CICA समिट में बोले एस जयशंकर- आतंकवाद एशिया में सबसे बड़ा खतरा

News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 6:40 PM IST
CICA समिट में बोले एस जयशंकर- आतंकवाद एशिया में सबसे बड़ा खतरा
एस जयशंकर ने कहा आतंकवाद एशिया में सबसे गंभीर खतरा (फाइल फोटो)

एशियाई बातचीत और विश्वास बहाली (सीआईसीए) के पांचवें सम्मेलन को संबोधित करते हुए जयशंकर ने कहा कि सीआईसीए के सदस्य देश आतंकवाद के पीड़ित हैं.

  • Share this:
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आतंकवाद को एशिया के लिए गंभीर खतरा बताया है. पांचवें सीआईसीए सम्मेलन के लिए शुक्रवार को ताजिकिस्तान पहुंचे जयशंकर ने कहा कि हमें आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि आतंकवादियों और उनकी हरकतों से पीड़ितों को एक ही नजर से नहीं देखा जाना चाहिए.

एशियाई बातचीत और विश्वास बहाली (सीआईसीए) के पांचवें सम्मेलन को संबोधित करते हुए एस जयशंकर ने कहा कि सीआईसीए के सदस्य देश आतंकवाद के पीड़ित हैं. उन्होंने कहा कि आतंकवाद सबसे गंभीर खतरा है जिसका हम एशिया में सामना कर रहे हैं. सीआईसीए सदस्य देश इसके पीड़ित हैं और इसलिए यह स्पष्ट होना चाहिए कि आतंकवादियों और उनकी हरकतों से पीड़ितों को एक ही नजर से नहीं देखा जाए.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में एससीओ शिखर सम्मेलन को शुक्रवार को संबोधित करते हुए आतंकवाद को प्रोत्साहन और सहायता देने वाले और धन मुहैया करने वाले देशों की आलोचना की थी. उन्होंने पाकिस्तान का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा था कि ऐसे देशों को जवाबदेह ठहराया जाए.

राष्ट्रपति इमोमाली रहमान ने किया स्वागत

सीआईसीए एक अखिल एशिया मंच है जो एशिया में सहयोग बढ़ाता है और शांति, सुरक्षा एवं स्थिरता को प्रोत्साहित करता है. सम्मेलन से पहले जयशंकर का ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमाली रहमान ने स्वागत किया.

सीआईसीए में हुई चर्चा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, “एक अहम मध्य एशियाई साझेदार. विदेश मंत्री एस जयशंकर का ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमाली रहमान ने सीआईसीए 2019 सम्मेलन के शुभारंभ पर स्वागत किया. सीआईसीए के नेता एशियाई महाद्वीप की चुनौतियों से निपटने की सामूहिक रणनीतियों पर चर्चा करेंगे.”
Loading...

भारत शुरुआत से ही सीआईसीए का सदस्य

इस सम्मेलन का विषय एक सुरक्षित और अधिक समृद्ध सीआईसीए क्षेत्र के लिए साझा दृष्टिकोण है. शिखर सम्मेलन में सीआईसीए के भीतर सहयोग के मुद्दों को सम्मिलित करने वाली घोषणा को अपनाया जाएगा. बता दें कि भारत सीआईसीए का शुरूआत से ही सदस्य रहा है.

FB लाइव के दौरान 'बिल्ली' बन गए पाकिस्तानी मंत्री, Social Media पर उड़ा मज़ाक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 15, 2019, 6:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...