इराक में अमेरिकी एयरबेस पर अब रॉकेटों से हमला, 4 इराकी सैनिक घायल

इराक में अमेरिकी एयरबेस पर अब रॉकेटों से हमला, 4 इराकी सैनिक घायल
अमेरिका (America) और ईरान (Iran) के बीच बढ़े तनाव के मद्देनजर अल-बलाद एयरबेस पर तैनात ज्यादातर अमेरिकी पायलट पहले ही वहां से जा चुके हैं.

कुछ ही दिन पहले इराक (Iraq) के निवर्तमान प्रधानमंत्री अदेल अब्देल महदी ने कहा था कि अमेरिका के पास अपने सैनिकों को वापस बुलाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2020, 7:44 AM IST
  • Share this:
समारा. बगदाद से उत्तर में स्थित इराक (Iraq) के एक एयरबेस पर चार रॉकेटों से हुए हमले में चार इराकी पायलट घायल हुए हैं. सैन्य सूत्रों ने हमले की जबकि सुरक्षा बलों ने पायलटों के घायल होने की बात कही है. उन्होंने बताया कि पिछले दो सप्ताह में अमेरिका (America) और ईरान (Iran) के बीच बढ़े तनाव के मद्देनजर अल-बलाद एयरबेस पर तैनात ज्यादातर अमेरिकी पायलट पहले ही वहां से जा चुके हैं.

अमेरिकी सेना को वापस बुलाने के ऐलान बाद हुआ हमला
यह हमला इराक के निवर्तमान प्रधानमंत्री अदेल अब्देल महदी के संयुक्त राज्य अमेरिका को बगदाद में एक प्रतिनिधिमंडल भेजकर अपनी सेना को वापस बुलाने की घोषणा के तीन दिन बाद हुआ है. महदी ने कहा था कि अमेरिका के पास अपने सैनिकों को वापस बुलाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है. महदी ने नवंबर में सरकार विरोधी प्रदर्शनों के बाद इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने कहा कि इराक चाहता है कि अमेरिका यहां से अपने सैनिकों को हटा ले ताकि आगे स्थिति खराब न हो क्योंकि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव काफी बढ़ चुका है.

America, Iraq, Iran, Ukraine plane, Ukraine,अमेरिका, ईराक , ईरान, यूक्रेन का विमान,यूक्रेन
यूक्रेन के विमान का मलबा (AP Photo/Ebrahim Noroozi)

अमेरिका ने ईरानी जनरल को मारा था


अमेरिका के एक हवाई हमले में ईरान के एक शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के कुछ दिनों के बाद उनकी यह टिप्पणी आई थी. बगदाद में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचने के कुछ देर के बाद जनरल को निशाना बनाया गया था. इस हमले में ईरान समर्थित मिलिशिया के एक इराकी कमांडर अबु महदी-अल मुहंदिस की भी मौत हो गई थी.

अमेरिकी एयरबेस पर बढ़े हमले
हाल के महीनों में अमेरिकी सैनिकों की तैनाती वाले शिविरों पर रॉकेटों और मोर्टार से लगातार हमले हो रहे हैं. हालांकि इन हमलों में ज्यादातर इराकी सैनिक ही घायल होते हैं, लेकिन पिछले महीने एक अमेरिकी ठेकेदार भी मारा गया था.

जनरल सुलेमानी के मारे जाने के बाद अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ा है. ईरान ने जवाबी कार्रवाई में गफलत करते हुए यूक्रेन के एक पैसेंजर विमान को गिरा दिया था. साथ ही उसने अमेरिका से परमाणु संधि को खत्‍म करने का ऐलान भी कर दिया था. सुलेमानी की मौत के बाद से ईरान ने इराक में अमेरिकी सैन्‍य ठिकानों को निशाना बनाया है.

ईरान की मिसाइलों के हमले से आखिर कैसे बच गए अमेरिकी सैनिक?

ट्रंप ने ईरान को चेताया- अपने प्रदर्शनकारियों को मत मारो, अमेरिका देख रहा है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज