इमरान का एक और झूठ बेनकाब, पूर्व CIA चीफ का दावा-पाक ने कभी नहीं दिया लादेन का सुराग

जनरल पेट्रियास ने कहा, आईएसआई समेत पाकिस्तान की किसी भी खुफिया एजेंसी ने लादेन के ठिकाने से जुड़ी कोई जानकारी हमें नहीं दी थी.

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 9:23 AM IST
इमरान का एक और झूठ बेनकाब, पूर्व CIA चीफ का दावा-पाक ने कभी नहीं दिया लादेन का सुराग
इमरान का एक और झूठ बेनकाब, पूर्व सीआईए चीफ का दावा-पाक ने कभी नहीं दिया लादने का सुराग
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 9:23 AM IST
अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के उस बयान को झूठा बताया है, जिसमें इमरान ने दावा किया था कि पाकिस्तान ने सीआईए को ओसामा बिन लादेन के बारे में जानकारी दी थी. सीआईए के पूर्व निदेशक जनरल पेट्रियास का ये बयान इसलिए काफी अहम है, क्योंकि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री अमेरिका को लगातार ये बताने की कोशिश कर रहे हैं कि उनका मुल्क आतंकियों को शह नहीं देता है.

न्यूयॉर्क स्थित भारतीय दूतावास के एक कार्यक्रम में जनरल पेट्रियास ने कहा, मैं पूरे दावे के साथ आप लोगों को बतना चाहता हूं कि आईएसआई समेत पाकिस्तान की किसी भी खुफिया एजेंसी ने लादेन के ठिकाने से जुड़ी कोई जानकारी हमें नहीं दी थी. गौरतलब है कि साल 2011 में जब लादेन मारा गया था उस वक्त जनरल पेट्रियास ने ही इस पूरे ऑपरेशन की कमान संभाली थी. उन्होंने दावा किया कि जिस समय अमेरिकी खुफिया एजेंसी इस हमले को अंजाम दे रही थी उस वक्त पाकिस्तानी फौज उत्तरी वजीरिस्तान में आतंकी ठिकानों के आपसपास भी नहीं पहुंच पाई थी.

America, Pakistan, Imran Khan, Donald Trump, Osama bin Laden

गौरतलब है कि पाकिस्तान की प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिकी टीवी चैनल फॉक्स न्यूज को एक इंटरव्यू में दावा किया था कि आईएसआई ने अमेरिकी अफसरों को ओसामा बिन लादेन के बारे में जानकारी दी थी. इसके बाद ही अमेरिकी कमांडो ने एबेटाबाद में अलकायदा के ठिकानों पर हमला किया और ओसामा बिन लादेन मारा गया. खास बात ये है कि पिछले आठ सालों से पाकिस्तान की सरकार, सेना और खुफिया एजेंसी यही दावा करते रहे हैं कि उन्हें लादेन से जुड़ी कोई भी जानकारी नहीं थी.

आतंकी ठिकानों को लेकर दे चुके हैं बड़ा बयान
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने स्वीकार किया है कि पाकिस्तान में लगभग 30 से 40 हजार 'सशस्त्र लोग' हैं जिन्हें अफगानिस्तान या कश्मीर के किसी हिस्से में प्रशिक्षण मिला है और जिन्होंने वहां लड़ाई लड़ी है. उन्होंने आरोप लगाया कि पिछली सरकारों ने देश में सक्रिय आतंकी समूहों के बारे में अमेरिका को सच नहीं बताया. भारत और अफगानिस्तान आरोप लगाते रहे हैं कि पाकिस्तान आतंकवादियों को अपने यहां पनाहगाह उपलबध कराता है जिनमें अफगान तालिबान, हक्कानी नेटवर्क, जैश ए मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा जैसे आतंकी समूह शामिल हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 8:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...