पहली बार जीवित व्यक्ति ने किया अंगदान, कोरोना पीड़ित महिला की ट्रांसप्लांट से बची जान

इस सर्जरी के बाद दुनियाभर के डॉक्टर्स के सामने जीवित डोनर्स से शरीर का अंग लेने का विकल्प खुल गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

इस सर्जरी के बाद दुनियाभर के डॉक्टर्स के सामने जीवित डोनर्स से शरीर का अंग लेने का विकल्प खुल गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus Infection: क्योटो यूनिवर्सिटी अस्पताल (Kyoto University Hospital) में करीब 11 घंटों तक चली यह सर्जरी सफल रही है. फिलहाल महिला, उसके पति और बेटे की हालत स्थिर बताई जा रही है. इस सर्जरी में 30 लोगों की टीम शामिल थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2021, 10:50 AM IST
  • Share this:
टोक्यो. कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले बढ़ने के बुरे समाचारों के बीच एक अच्छी खबर भी है. जापान (Japan) में डॉक्टर्स कोरोना वायरस से पीड़िता महिला के फेफड़ों की ट्रांसप्लांट (Transplant) के जरिए सफल सर्जरी की है. यहां सबसे खास बात यह है कि महिला को दो जीवित लोगों के फेफड़े के हिस्से दिए गए हैं. दोनों डोनर महिला का बेटा और पति है. माना जा रहा है कि मेडिकल इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है. चिकित्सकों ने दावा किया है कि महिला जल्द ही पूरी तरह स्वस्थ हो जाएगी.

दुनिया के सामने रखा नया विकल्प

इस सर्जरी के बाद दुनियाभर के डॉक्टर्स के सामने जीवित डोनर्स से शरीर का अंग लेने का विकल्प खुल गया है. सर्जरी का हिस्सा रहे डॉक्टर हिरोशी डेट बताते हैं कि इस सर्जरी के जरिए उन्होंने दुनिया को बताने की कोशिश की है कि जीवित डोनर्स से ट्रांसप्लांट भी एक नया ऑप्शन है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला के बेटे ने दाएं फेफड़े के सेगमेंट्स दिए हैं. जबकि, पति ने बाएं हिस्से के जरिए मदद की है.

यह भी पढ़ें: कैंसर पर भारी कोरोना, दिल्‍ली के इस बड़े अस्‍पताल में अब 50 फीसदी मरीजों को ही मिलेगा इलाज
क्योटो यूनिवर्सिटी अस्पताल में करीब 11 घंटों तक चली यह सर्जरी सफल रही है. फिलहाल महिला, उसके पति और बेटे की हालत स्थिर बताई जा रही है. इस सर्जरी में 30 लोगों की टीम शामिल थी. कहा जा रहा है कि महिला को 2 महीने बाद अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी. हालांकि, नए विकल्प के बाद भी इस तरह की सर्जरी काफी कठिन होती है. दरअसल, अंगदान के लिए डोनर को 13 मेडिकल शर्तों को पूरा करना होता है.



फिर बढ़ा कोरोना का कहर



दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर एक बार फिर बढ़ गया है. भारत में मार्च की शुरुआत से ही बड़ी संख्या में मरीज मिलने शुरू हो गए हैं. हालात यह हो गए हैं कि भारत में कई जगहों पर लॉकडाउन लगाने का फैसला लेना पड़ा है. वर्ल्डोमीटर के आंकड़े बताते हैं कि दुनिया में अब तक 29 लाख 28 हजार 782 लोग इस घातक बीमारी के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं. अकेले भारत में ही 1 लाख 68 हजार 467 मरीजों की मौत हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज