लाइव टीवी

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ सीनेट में शुरू हुई महाभियोग की प्रक्रिया

News18Hindi
Updated: January 17, 2020, 1:14 PM IST
अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ सीनेट में शुरू हुई महाभियोग की प्रक्रिया
अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने सीनेट में महाभियोग की प्रक्रिया शुरू होने पर मजाक उड़ाया.

अमेरिका (US) के इतिहास में तीसरे बार किसी राष्‍ट्रपति (President) के खिलाफ महाभियोग (Impeachment) लाया गया है. राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) पर आरोप है कि उन्‍होंने सत्‍ता का दुरुपयोग (Abuse of Power) किया और कांग्रेस के काम में व्‍यवधान डाला. साथ ही अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ जांच शुरू कराने के लिए यूक्रेन (Ukraine) पर दबाव डाला.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 17, 2020, 1:14 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी कांग्रेस के बाद अब सीनेट (US Senate) में राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) पर महाभियोग की प्रक्रिया शुरू हो गई है. सभी सीनेट सदस्‍यों ने निष्‍पक्ष होकर देश के 45वें राष्‍ट्रपति को पद से हटाने के मामले में फैसला लेने की शपथ ली. अमेरिका के इतिहास में ये तीसरी बार है, जब किसी राष्‍ट्रपति पर महाभियोग (Ompeachment) चलाया जा रहा है. ये तीसरी बार है जब सीनेट महाभियोग की अदालत में तब्‍दील हो गया है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के मुख्‍य न्‍यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स (John Roberts) ने सांसदों को निष्‍पक्षता की शपथ दिलाई. जब काले कपड़ों में सीनेट पहुंचे रॉबर्ट्स ने पूछा कि क्‍या आप सभी अमेरिकी संविधान के मुताबिक निष्‍पक्षता के साथ न्‍याय (Impartial Justice) का साथ देंगे तो सभी ने दायां हाथ उठाकर हामी भरी. इस दौरान 99 सांसद मौजूद थे, जबकि एक गैरहाजिर रहे.

7 मैनेजर चलाएंगे राष्‍ट्रपति ट्रंप पर महाभियोग
सीनेट में इससे पहले ट्रंप पर लगाए गए सत्‍ता के दुरुपयोग और कांग्रेस के काम में व्‍यवधान पैदा करने के आरोपों को पढ़ा गया. ये दोनों महाभियोग के अनुच्‍छेद हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की ओर से सीनेट को भेजे गए हैं. अब इन आरोपों पर बहस शुरू होगी. दोनों पक्षों की ओर से तर्क दिए जाएंगे. सदन की इंटेलिजेंस कमेटी के अध्‍यक्ष सीनेटर एडम स्किफ मामले में अभियोजक हैं. महाभियोग की प्रक्रिया चलाने के लिए 7 महाभियोग मैनेजर नियुक्त किए गए हैं. ये मैनेजर ही राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग को चलाएंगे. एडम स्किफ ने गुरुवार को सीनेट में कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति के दफ्तर का इस्तेमाल गलत तरीके से किया जा रहा है. इससे संविधान की शपथ का उल्‍लंघन हुआ है. डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति पद का गलत इस्तेमाल किया है.

ट्रंप ने महाभियोग प्रक्रिया का फिर उड़ाया मजाक ट्रंप ने सीनेट में महाभियोग की प्रक्रिया शुरू होने पर ट्वीट किया कि मुझ पर एक बेहतरीन कॉल करने के लिए महाभियोग चलाया जा रहा है. ट्रंप पहले भी उन पर शुरू की गई महाभियोग प्रक्रिया का मजाक उड़ा चुके हैं. हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्‍स में महाभियोग शुरू होने से पहले ट्रंप ने कहा था कि मेरे खिलाफ महाभियोग की कोशिश अमेरिकी इतिहास में लोकतंत्र पर सबसे बड़ा हमला है. डेमोक्रेट जो बिडेन के सहयोगी मुझे पद से हटाने की कोशिश कर रहे हैं.

तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग
अमेरिका के लिए ये ऐतिहासिक पल है. 230 साल के इतिहास में ये तीसरा मौका है, जब राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पेश होने वाला है. सवाल उठ रहे हैं कि क्या सीनेट में डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हो पाएगा? हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव में विपक्षी डेमोक्रेट्स का बहुमत है, इसलिए दिसंबर में निचले सदन से डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पास हो गया. लेकिन सीनेट में राष्ट्रपति की पार्टी रिपब्लिकन को बहुमत हासिल है. ट्रंप की पार्टी को ही अब तय करना है कि क्या वो दोषी हैं और उन्हें अपने पद से हटा दिया जाना चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश जॉन रॉबर्ट्स ने सांसदों को निष्‍पक्षता की शपथ दिलाई.


डोनाल्‍ड ट्रंप के इस्‍तीफे की आशंका बहुत कम
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस्तीफा देने की नौबत आने की संभावना बहुत कम है. सीनेट में रिपब्लिकन को बहुमत हासिल है. सीनेट में 53 रिपब्लिकन और 47 डेमोक्रेट सीनेटर्स हैं. अमेरिकी संविधान के मुताबिक किसी भी राष्ट्रपति पर महाभियोग लगाकर उसे हटाने के लिए कम से कम तो तिहाई सीनेटर्स की सहमति जरूरी है. रिपब्लिकन सीनेटर अपने राष्ट्रपति के पक्ष में वोट करेंगे. ट्रंप अपनी जीत को लेकर आश्वस्त हैं. ता दें कि यूक्रेन के राष्ट्रपति को फोन कॉल कर डेमोक्रेट जो बिडेन और उनके बेटे पर जांच तेज करने के आरोप में अमेरिकी राष्ट्रपति पर महाभियोग लगाया गया है. ये प्रस्ताव हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव से पास हो चुका है और सीनेट में प्रक्रिया शुरू हो गई है. ट्रंप पर देश को धोखा देने और ऑफिस का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया है.

ये भी पढ़ें:

सीनेट के महाभियोग प्रस्ताव से क्या होगा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर असर

कौन था करीम लाला, जिससे इंदिरा गांधी के मिलने का दावा कर संजय राउत ने मचा दी है सनसनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 1:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर