• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • धरती की तरफ आ रहे हैं 5 नए उल्का पिंड, NASA ने जारी की नई चेतावनी

धरती की तरफ आ रहे हैं 5 नए उल्का पिंड, NASA ने जारी की नई चेतावनी

पृथ्वी पर पानी कैसे आया इस पर शोध का कहना है कि जरूरी नहीं यह बर्फीले स्रोत से ही आया हो.  (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पृथ्वी पर पानी कैसे आया इस पर शोध का कहना है कि जरूरी नहीं यह बर्फीले स्रोत से ही आया हो. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

आने वाले 2-3 दिनों में धरती के करीब से 5 उल्का पिंड (Asteroid) गुजरने वाले हैं. NASA के प्लैनेटरी डिफेंस नेटवर्क के मुताबिक कोई घबराने की बात नहीं है और ये सभी उल्का पिंड धरती से 46.5 लाख मील से कम दूरी से होकर गुजरेंगे.

  • Share this:
    वॉशिंगटन. नासा (NASA) ने एक नई चेतावनी जारी कर कहा है कि आने वाले 2-3 दिनों में धरती के करीब से 5 उल्का पिंड (Asteroid) गुजरने वाले हैं. NASA के प्लैनेटरी डिफेंस नेटवर्क के मुताबिक, कोई घबराने की बात नहीं है और ये सभी उल्का पिंड धरती से 46.5 लाख मील से कम दूरी से होकर गुजरेंगे. धरती से 46.5 लाख मील से करीब आने वाले हर उल्का पिंड की NASA चेतावनी जारी करती है, क्योंकि इन्हें खतरनाक श्रेणी में रखा जाता है.

    NASA के मुताबिक धरती की तरफ तेज रफ़्तार से आने वाले हर उल्का पिंड पर वैज्ञानिकों की नज़र रहती है. NASA का Sentry सिस्टम ऐसे खतरों पर पहले से ही नजर रखता है और आने वाले 100 सालों के लिए फिलहाल 22 ऐसे ऐस्टरॉइड्स हैं, जिनकी पृथ्वी से टकराने या बेहद करीब से गुजरने की आशंका है.





    अगले तीन दिनों में होंगे पृथ्वी की कक्षा में दाखिल
    सबसे पहले दो Asteroid 2013XA22 (310 फीट, 18 लाख मील दूर से) और Asteroid 2020KZ3 (64 फीट, 7 लाख 61 हजार मील दूर से) मंगलवार रात को ही गुजर चुके हैं. हालांकि, ये दोनों ही नुकसान पहुंचाने लायक दूरी तक नहीं पहुंच सके. इसके बाद बुधवार को 65 फीट का Asteroid 2020KY 40 लाख मील की दूरी से गुजरेगा. इसके पीछे 65 फीट का एक और Asteroid अगले दिन गुरुवार को 36 लाख मील करीब तक आएगा. 11 जून को ही 60 फीट का Asteroid और ज्यादा करीब आएगा लेकिन 23 लाख मील की दूरी से ही निकल जाएगा.





    6 जून को भी गुजरा एक उल्का पिंड
    नासा के मुताबिक अमेरिका की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी बड़ा एक उल्का पिंड 6 जून को धरती की कक्षा में दाखिल हुआ था. नासा ने इस उल्का पिंड का नाम रॉक-163348 (2002 NN4) रखा था. इस उल्का पिंड की लंबाई 250 से 570 मीटर के बीच बताई गयी थी, जबकि ये 135 मीटर चौड़ा भी था. नासा के मुताबिक ये उल्का पिंड सूर्य के करीब से गुजरता हुआ धरती की कक्षा में दाखिल हुआ था. सेंटर फॉर नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट स्टडीज़ के मुताबिक बीती 21 मई को भी 1.5 किलोमीटर बड़ा उल्का पिंड धरती के काफी करीब से होकर गुजरा था.

    ये भी पढ़ें:-

    नोबेल विजेता चर्चिल ने ऐसा क्या किया था, जिससे 30 लाख से ज्यादा भारतीय तड़प-तड़पकर मर गए

    कौन थे सफेद मास्क पहने वे लोग, जो रात में घूमकर अश्वेतों का रेप और कत्ल करते?

    किस खुफिया जगह पर खुलती है वाइट हाउस की सीक्रेट सुरंग 

    क्या है डार्क नेट, जहां लाखों भारतीयों के ID चुराकर बेचे जा रहे हैं

    क्या ऑटिज्म का शिकार हैं ट्रंप के सबसे छोटे बेटे बैरन ट्रंप?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज