नेताओं और सेलिब्रिटी के Twitter अकाउंट करता था हैक, पुलिस ने किया गिरफ्तार

नेताओं और सेलिब्रिटी  के Twitter अकाउंट करता था हैक, पुलिस ने किया गिरफ्तार
कॉन्सेप्ट इमेज.

कैरोलिना (Carolina) उत्तरी जिले के अमेरिकी अटार्नी डेविड एल एंडरसन ने कहा कि आपराधिक हैकर समुदाय में यह झूठी मान्यता है कि इस ट्विटर हैक जैसे हमले को अंजाम देकर वे बच निकलेंगे और उन्हें अपने इस अपराध के लिये कोई अंजाम नहीं भुगतना पड़ेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 7:11 PM IST
  • Share this:
मियामी. इस माह के शुरू में प्रमुख नेताओं, सेलिब्रिटी और प्रौद्योगिकी जगत के उद्योगपतियों के ट्विटर अकाउंट हैक (Twitter Account Hack) करने की साजिश के सरगना रहे और दुनिया भर में लोगों के साथ एक लाख डॉलर से अधिक के 'बिटक्वाइन' का घोटाला करने वाले शख्स की पहचान फ्लोरिडा निवासी एक किशोर के रूप में की गई है. उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. इस मामले में दो अन्य व्यक्तियों को भी आरोपी बनाया गया है. एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, ग्राहम इवान क्लार्क (17) को शुक्रवार को टम्पा में गिरफ्तार (Arrest) किया गया, जहां हिल्सबोरो स्टेट अटार्नी के कार्यालय में उस पर एक वयस्क के रूप में मुकदमा चलाया जाएगा. वह गंभीर अपराध के 30 आरोपों का सामना कर रहा है.

बयान के मुताबिक, हैकिंग से लाभान्वित हुए दो व्यक्तियों --मैसन शेफर्ड (19) और नीमा फजेली (22) को कैलिफोर्निया संघीय अदालत में अलग से आरोपित किया गया है. शेफर्ड ब्रिटेन का जबकि नीमा ओरलैंडो (अमेरिका) निवासी हैं. हाल के वर्षों में सोशल मीडिया अकाउंट की सुरक्षा में सेंध लगाने के सर्वाधिक हाई प्रोफाइल मामलों में शामिल इस प्रकरण के तहत अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा, पूर्व उप राष्ट्रपति जो बाइडेन के अलावा मार्क ब्लूमबर्ग और अमेजन के सीईओ जेफ बीजोस, माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स और टेस्ला के सीईओ एलोन मस्क के ट्विटर अकाउंट से फर्जी ट्वीट किये गए थे. साथ ही, केनये वेस्ट और उनकी पत्नी किम कर्दाशियां वेस्ट जैसी सेलिब्रिटी के टि्वटर अकाउंट भी हैक किये गये थे.

ये भी पढ़ें: कोरोना से मौत के मामलों में मेक्सिको पहुंचा तीसरे नंबर पर, अमेरिका-ब्राजील सबसे ऊपर



इंटरनेट से लेनदेन
इन ट्वीट के जरिये एक अनाम बिटक्वाइन पते पर प्रत्येक 1,000 डॉलर भेजने पर 2,000 डॉलर देने की पेशकश की गई थी. बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है. यह सिर्फ इंटरनेट पर उपलब्ध होती है और उसी के माध्यम से इसका लेन-देना होता है. ट्विटर ने कहा था कि हैकर ने हमारी अंदरूनी प्रणाली तक पहुंचने के लिये कुछ ट्विटर कर्मचारियों की गोपनीय जानकारी सोशल इंजीनियरिंग और स्मार्टफोन के जरिये हासिल कर अकाउंट का प्रबंधन करने वाले कंपनी के डैशबोर्ड में सेंध लगाई थी. कैरोलिना उत्तरी जिले के अमेरिकी अटार्नी डेविड एल एंडरसन ने कहा, 'आपराधिक हैकर समुदाय में यह झूठी मान्यता है कि इस ट्विटर हैक जैसे हमले को अंजाम देकर वे बच निकलेंगे और उन्हें अपने इस अपराध के लिये कोई अंजाम नहीं भुगतना पड़ेगा. ऐसा नहीं होगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading