भारत में मिले कोरोना वायरस से जुड़ा पहला केस श्रीलंका में, ब्रिटेन बता चुका है चिंताजनक

एमपी अब कोरोना पॉजिटिविटी रेट के मामले में 15 वें नंबर पर आ गया है(फाइल फोटो)

एमपी अब कोरोना पॉजिटिविटी रेट के मामले में 15 वें नंबर पर आ गया है(फाइल फोटो)

Sri lanka: श्रीजयवर्धनेपुरा विश्वविद्यालय के रोग प्रतिरक्षा एवं आणविक चिकित्सा विभाग की ओर से शनिवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि संक्रमित व्यक्ति भारत से आया और वापस आने वाले लोगों के लिए बनाए गए कोलंबो के एक पृथक-वास केंद्र में रह रहा था.

  • Share this:

कोलंबो. श्रीलंका में शनिवार को भारत में मिले कोरोना वायरस (Covid Variant B1617) (बी.1.617) का पहला मामला भारत से हाल ही में लौटे एक व्यक्ति में सामने आया है. यह व्यक्ति कोलंबो के पृथक-वास केंद्र में रह रहा था. श्रीजयवर्धनेपुरा विश्वविद्यालय के रोग प्रतिरक्षा एवं आणविक चिकित्सा विभाग की ओर से शनिवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया कि संक्रमित व्यक्ति भारत से आया और वापस आने वाले लोगों के लिए बनाए गए कोलंबो के एक पृथक-वास केंद्र में रह रहा था.

कोलंबो गैजेट की रिपोर्ट के मुताबिक, इस व्यक्ति का नमूना भी अन्य कई नमूनों के साथ 30 अप्रैल तक एकत्र किया गया था. एक सरकारी बयान में श्रीलंका में अब तक पाए गए वायरस के अन्य स्वरूपों के बारे में भी जानकारी साझा की गई है. श्रीलंका में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के कारण एक ही दिन में सर्वाधिक 19 लोगों की मौत हो गई. देश में अब तक 764 मरीजों की इस घातक वायरस के चलते जान जा चुकी है.

भारतीय वेरिएंट को चिंताजनक बता चुका है ब्रिटेन

इससे एक दिन पहले ब्रिटेन ने भी भारत में मिले कोरोना वायरस को चिंताजनक बताया था. यहां के पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड (पीएचई) ने कहा है कि भारत में मिले तीन वायरस में से एक बी.1.617.2 ज्यादा खतरनाक है. ये बाकी दो वेरिएंट बी.1.617 और बी.1.617.3 से अधिक संक्रामक और तेजी से फैलने वाला है. इन दो वेरिएंट पर अभी शोध किया जा रहा है.
ये भी पढ़ेंः- कोरोना के खिलाफ कैसे काम करेगी DRDO की नई दवा, जानें हर सवाल का जवाब


भारत में तेजी से पैर पसार रहा है कोरोना



भारत में भी कोरोना वायरस की दूसरी घातक लहर के लिए इन वेरिएंट को ही जिम्मेदार बताया जा रहा है. यहां बीते कुछ समय से 3 लाख से 4 लाख या इससे भी अधिक मामले सामने आ रहे हैं और रिकॉर्ड संख्या में मरीजों की मौत हो रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज