विशेषज्ञों ने स्वेज नहर में अटके विशालकाय पोत के तल का मुआयना किया

(Suez Canal Authority via AP)

(Suez Canal Authority via AP)

दो अधिकारियों ने बताया कि मुआयने के दौरान पोत के तल के अगले हिस्से में कुछ नुकसान पाया गया है. इनमें से एक अधिकारी ने कहा कि विशेषज्ञ वास्तविक नुकसान की पड़ताल कर रहे हैं.

  • Share this:
काहिरा. विशेषज्ञों ने स्वेज नहर (Svez Canal) में फंसे पोत के तल का मुआयना किया जिसमें कुछ नुकसान का पता चला है, लेकिन यह नुकसान उतना नहीं है कि जहाज को सेवा से बाहर करना पड़े. अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी. तल का मुआयना इस जांच का हिस्सा था कि किस वजह से ‘एवर गिवेन’ पोत स्वेज नहर में फंसा. यह पोत अब ‘ग्रेट बिटर लेक’ में खड़ा है.

स्वेज नहर में लगभग एक सप्ताह से फंसे इस विशालकाय मालवाहक पोत को अंततः सोमवार को निकाल लिया गया जिसके बाद विश्व के सबसे अहम जलमार्गों में से एक पर आया संकट समाप्त हो गया. पोत के फंसे होने से समुद्री परिवहन में प्रतिदिन अरबों डॉलर का नुकसान हो रहा था. रेतीले किनारे पर अटके ‘एवर गिवेन’ को निकालने के लिए कई ‘टगबोट’ का इस्तेमाल किया गया जहां वह 23 मार्च से फंसा हुआ था.

वास्तविक नुकसान की हो रही पड़ताल

दो अधिकारियों ने बताया कि मुआयने के दौरान पोत के तल के अगले हिस्से में कुछ नुकसान पाया गया है. इनमें से एक अधिकारी ने कहा कि विशेषज्ञ वास्तविक नुकसान की पड़ताल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि नुकसान इतना नहीं है कि इससे पोत का नौवहन बाधित हो या इसे सेवा से बाहर करना पड़े.
ये भी पढ़ें- कपड़ा धोने के बाद अब आयरन,तमिलनाडु में वोटर्स को लुभाने के लिए नेता कर रहे जतन

अधिकारी ने कहा कि पोत की अगली गतिविधि ‘‘कई कानूनी और प्रक्रियागत’’ कदमों पर निर्भर करेगी जिसके बारे में नहर के अधिकारी ‘एवर गिवेन’ के संचालक से चर्चा करेंगे.

(Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज