अर्जेंटीना में मिले 14 करोड़ साल पहले जिंदा रहे डायनासोर के जीवाश्‍म

वैज्ञानिकों को डायनोसोर के जीवाश्‍म मिले हैं. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

वैज्ञानिकों को डायनोसोर के जीवाश्‍म मिले हैं. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

डायनासोर (Dinosaurs) के इस जीवाश्‍म को अर्जेंटीना के नियोकेन शहर के दक्षिणी हिस्‍से में खोजा गया है. यह डायनासोर का अधूरा शारीरिक ढांचा है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. हजारों साल पहले पृथ्‍वी में जीवित रहे डायनासोर (Dinosaurs) के जीवाश्‍म (Fossils) दुनिया के अलग-अलग हिस्‍सों में वैज्ञानिकों की खोजों का हिस्‍सा रहे हैं. अब अर्जेंटीना में वैज्ञानिकों ने डायनासोर के जीवाश्‍म खोजे हैं. वैज्ञानिकों के मुताबिक यह जीवाश्‍म डायनासोर समूह के सबसे पुराने सदस्‍य टाइटानोसोर के हो सकते हैं. ये पृथ्‍वी के सबसे बड़े जानवरों में से एक थे.

वैज्ञानिकों ने जानकारी दी है कि अर्जेंटीना में पाए गए ये जीवाश्‍म 14 करोड़ साल पहले क्रेटेसियस पीरियड के समय जिंदा रही डायनासोर की प्रजाति निंजाटाइटन जापाताई के हैं. खोजकर्ताओं ने इन निंजाटाइटन डायनासोर को टाइटनोसोर के रूप में पहचाना है. यह चार पैरों पर चलने वाले लंबी गर्दन वाले डायनोसोर की प्रजाति थी. यह पेड़-पौधे खाते थे.

डायनासोर के इस जीवाश्‍म को अर्जेंटीना के नियोकेन शहर के दक्षिणी हिस्‍से में खोजा गया है. यह डायनासोर का अधूरा शारीरिक ढांचा है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स से इस खोज के प्रमुख शोधकर्ता और नेशनल काउंसिल फॉर साइंटिफिक एंड टेक्निकल रिसर्च ऑफ अर्जेंटीना के वैज्ञानिक पाब्‍लो गेलिना ने कहा है कि यह दुनिया भर में अब तक खोजा गया सबसे पुराना टाइटनोसोर का जीवाश्‍म है. उन्‍होंने कहा कि टाइटनोसोर के जीवाश्‍म को दुनिया के विभिन्‍न हिस्‍सों में खोजा गया है.

जानकारी दी गई है कि लगभग 20 मीटर की लंबाई वाला निंजाटाइटन डायनासोर बेहद बड़ा था. लेकिन अर्जेंटीनोसॉरस जैसे टाइटनोसोर से बेहद छोटा था, जिसकी लंबाई 35 मीटर के करीब होती थी. शोधकर्ताओं ने यह भी कहा कि पेटागोनिया में इस तरह के शुरुआती टाइटनोसोर की मौजूदगी इस विचार का समर्थन करती है कि टाइटनोसोर दक्षिणी गोलार्ध में उत्पन्न हुए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज