PoK के शारदा पीठ में 72 साल बाद जला दिया, हांगकांग से आए दंपति ने की पूजा

हांगकांग के रहने वाले पी. टी. वेंकटरमन और उनकी पत्नी सुजाता को पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में शारदा पीठ (Sharda shrine) का वीजा मिला था. दुर्गा अष्टमी के दिन वो यहां पहुंचे और विधिवत मां शारदा की पूजा की. दंपति हांगकांग से ही अपने साथ मां शारदा और स्वामी नंदलाल जी की फोटो लेकर आए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 8, 2019, 9:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) में स्थित प्राचीन हिंदू मंदिर और सांस्कृतिक स्थल शारदा पीठ (Sharda shrine) में 72 साल बाद पूजा हुई. हांगकांग के एक हिंदू दंपति ने ये पूजा की. पूजा के लिए सेव शारदा कमेटी और पीओके के लोगों ने सहयोग दिया. पाकिस्तान सरकार (Pakistan Government) ने हाल ही में इस मंदिर का रास्ता खोला है.

हांगकांग के रहने वाले पी. टी. वेंकटरमन और उनकी पत्नी सुजाता को पीओके में शारदा पीठ का वीजा मिला था. दुर्गा अष्टमी के दिन वो यहां पहुंचे और विधिवत मां शारदा की पूजा की. दंपति हांगकांग से ही अपने साथ मां शारदा और स्वामी नंदलाल जी की फोटो लेकर आए थे.

SHARDA PEETH
पाकिस्तान सरकार ने हाल ही में इस मंदिर का रास्ता खोला है.




इस दंपति के आने से पहले बीते तीन दिनों में पीओके के लोगों ने जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाने के विरोध में नियंत्रण रेखा के पास मार्च किया था. ऐसे में भारतीय अधिकारियों ने पीओके की सिविल सोसाइटी से वेंकटरमन दंपति को सुरक्षा मुहैया कराने की अपील की थी.



पूजा के बाद हांगकांग से आए दंपति ने सिविल सोसाइटी के लोगों को मां शारदा और स्वामी नंदलालजी की तस्वीर सौंप दी. ताकि बॉर्डर पर भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव कुछ कम होने के बाद इन्हें श्राइन में स्थापित किया जा सके.

इसे भी पढ़ेंः 

Dussehra 2019: जानें दशहरे का शुभ मुहूर्त, इन कामों को करने से मिलता है शुभ फल


Dussehra Wishes SMS Messages Greetings: दशहरे पर इस ख़ास अंदाज में दोस्तों, रिश्तेदारों को दें बधाई, ये हैं SMS, Greetings 


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading