अपना शहर चुनें

States

फ्रांस में क्रिसमस मनाने पर मुस्लिम युवक की इस्लामिक कट्टरपंथियों ने जमकर पिटाई की

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

Muslim Youth Beaten Up by Islamic Fundamentalist: फ्रांस के बेलफोर्ट में एक मुस्लिम पुलिसकर्मी के बेटे के परिवार के साथ क्रिसमस पार्टी (Christmas Party) करने पर उसके कट्टरपंथी दोस्‍त (Fundamentalist Friend) भड़क गए. इसके बाद पांच कट्टरपंथी दोस्तों ने मिलकर उसे पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. यह बताया जा रहा है कि उसे इसलिए भी पीटा गया क्योंकि उसकी मां मुस्लिम है और उसके सौतेले पिता मुस्लिम नहीं हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2020, 12:57 PM IST
  • Share this:
पेरिस. फ्रांस में मोहम्मद पैगंबर कार्टून विवाद (Mohhammad Prophet Cartoon Dispute) के बाद से सांप्रदायिक हिंसा (Communal Violence) की घटनाओं में तेजी आई है. फ्रांस के बेलफोर्ट में एक अजीबोगरीब घटना घटी. डेली मेल की खबर के अनुसार एक मुस्लिम पुलिसकर्मी के बेटे के परिवार के साथ क्रिसमस पार्टी करने पर उसके कट्टरपंथी दोस्‍त (Fundamentalist Friends) भड़क गए. पांच कट्टरपंथी दोस्तों ने मिलकर उसे पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. यह बताया जा रहा है कि उसे इसलिए भी पीटा गया क्योंकि उसकी मां मुस्लिम है और उसके सौतेले पिता मुस्लिम नहीं हैं. मां-पिता दोनों ही पुलिस सेवा में कार्यरत हैं.

युवक ने क्रिस​मस पार्टी की तस्वीर स्नैपचैट पर डाली

फ्रांस के गृहमंत्री गेराल्‍ड डारमनिन ने इस घटना की जानकारी देते हुए कहा कि युवक ने क्रिसमस पार्टी मनाने की तस्‍वीर स्‍नैपचैट पर डाली. इसके बाद उसके दोस्‍तों में शामिल एक व्‍यक्ति ने वहां आपत्तिजनक कमेंट करना शुरू कर दिया- 'गोरे व्‍यक्ति का गंदा बेटा', 'सांप का बेटा' और 'पुलिस अधिकारियों का बेटा'. कमेंट करने वाला व्यक्ति पीड़ित को बहुत सालों से जानता था और उसने कथित रूप से धमकी दी कि 'असली अरब लोग कैसे होते हैं, वह उसे बताएगा.'



पांच लोगों ने पीड़ित युवक को बुरी तरह पीटा
कमेंट करने वाले वयक्ति ने पीड़ित व्यक्ति को एक कार पार्किंग के बाहर मिलने को कहा. उसके वहां पहुंचते ही 5 लोगों ने मिलकर उसकी धुनाई करनी शुरू कर दी. इस जानलेवा हमले के दौरान पीड़‍ित का मुंह फट गया और उसके पूरे शरीर पर खून फैल गया. पांचों ने मिलकर उसे बुरी तरह जख्मी कर दिया. पुलिस ने इस संबंध में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं मुख्‍य आरोपी का पुलिस से कहना है कि मुसलमानों को क्रिसमस नहीं मनाना चाहिए और उसे पीड़‍ित के खाने की फोटो ने आश्‍चर्य में डाल दिया.

ये भी पढ़ें: सऊदी अरब की महिला अधिकार कार्यकर्ता को करीब छह साल जेल की सजा सुनाई गई


पाकिस्तान: सालाना 1,000 अल्पसंख्यक लड़कियों से जबरन कबूल कराया जाता है इस्लाम धर्म

फ्रांसीसी मंत्री ने इस हमले को नस्‍लीय करार दिया है और दावा किया कि यह कट्टरपंथी अलगाववाद का उदाहरण है जो फ्रांसीसी मूल्‍यों को कमजोर कर रहा है. इससे पहले फ्रांस की सरकार ने इस्‍लामिक कट्टरवाद का सामना करने के लिए एक नया कानून बनाया था. इसके तहत लिंग के आधार पर स्‍वीमिंग पूल में अलगाव को प्रतिबंधित कर दिया गया और सभी बच्‍चों को 3 साल की उम्र से स्‍कूल में नामांकण कराने को अन‍िवार्य कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज