नए साल में भी रूस और भारत एक-दूसरे को सहयोग और बेहतर होने लिए काम करते रहेंगे.

व्लादिमीर पुतिन को उम्मीद है कि भारत और रूस अगले साल द्विपक्षीय सहयोग के लिए काम करते रहेंगे. भारत के राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी को बधाई देने के दौरान पुतिन ने कहा कि रूस और भारत रणनीतिक साझेदारियों के संबंध से जुड़े थे. ये संबंध कोरोना वायरस महामारी समेत इस साल की कई मुश्किलों के बाद भी आत्मविश्वास के साथ विकसित हो रहे हैं.

इस दौरान पुतिन ने ब्रिक्स और शंघाई कॉर्पोरेशन का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा दोनों देश एक मजबूत राजनीतिक संवाद रखते हैं और कई क्षेत्रों में मिल कर प्रोजेक्ट का वादा करते हैं. क्रेमलिन की तरफ से जारी बयान में उन्होंने कहा कि शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गेनाइजेशन और ब्रिक्स से बेहतर नतीजे मिले हैं. पुतिन मानते हैं कि आने वाले समय में भी भारत और रूस के रिश्ते बेहतर होंगे.



कोरोना से मौत के मामले में नंबर तीन पर रूस
महीनों से राष्ट्पति पुतिन देश में कोरोना वायरस के मामले में कम मृत्यु दर का दावा कर रहे थे. लेकिन सोमवार को रूस ने यह माना है कि देश में मौतों का आंकड़ा पहले बताए गए आंकड़ों से तीन गुना से भी ज्यादा है. इस लिहाज से रूस कोरोना वायरस से मौत के मामले में तीसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बन गया है.

रॉसस्टेट स्टेटिस्टिक्स एजेंसी ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में जनवरी से नवंबर के बीच सभी कारणों से होने वाली मौतों में 2 लाख 29 हजार 700 की बढ़त हुई है. डिप्टी पीएम तातियाना गालिकोवा ने कहा '81 फीसदी से ज्यादा बढ़ी मृत्युदर का कारण कोविड है.' इस लिहाज से रूस में 1 लाख 86 हजार से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से मारे गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज