लाइव टीवी

पाक में कोरोनावायरस संक्रमण की जांच के लिए पांच लोग भर्ती, चार चीनी नागरिक शामिल

भाषा
Updated: January 27, 2020, 4:27 PM IST
पाक में कोरोनावायरस संक्रमण की जांच के लिए पांच लोग भर्ती, चार चीनी नागरिक शामिल
कोरोनावायरस के बारे में सबसे पहले वुहान में पता चला था और यह चीन के बाद अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया समेत पूरे विश्व में फैल गया.

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के तहत पाकिस्तान के विभिन्न शहरों में परियोजनाओं पर काम कर रहे हजारों चीनी नागरिक नियमित तौर पर दोनों देश की यात्रा करते हैं जिससे उनसे इस बीमारी के फैलने का खतरा बढ़ गया है.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोनावायरस (Coronaviruses) के संक्रमण की जांच के लिए चार चीनी नागरिकों समेत कम से कम पांच लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया है. मीडिया में आई एक खबर में यह जानकारी दी गई है. निमोनिया जैसी बीमारी के लिए जिम्मेदार इस नए घातक विषाणु से चीन में 80 लोगों की जान जा चुकी है और 2,700 से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं.

'एक्सप्रेस ट्रिब्यून' अखबार ने स्वास्थ्य मंत्रालय के हवाले से खबर दी कि मुल्तान से दो नमूनों को पुष्टि के लिए हांग कांग (Hong Kong) भेजा गया गया है, क्योंकि पाकिस्तान (Pakistan) की एक भी प्रयोगशाला इस बीमारी का पता लगाने में सक्षम नहीं है. खबर में बताया गया कि मुल्तान के दो मरीजों में से एक पाकिस्तानी नागरिक है.

शनिवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के प्रमुख मेजर जनरल डॉ. आमिर इकरम ने कहा था कि एक चीनी नागरिक को मुल्तान के अस्पताल में भर्ती कराया गया. फ्लू, कफ और बुखार जैसे बीमारी के अन्य लक्षण नजर आने के बाद उसे एक अलग वार्ड में रखा गया. खबर में कहा गया कि जांच परिणाम कुछ दिनों में आने की उम्मीद है.

सूत्रों के मुताबिक चीनी नागरिक चीन से दुबई गया था और 21 जनवरी को कराची पहुंचा था. कराची (Karachi) उतरने के बाद वह विमान से मुल्तान गया था. लाहौर में भी चीन (China) के तीन नागरिकों को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उन्हें शनिवार को अलग-अलग वार्ड में रखा गया. अस्पताल के सूत्रों के मुताबिक ये मरीज चीन के वुहान शहर के रहने वाले हैं और हाल में ही लाहौर पहुंचे थे.



इस बीच विदेश मंत्रालय ने पुष्टि की है कि वुहान और चीन के अन्य हिस्सों में सभी पाकिस्तानी सुरक्षित हैं. आधिकारिक तौर पर 2019-एनसीओवी कहलाने वाले कोरोनावयरस के बारे में सबसे पहले हुबेई प्रांत के राजधानी शहर वुहान में पता चला था और यह पूरे चीन में, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया समेत पूरे विश्व में फैल गया. चीन से हर हफ्ते 41 विमान पाकिस्तान आते हैं जो ज्यादातर चीनी नागरिकों को लाते ले जाते हैं.

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के तहत पाकिस्तान के विभिन्न शहरों में परियोजनाओं पर काम कर रहे हजारों चीनी नागरिक नियमित तौर पर दोनों देश की यात्रा करते हैं जिससे उनसे इस बीमारी के फैलने का खतरा बढ़ गया है. कोरोनावायरस को लेकर चिंता इसलिए बढ़ी हुई है, क्योंकि वह सार्स (सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) जैसी बीमारी फैलाता है. सार्स के चलते 2002-03 के दौरान चीन में करीब 650 लोगों की मौत हो गई

 

ये भी पढ़ें- हांगकांग: कोरोनावायरस संक्रमित लोगों के लिए बनी बिल्डिंग पर फेंके पेट्रोल बम

              जानिए आपकी जेब पर कितना असर डालेगा चीन का जानलेवा कोरोनावायरस!

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 4:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,135,668

     
  • कुल केस

    1,577,445

    +59,485
  • ठीक हुए

    348,111

     
  • मृत्यु

    93,666

    +5,211
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर