फिर से दुनिया का सबसे खुशहाल देश बना फिनलैंड, जानें कितने नंबर पर है भारत

फिर से दुनिया का सबसे खुशहाल देश बना फिनलैंड, जानें कितने नंबर पर है भारत
फिनलैंड लगातार तीसरी बार दुनिया का सबसे खुशहाल देश बना है.

यूनाइटेड नेशंस (UN) ने लगातार तीसरे साल फिनलैंड को दुनिया का सबसे खुश देश घोषित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 21, 2020, 12:26 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
फिनलैंड (Finland) को एक बार फिर से दुनिया का सबसे खुशहाल देश (happiest Country) घोषित किया गया है. यूनाइटेड नेशंस (UN) ने लगातार तीसरे साल फिनलैंड को दुनिया का सबसे खुशहाल देश घोषित किया है. रिसर्चर के वर्ल्ड हैप्पीनेस रिपोर्ट के आधार पर फिनलैंड को ये उपलब्धि हासिल हुई है.

दुनियाभर के करीब 153 देशों में हैप्पीनेस के लेवल को लेकर लोगों से जानकारी मांगी गई थी. हैप्पीनेस के लेवल को लेकर जीडीपी, सामाजिक समर्थन, व्यक्तिगत आजादी और भ्रष्टाचार के मामलों को आधार बनाया गया था. इन सब लेवल पर फिनलैंड ने लगातार तीसरी बार बाजी मारी.

फिनलैंड के बाद सबसे ज्यादा खुश रहने वाले देशों में डेनमार्क, स्विटजरलैंड, आईसलैंड, नॉर्वे, नीदरलैंड, स्वीडेन, न्यूजीलैंड और आस्ट्रिया शामिल हैं. इस लिस्ट में पहली बार लग्जमबर्ग का नाम सामने आया है. लग्जमबर्ग टॉप हैप्पीनेस वाले देशों में दसवें स्थान पर है.



खुश रहने वाले देशों में नीचले पायदान पर है भारत



हैप्पीएस्ट देशों की लिस्ट में कनाडा का स्थान ग्यारहवां, आस्ट्रेलिया का 12वां और यूनाइटेड किंगडम का स्थान 13वां हैं. अमेरिका को इस लिस्ट में 18वां स्थान हासिल हुआ है.

सबसे खुश देशों की लिस्ट में भारत का स्थान 144वां है. भारत अपने पड़ोसी देशों से भी नीचे हैं. नेपाल को लिस्ट में 15वां पाकिस्तान को 29वां और बांग्लादेश को 107वां स्थान हासिल है. श्रीलंका को 130वें स्थान पर रखा गया है.

हैप्पीनेस लेवल पर रिसर्च करने वाले एक रिसर्चर का कहना है कि सबसे खुश देश वो हैं, जहां के नागरिक संपन्न महसूस करते हों, जहां लोगों का एकदूसरे पर भरोसा हो और वो एकदूसरे का साथ पसंद करते हों, साथ ही वो विभिन्न संस्थानों को भी साझा करते हों.

हाई क्वालिटी वाला लाइफ जीते हैं फिनलैंड के लोग
हैप्पीनेस लेवल के लिस्ट में नीचले पायदान पर वो देश हैं, जहां हिंसा से प्रभावित हैं और गरीबी से जूझ रहे हैं. जिम्बाब्वे, साउथ सूडान और अफगानिस्तान सबसे कम खुश देशों में शामिल हैं.

फिनलैंड में सर्दी की लंबी अवधि की वजह से लोग अक्सर शराब के आदी हो जाते हैं, उनमें आत्महत्या की प्रवृति बढ़ जाती है. लेकिन इसके बावजूद फिनलैंड के लोग हाई क्वालिटी वाला जीवन जीते हैं. सुरक्षा और पब्लिक सर्विस के मामलों में देश सबसे आगे है. यहां गैरबराबरी और गरीबी कम है.

ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस के संकट के बीच नॉर्थ कोरिया ने दागे दो बैलेस्टिक मिसाइल
कोरोना वायरस से बेपरवाह युवाओं को WHO की चेतावनी- आप भी खतरे से बाहर नहीं
अमेरिका की टॉप लीडरशिप के नजदीक पहुंचा कोरोना वायरस, उपराष्ट्रपति का स्टाफ संक्रमित
कैंसर से जीत गया लेकिन कोरोना वायरस ने छीनी जिंदगी, सिर्फ 2 हफ्ते में हुई मौत
अमेरिका में शर्मनाक है कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच का तौर तरीका
कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार बना दुनिया का दूसरा कुत्ता, पहले की हो चुकी है मौत
इटली में कोरोना वायरस का कोहराम, चीन से भी ज्यादा हुई मौतें
First published: March 21, 2020, 12:26 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading