लाइव टीवी

फ्रांस, जर्मनी ने तुर्की को हथियार निर्यात पर रोक लगाई

भाषा
Updated: October 13, 2019, 10:42 AM IST
फ्रांस, जर्मनी ने तुर्की को हथियार निर्यात पर रोक लगाई
फ्रांस और जर्मनी ने तुर्की को किए जाने वाले हथियारों के निर्यात पर रोक लगा दी

फ्रांस और जर्मनी ने सीरिया (Syria) में कुर्द लड़ाकों के खिलाफ तुर्की के हमलों की निंदा करते हुए उसे निर्यात किये जाने वाले हथियारों पर रोक लगा दी है.

  • Share this:
पेरिस. सीरिया (Syria) में कुर्द लड़ाकों के खिलाफ तुर्की के हमले को लेकर फ्रांस (France) और जर्मनी (Germany) ने तुर्की को किए जाने वाले हथियारों के निर्यात पर शनिवार को रोक लगा दी. यूरोप के कई शहरों (European cities) में रैलियां कर प्रदर्शनकारियों ने तुर्की की निंदा की है. तुर्की के सैनिकों ने कुर्द लड़ाकों के खिलाफ बुधवार को सीमा पार से हमले करने शुरू कर दिए थे. तुर्की इन लड़ाकों को आतंकवादियों की तरह देखता है.

रक्षा एवं विदेश मंत्रालयों की ओर से जारी संयुक्त बयान में फ्रांस ने कहा कि उसने तुर्की को हथियार सामग्रियों के निर्यात पर रोक लगा दी है. यह रोक इस आशंका के बीच लगाई गई है कि इन हथियारों का प्रयोग सीरिया पर किए जा रहे हमलों में किया जा सकता था. जर्मनी के उस बयान के बाद फ्रांस ने बयान जारी किया कि उसने हथियार निर्यात पर रोक लगा दी है. जर्मनी तुर्की का मुख्य हथियार आपूर्तिकर्ता है.

जर्मनी तुर्की द्वारा सीरिया में इस्तेमाल किए जा सकने वाले किसी भी सैन्य उपकरण के लिए कोई नया परमिट जारी नहीं करेगा, विदेश मंत्री हेइको मास ने एक अखबार के रविवार के संस्करण में यह बात कही.

कई देशों ने तुर्की के हमले की निंदा की है और फिनलैंड, नॉर्वे और नीदरलैंड पहले ही तुर्की को हथियार निर्यात पर रोक लगाने की घोषणा कर चुका है. सीरिया में तुर्की की सेना के घुसने की अरब देश आलोचना कर रहे हैं. ईरान ने भी हमले की आलोचना की है. तुर्की के हमले ने ऐसी स्थिति पैदा कर दी है जिससे पूरे मध्यपूर्व में शक्ति संतुलन बिगड़ सकता है. मिस्र और सऊदी अरब ने इन हमलों की कड़ी आलोचना की है.

आपको बता दें कि सीरिया से अमेरिकी सेना के हटते ही तुर्की लगातार सीरिया में हमला कर रहा है और कुर्दिश लड़ाकों को निशाना बना रहा है. गौरतलब है कि बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीरिया से अमेरिकी सेना को वापस बुलाने का ऐलान किया था. जैसे ही सीरिया के कुछ क्षेत्रों से अमेरिकी सेना वापस आने लगी और तुरंत सीरिया की सेना ने वहां मौजूद कुर्दिश के लड़ाकों पर हमला बोलना शुरू कर दिया.

ये भी पढ़ें : तुर्की समर्थक विद्रोहियों ने सीरिया में 9 लोगों को मौत के घाट उतारा : संस्था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 10:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...