24 अमेरिकी सांसदों ने की TikTok बैन की मांग, व्हाइट हाउस जल्द लेगा फैसला

24 अमेरिकी सांसदों ने की TikTok बैन की मांग, व्हाइट हाउस जल्द लेगा फैसला
अमेरिका में भी टिकटॉक बैन की तैयारी

अमेरिका (US) और ब्रिटेन (UK) समेत कई देशों में चीनी सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक (TikTok Ban) को बैन करने की मांग तेज हो गयी है. बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की पार्टी रिपब्लिकन के 24 सांसदों ने ख़त लिखाकर सरकार से टिकटॉक पर बैन लगाने की मांग की है.

  • Share this:
वाशिंगटन. भारत (India) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बाद अब अमेरिका (US) और ब्रिटेन (UK) समेत कई देशों में चीनी सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक (TikTok Ban) को बैन करने की मांग तेज हो गयी है. बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की पार्टी रिपब्लिकन के 24 सांसदों ने ख़त लिखकर सरकार से टिकटॉक पर बैन लगाने की मांग की है. इन सांसदों ने कहा है कि भारत ने चीन के खिलाफ सख्त कदम उठाकर एक रास्ता दिखाया है और अब अमेरिका को भी यही करना चाहिए. विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कुछ दिन पहले कहा था कि अमेरिका भी कई चीनी ऐप्स पर बैन लगाने की दिशा में ज़रूरी कदम उठा रहा है.

ट्रंप को लिखे गए इस ख़त में सांसदों ने भारत का उदाहरण देते हुए कहा है कि दुनिया के अन्य देशों को भी इस कदम से सीख लेनी चाहिए. भारत ने राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनज़र 59 चीनी ऐप्स को बैन कर दिया है और अमेरिका को भी अब ये कदम जल्द से जल्द उठाना चाहिए. सांसदों के मुताबिक, चीन की कम्युनिस्ट पार्टी इन ऐप्स के जरिए अमेरिका में घुसपैठ कर रही है. इन ऐप्स के जरिए टिकटॉक जैसे मशहूर ऐप्स डाटा कलेक्शन करते हैं और बाद में इनका इस्तेमाल अपने हितों को साधने में किया जाता है. लेटर में कहा गया है कि अब वक्त आ गया है जब अमेरिकी नागरिकों और संस्थानों के हितों को पूरी तरह से महफूज किया जाए.






टिकटॉक पर फैसला कुछ ही हफ्तों में लिया जाएगा : व्हाइट हाउस
व्हाइट हाउस ने बुधवार को संकेत दिए कि टिकटॉक समेत चीनी मोबाइल ऐप्स पर कोई फैसला महीनों में नहीं बल्कि कुछ हफ्तों के भीतर लिया जा सकता है. व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज ने अटलांटा से राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ एयर फोर्स वन विमान से उड़ान भरते समय पत्रकारों से कहा, 'मुझे नहीं लगता कि कार्रवाई के लिए खुद से कोई समयसीमा तय की गई है लेकिन मुझे लगता है कि इस पर फैसला कुछ हफ्तों में होगा न कि महीनों में.'

मीडोज ने कहा, 'कई प्रशासनिक अधिकारी हैं जो राष्ट्रीय सुरक्षा के खतरे पर विचार कर रहे हैं क्योंकि यह टिकटॉक, वीचैट और अन्य ऐप से जुड़ा है जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है खासतौर से यह एक विदेशी दुश्मन द्वारा अमेरिकी नागरिकों की सूचना एकत्रित करने से जुड़ा है.' अमेरिका में टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के कदम ने भारत में पिछले महीने इस संबंध में लिए गए फैसले के बाद गति पकड़ ली है. विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने एक डिजिटल बैठक में इकोनॉमिक क्लब ऑफ न्यूयॉर्क में कहा, 'भारतीयों ने फैसला किया कि वे भारत में चल रही 50 या उससे अधिक चीनी ऐप्स को हटाने जा रहे हैं. उन्होंने ऐसा इसलिए नहीं किया कि अमेरिका ने उनसे ऐसा करने को कहा था. उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वे चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से भारतीय लोगों को होने वाले खतरे को देख सकते थे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading