लाइव टीवी

बेटे के जन्म पर मांगी छुट्टी, कंपनी ने पहले मांगी DNA रिपोर्ट, बाद में नौकरी से निकाला

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 6:44 PM IST
बेटे के जन्म पर मांगी छुट्टी, कंपनी ने पहले मांगी DNA रिपोर्ट, बाद में नौकरी से निकाला
जापान में माता पिता बनने पर एक साल की छुट्टी दी जाती है. प्रतीकात्मक फोटो

जापान (JaPan) में बच्चे के जन्म पर माता-पिता को एक साल तक की छुट्टी देने का प्रावधान है. जिस जगह बच्चों के लिए नर्सरी नहीं होती, वह कंपनियां छह महीने की अतिरिक्त छुट्टी देती हैं. जापान (JaPan) उन देशों में से है, जो दुनिया में सबसे कम जन्म दर (lowest birth rates) के कारण परेशान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 6:44 PM IST
  • Share this:
टोक्यो: जापान (JaPan) में एक ऐसे शख्स का मामला सामने आया है, जिसे उसकी कंपनी ने पिता बनने पर छुट्टी (Paternity Leave) देने से मना कर दिया. उसे न सिर्फ छुट्टी देने से मना किया, बल्कि उसे धमकाया और नौकरी से भी निकाल दिया. इसके बाद उसने अपनी कंपनी के खिलाफ कोर्ट का रुख किया. अब इस मामले में कोर्ट में सुनवाई हो रही है. ये मामला दरअसल 2015 का है. जापान में पैटरनिटी लीव का इस तरह का दूसरा मामला है. हालांकि इस देश में ऐसा होता नहीं है. जापान (JaPan) में बच्चे के जन्म पर माता-पिता को एक साल तक की छुट्टी देने का प्रावधान है. जिस जगह बच्चों के लिए नर्सरी नहीं होती, वह कंपनियां छह महीने की अतिरिक्त छुट्टी देती हैं. जापान (JaPan) उन देशों में से है, जो दुनिया में सबसे कम जन्म दर (lowest birth rates) के कारण परेशान है.

49 वर्षीय ग्लेन वुड मूलत: कनाडा से हैं, लेकिन पिछले तीन दशक से जापान में रह रहे हैं. अब वह यहीं के निवासी के हैं. वह जापान में मित्शुबिशी मोर्गन स्टेनली सिक्युरिटीज में काम करते हैं. अक्टूबर 2015 में उनकी पत्नी ने नेपाल में प्रीमेच्योर बच्चे को जन्म दिया. वुड की पत्नी नेपाल में काम करती थीं, इसलिए बच्चे का जन्म वहीं हुआ. वुड ने कंपनी में पैटरनिटी लीव के लिए आवेदन दिया. उन्होंने ये आवेदन बच्चे के जन्म से पहले ही दिया था.

ICU में था बेटा, लेकिन नहीं जा पाए
वुड तब ये देखकर चौंक गए जब कंपनी ने कहा कि वह एक डीएनए रिपोर्ट कंपनी को सौंपें, जिससे ये साबित हो कि उनका बच्चे के साथ पिता का रिश्ता है. वुड ने कहा, मैं जानता था कि कई कंपनियां इस तरह की हरकत करती हैं. लेकिन मेरे साथ ये तब हो रहा था, जब कि मुझे इमरजेंसी में छुट्टियों की जरूरत थी. मेरा बच्चा आईसीयू में एडमिट था.

दो महीने बाद मिली छुट्टी
कंपनी ने क्रिसमस तक मेरी छुट्टी मंजूर नहीं की और मैं तब तक अपने बच्चे को देखने के लिए नहीं जा पाया. इसके बाद वह अपने बच्चे को देखने के लिए जा पाए. मार्च 2016 में वह नेपाल से अपने बच्चे को लेकर जापान लौटे. जब कंपनी में लौटे तो उन्हें साइडलाइन कर दिया गया. उनके साथ कंपनी में जिस तरह का व्यवहार किया गया, उससे वह डिप्रेशन में चले गए. इसके बाद उन्होंने छह महीने की मेडिकल लीव ली.

इसके बाद जब ग्लेन वुड लौटे तो कंपनी ने उन्हें हटाने के लिए उन्हें अवैतनिक अवकाश पर रखा. अपने जवाब में मित्शुबिशी यूएफजे मोर्गन स्टेनली सिक्युरिटीज ने कहा कि हम अपने कर्मचारियों का शोषण नहीं करते हैं. हम हमेशा उनके अधिकारों का समर्थन करते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 6:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...