जिम्बाब्वे में तख्ता पलट की खबरें लेकिन सेना ने किया इनकार

News18Hindi
Updated: November 15, 2017, 10:07 AM IST
जिम्बाब्वे में तख्ता पलट की खबरें लेकिन सेना ने किया इनकार
हरारे में टैंक पर बैठे दो जवान
News18Hindi
Updated: November 15, 2017, 10:07 AM IST
जिम्बाब्वे की राजधानी हरारे में तीन विस्फोटों के बाद सेना ने सरकारी टीवी ब्रॉडकास्टर को सीज कर दिया है. हालांकि सेना ने इसे तख्तापलट कहने से इनकार कर दिया है. उसका कहना है कि राष्ट्रपति राबर्ट मुगाबे सुरक्षित हैं. हम केवल अपराधियों को निशाना बना रहे हैं. वहीं सेना के जवानों को राजधानी में राहगीरों को मारते और सेना के तीन वाहनों में गोला बारूद भरते देखा गया है.

सैनिकों से घिरा राष्ट्रपति का घर
जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति का घर सैनिकों से घिरा देखा गया है. वहां गोलियों की आवाज भी सुनी गई हैं. लेकिन ऐसी भी संभावना जताई जा रही है कि 37 साल का शासन जाते देख खुद की रक्षा के लिए फायरिंग की गई है.

यूनिवर्सिटी के नजदीक भी फायरिंग

रिपोर्टे के मुताबिक, जिम्बाम्बे यूनिवर्सिटी के भी नजदीक भी विस्फोट की आवाज सुनी गई है. जिम्बाब्वे के सेना प्रमुख ने कहा, वह सोमवार को ही राष्ट्रपति मुगाबे के विरोधियों के खत्म करने के लिए कदम उठा सकते थे. तनाव के बीच सेना के टैंक सिटी सेंटर की ओर आते हुए देखे गए.

यूएस एंबेसी ने किया ट्वीट
इस दौरान राजधानी में स्थित यूएस एंबेसी ने ट्वीट किया करते हुए कहा है, 'यहां अनिश्चितता चल रही है.' इसके बाद एंबेसी ने यूएस नागरिकों को कहा है, 'आगे की सूचना तक सूरक्षित स्थान पर रहें.' ब्रिटिश सरकार ने कहा है, अनिश्चित राजनैतिक स्थिति को देखते हुए ब्रिटिश नागरिक घरों में ही रहें.

सुरक्षित हैं राष्ट्रपति
ये भी कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के घर के पास जुटे क्रिमिनल्स को टार्गेट करते हुए फायरिंग की गई है. यह सैन्य शासन लगाने का प्रयास नहीं है. राष्ट्रपति और उनका परिवार सुरक्षित हैं.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर